Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हरभजन सिंह बोले-ऑफ स्पिनर अक्षर बाखरे को टीम इंडिया में मिेले जगह, बताई उसकी खूबी..

हरभजन ने कहा, 'अक्षय बेहद प्रतिभावान ऑफ स्पिनर है. उसकी गेंद पिच होने के बाद काफी स्पिन होती है. खास बात यह है कि आदर्श ऑफ स्पिनर की तरह वह गेंद को फ्लाइट कराता है और गेंदों में वेरिएशंस को आजमाता है.

हरभजन सिंह बोले-ऑफ स्पिनर अक्षर बाखरे को टीम इंडिया में मिेले जगह, बताई उसकी खूबी..

Harbhajan Singh को देश के बेहतरीन ऑफ स्पिनरों में शुमार किया जाता है

खास बातें

  • वाखरे और जलज सक्‍सेना को मिलना चाहिए मौका
  • अक्षय वाखरे की गेंदें काफी स्‍प‍िन होती हैं
  • उसका ध्‍यान हमेशा विकेट हासिल करने पर रहता है

रविचंद्रन अश्विन के प्रदर्शन में आई गिरावट के बीच भारतीय टीम में नए ऑफ स्‍प‍िनर को आजमाने की मांग धीरे-धीरे जोर पकड़ रही है. अश्विन को हाल ही में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ उसके ही देश में हुई टेस्‍ट सीरीज के एक मैच में खेलने का मौका मिला था, लेकिन इसमें वे अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके. एशिया महाद्वीप के बाहर अश्विन लगातार अच्‍छा प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं, इसके साथ ही उनकी बढ़ती उम्र के कारण भी नए ऑफ स्‍प‍िनर को आजमाने की बात उठ रही है. भारत के अनुभवी ऑफ स्‍प‍िनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने विदर्भ के 34 वर्ष के अक्षय वाखरे (Akshay Wakhare) और केरल के हरफनमौला जलज सक्‍सेना (Jalaj Saxena) को भारतीय टीम में ऑफ स्पिनर के तौर पर आजमाने की पैरवी की है. दूसरी ओर, जलज सक्‍सेना मूल रूप से मध्‍यप्रदेश के हैं लेकिन बेहतर अवसरों की तलाश में वे इस घरेलू क्रिकेट में केरल ही ओर से खेलते हैं.

इस समय भारतीय टीम से बाहर चल रहे हरभजन (Harbhajan Singh) ने पीटीआई से बातचीत में कहा, '34 साल के अक्षय और 33 साल के जलज ने घरेलू क्रिकेट में साल दर साल अच्‍छा प्रदर्शन किया है. मैंने अक्षय बाखरे को मुंबई इंडियंस के नेट पर बॉलिंग करते हुए गहराई से देखा है. मेरा मानना है कि आयु केवल एक नंबर हैं, ऐसे में इन दोनों को राष्‍ट्रीय टीम में आजमाया जा सकता है.' वर्ष 2017-18 में जब विदर्भ की टीम चैंपियन बनी थी तो हरभजन ने खासतौर पर प्रदर्शन करके अक्षय वाखरे को बधाई दी थी. 

अक्षय वाखरे (Akshay Wakhare) की गेंदबाजी को लेकर हरभजन ने कहा, 'वह बेहद प्रतिभावान ऑफ स्पिनर है. उसकी गेंद पिच होने के बाद काफी स्पिन होती है. खास बात यह है कि आदर्श ऑफ स्पिनर की तरह वह गेंद को फ्लाइट कराता है और गेंदों में वेरिएशंस को आजमाता है. अक्षय की खेल को लेकर अच्‍छी समझ है, वह इस बात को जानता है कि बाएं और दाएं हाथ के बल्‍लेबाजों को किस तरह से बॉलिंग करनी है. उसका ध्‍यान विकेट हासिल करने पर रहता है और वे इसके लिए लगातार कोशिश करता हूं.'  (इनपुट: पीटीआई)

वीडियो: करियर को लेकर विराट कोहली का बड़ा बयान