NDTV Khabar

कपिल के संन्‍यास लेने के बाद हमें हार्दिक पंड्या के रूप में आदर्श ऑलराउंडर मिला : लालचंद राजपूत

टीम इंडिया के कोच पद के दावेदार रहे लालचंद राजपूत ने कहा है कि महान हरफनमौला कपिल देव के संन्यास लेने के बाद राष्ट्रीय टीम को हार्दिक पंड्या के रूप में ‘आदर्श ऑलराउंडर’ मिला है.

78 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कपिल के संन्‍यास लेने के बाद हमें हार्दिक पंड्या के रूप में आदर्श ऑलराउंडर मिला : लालचंद राजपूत

हार्दिक पंड्या ने वनडे क्रिकेट में तीन बार लगातार तीन गेंदों पर छक्‍के लगाए हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कहा- टेस्‍ट मैच का परिणाम भी बदल सकते हैं पंड्या
  2. इस बार कोच पद के दावेदारों में शामिल थे लालचंद राजपूत
  3. टी20 वर्ल्‍डकप जीतने वाली भारतीय टीम के वे मैनेजर थे
मुंबई: टीम इंडिया के कोच पद के दावेदार रहे लालचंद राजपूत ने हार्दिक पंड्या की जमकर प्रशंसा की है. राजपूत ने कहा कि महान हरफनमौला कपिल देव के संन्यास लेने के बाद राष्ट्रीय टीम को हार्दिक पंड्या के रूप में ‘आदर्श ऑलराउंडर’ मिला है. गौरतलब है कि अनिल कुंबले के कोच पद से इस्‍तीफा देने के बाद लालचंद राजपूत टीम इंडिया के कोच पद की दावेदारी में थे. सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्‍मण की तीन सदस्‍यीय सलाहकार समिति ने उनका इंटरव्‍यू भी लिया था.  2007 में महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्‍व में टी-20 वर्ल्डकप जीतने वाली टीम इंडिया के राजपूत मैनेजर थे.राजपूत ने कहा, ‘पंड्या असाधारण क्रिकेटर है. मैंने उनकी प्रतिभा को राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के दिनों से देखा है. वह मेरे साथ क्षेत्रीय शिविर (जेडसीए) में भी थे. उनमें प्रतिभा की कोई कमी नहीं. कपिल के बाद वह टीम को मिले आदर्श हरफनमौला खिलाड़ी हैं.’

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले मैच में भारत को जीतने में पंड्या ने गेंद और बल्ले दोनों से अहम योगदान दिया था. उन्होंने कहा, ‘पंड्या की बल्लेबाजी अच्छी है, वह सभी प्रारूपों में खेल सकते हैं. पहले लोगों को लगता था कि वह सिर्फ टी-20 और वनडे में ही खेल सकते हैं लेकिन वह टेस्ट मैचों में भी अपने दम पर खेल का पलट सकते हैं. उन्होंने चेन्नई वनडे मैच को ऑस्ट्रेलिया से छीन लिया.’

यह भी पढ़ें : पंड्या चेन्‍नई वनडे में शानदार प्रदर्शन के बावजूद इस कारण किए गए ट्रोल

लालचंद  राजपूत ने कहा, ‘पंड्या गेंद को सीमा रेखा से पार भेज सकते हैं. अच्छे बल्लेबाज की यह पहचान है. उनकी गेंदबाजी भी अच्छी है और वह कमाल के क्षेत्ररक्षक भी हैं. उनमें अगला कपिल देव बनने के गुण है. लेकिन फिर भी उन्हें कपिल के स्तर का होने के लिये खुद को बार-बार साबित करना होगा. वह ऐसे हरफनमौला हैं जिसकी लंबे समय से टीम को जरूरत थी.’राजपूत ने क्षेत्रीय शिविर में पंड्या के साथ अपने अनुभव को साझा करते हुए कहा कि वह गेंद को मारना पसंद करते हैं और इस कड़ी में आउट भी होते थे लेकिन अब वह परिपक्व हो गये हैं.

वीडियो: पंड्या और धोनी ने दिलाई भारतीय टीम को जीत
उन्होंने कहा, ‘मैं उसे हमेशा कहता था कि सही शॉट का चुनाव उन्हें अच्छा बल्लेबाज बनायेगा. वह जितना ज्यादा खेलेंगे उतना ज्याद परिपक्व और निचले क्रम के भरोसेमंद बल्लेबाज बनेंगे. भारतीय टीम का प्रतिनिधित्‍व कर चुके मुंबई के 55 वर्षीय इस पूर्व खिलाड़ी ने मौजूदा सीरीज के बारे में कहा कि भारतीय टीम लय में है क्‍यों‍कि उसने पहला मैच जीत लिया. उन्होंने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया को हराना मुश्किल होता है लेकिन भारतीय टीम लय में है. हमारी टीम उच्च श्रेणी की क्रिकेट खेल रही है और अब हमें हराना मुश्किल है.’ सुरक्षा कारणों से बतौर कोच अफगानिस्तान टीम का साथ छोड़ने वाले राजपूत रणजी सीरीज शुरू होने से पहले असम टीम के कोच बने हैं. (इनपुट: भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement