इस वजह से हनुमा विहारी ने दिवंगत पिता को समर्पित किया पहला टेस्ट शतक

इस वजह से हनुमा विहारी ने दिवंगत पिता को समर्पित किया पहला टेस्ट शतक

वेस्टइंडीज के खिलाफ पहला टेस्ट शतक लगाया हनुमा विहारी ने

खास बातें

  • विंडीज के खिलाफ 111 रनों की शानदार शतकीय पारी खेली विहारी ने
  • अपना पहला टेस्ट शतक पिता को किया समर्पित
  • भारतीय टीम 416 रन बनाकर रन आउट हो गई है
जमैका:

WI vs IND: वेस्टइंडीज (West Indies Cricket team) के खिलाफ यहां दूसरे टेस्ट मैच में शानदार प्रदर्शन करने वाले हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) ने टेस्ट करियर का पहला शतक अपने दिवंगत पिता को समर्पित किया. विहारी ने मैच में 111 रन बनाए और तेज गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) के साथ 112 रनों की साझेदारी भी की. भारत (India Cricket team) ने पहली पारी में 416 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया. दिन समाप्त होने के बाद विहारी ने कहा, 'जब मैं 12 साल का था तभी मेरे पिता का देहांत हो गया था और तब से मैंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने का निर्णय लिया. मैं अपना पहला शतक उन्हें समर्पित करना चाहता हूं.'

टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेकर इतिहास रचने वाले तीसरे भारतीय गेंदबाज बने जसप्रीत बुमराह

हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) ने कहा, 'आज बहुत ही भावुक दिन है ओर मुझे उम्मीद है कि वह जहां भी होंगे उन्हें मुझ पर गर्व होगा.'

WI vs IND 2nd Test Day 2: बुमराह की गेंदबाजी ने वेस्टइंडीज को बैकफुट पर किया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने माना कि वह पहले दिन का खेल समाप्त होने के बाद ठीक से नींद नहीं ले पाए थे. विहारी ने कहा, 'मैं कल 42 रन पर बल्लेबाजी कर रहा था, तो मुझे रात में बहुत अच्छी नींद नहीं आई. मैं एक बड़ा स्कोर बनाना चाह रहा था और मुझे खुशी है कि मैंने उस 100 के आंकड़े को पार कर लिया. मैं उन परिस्थितियों में शतक जड़कर बहुत खुश हूं.'

वीडियो: वीरेंद्र सहवाग से एनडीटीवी की खास बातचीत..



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)