NDTV Khabar

आतंकवाद और खेल साथ-साथ नहीं चल सकते, पाकिस्‍तान के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज संभव नहीं : सरकार

केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल ने जोर देकर कहा है कि आतंकवाद और खेल एक साथ नहीं हो सकते हैं.

12 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
आतंकवाद और खेल साथ-साथ नहीं चल सकते, पाकिस्‍तान के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज संभव नहीं : सरकार

खेल मंत्री ने साफ कहा कि आतंकवाद और खेल साथ-साथ नहीं चल सकते (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. खेल मंत्री ने कहा-पाक के साथ मौजूदा समय में खेल संभव नहीं
  2. सीमा पार से लगातार दिया जा रहा है आतंकवाद को समर्थन
  3. पिछली बार 2012 में हुई थी दोनों देशों के बीच सीरीज
नई दिल्‍ली: केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल ने सोमवार को भारत तथा पाकिस्तान की क्रिकेट टीमों के बीच किसी भी सीरीज की संभावना को नकार दिया. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के शीर्ष अधिकारी दुबई में दोनों देशों के बीच क्रिकेट रिश्तों की बहाली की संभावनाओं पर चर्चा के लिए बैठक करने वाले हैं. खेल मंत्री ने साफ कर दिया है कि जब तक पाकिस्तान सीमा पार आतंकवाद को बढ़ावा देना बंद नहीं कर देता तब तक भारत सरकार द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज को फिर से शुरू करने की अनुमति नहीं देगी.

संवाददाताओं को दिए एक बयान में सोमवार को गोयल ने कहा, "बीसीसीआई को सरकार से सलाह के बाद ही इस संबंध में कोई सुझाव या प्रस्ताव पेश करना चाहिए." गोयल ने कहा, "जब तक पाकिस्तान आतंकवाद को बढ़ावा देता रहेगा, तब तक दोनों देशों के बीच कोई भी सीरीज संभव नहीं हो पाएगी. खेल और आतंकवाद एक साथ कभी नहीं चल सकते." भारत और पाकिस्तान की टीमें हालांकि, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक-दूसरे के साथ खेलना जारी रखेंगी।

एक जून से शुरू हो रहे चैंपियंसट्रॉफी टूर्नामेंट में भारत और उसके चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान का सामना चार जून को बर्मिघम में होगा. गोयल ने कहा, "जहां तक विभिन्न टूर्नामेंटों की बात है, हमारा उन पर कोई नियंत्रण नहीं है। इसलिए, दोनों देश इन टूर्नामेंटों में एक-दूसरे के साथ खेलना जारी रखेंगे." पिछली बार पाकिस्तान और भारत के बीच दिसंबर, 2012 में द्विपक्षीय सीरीज का आयोजन हुआ था. इस सीरीज के लिए पाकिस्तान की टीम भारत आई थी और दोनों टीमों के बीच तीन वनडे सीरीज और दो टी-20 सीरीज खेली गईं थी.

भारत ने 2007 के बाद से पाकिस्तान के साथ पूर्ण रूप से कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली है. इस साल पाकिस्तान की टीम ने भारत दौरे के दौरान पांच वनडे और टेस्ट मैच खेला था. हालांकि, राजनीतिक संबंधों में खटास और सीमा पर हुए हमलों के कारण दोनों देशों के बीच किसी भी द्विपक्षीय सीरीज पर रोक लग गई. 

हाल ही में बीसीसीआई ने भी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से आग्रह किया था कि वह चैंपियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट में पाकिस्तान को उसके साथ एक पूल में न शामिल करे. भारत और पाकिस्तान ने छह द्विपक्षीय सीरीज के आयोजन के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए थे. इस सीरीज की शुरुआत 2015 से होनी थी. आईसीसी के फ्यूचर टूर्स प्रोग्राम के अनुसार, भारतीय टीम को इस साल के अंत में पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलनी है. पिछली बार पाकिस्तान और भारत के बीच दिसम्बर, 2012 में द्विपक्षीय सीरीज का आयोजन हुआ था. इस सीरीज के लिए पाकिस्तान की टीम भारत आई थी और दोनों टीमों के बीच तीन वनडे सीरीज और दो टी-20 सीरीज खेली गईं थी. (एजेंसी से इनपुट)

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement