महिला वर्ल्‍डकप : हरमनप्रीत कौर के 'धमाके' के बाद उनकी मां ने दिया यह कड़ा संदेश

हरमनप्रीत की मां ने बेटी की इस पारी के बाद दुनिया खासतौर पर भारत जैसे विकासशील देश के लोगों को सख्‍त संदेश दिया है.

महिला वर्ल्‍डकप : हरमनप्रीत कौर के 'धमाके' के बाद उनकी मां ने दिया यह कड़ा संदेश

हरमनप्रीत की नाबाद 171 रन की पारी में 20 चौके और सात छक्‍के शामिल थे

खास बातें

  • मां ने कहा, बेटियों की भ्रूण हत्‍या नहीं की जानी चाहिए
  • उनका सशक्‍तीकरण किए जाने की है जरूरत
  • पिता चाहते हैं, देश के लिए वर्ल्‍डकप जीते हरमनप्रीत

भारतीय महिला टीम की धमाकेदार बल्‍लेबाज हरमनप्रीत ने गुरुवार को धमाकेदार पारी खेलकर हर किसी का दिल जीत लिया. उनकी नाबाद 171 रन पारी की बदौलत भारतीय टीम ने छह बार की चैंपियन ऑस्‍ट्रेलिया को सेमीफाइनल मुकाबले में 36 रन से हराकर शान के साथ महिला क्रिकेट वर्ल्‍डकप 2017 के फाइनल में प्रवेश कर लिया, जहां टीम का मुकाबला मेजबान इंग्‍लैंड से होगा. हरमनप्रीत की मां को अपनी बेटी की इस पारी पर नाज है. उन्‍होंने बेटी की इस पारी के बाद दुनिया खासतौर पर भारत जैसे विकासशील देश के लोगों को सख्‍त संदेश दिया है. न्‍यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए उन्‍होंने कहा, 'लड़कियों का सशक्‍तीकरण किया जाना चाहिए. उनकी भ्रूण हत्‍या नहीं की जानी चाहिए.' उन्‍होंने कहा कि जिस तरह मेरी बेटी ने अपने प्रदर्शन से देश को गौरवान्वित किया है, उसके बाद दूसरी लड़कियों को भी प्रोत्‍साहित किया जाना चाहिए.

यह भी पढ़ें
हरमनप्रीत कौर का तूफानी शतक, ऑस्‍ट्रेलिया को हराकर फाइनल में पहुंचा भारत
धमाकेदार पारी से ऑस्‍ट्रेलिया को धोने वाली हरमनप्रीत का जानिए सहवाग कनेक्‍शन

पंजाब की इस बल्‍लेबाज के पिता हरमिंदर सिंह ने कहा कि हम चाहते हैं कि वह आगे भी इस तरह का प्रदर्शन जारी रखे और वर्ल्‍डकप जीतकर पूरे देश को नायाब तोहफा दे. हरमनप्रीत की रिकॉर्डों से भरी पारी के बाद उनके गांव पंजाब के मोंगा में जश्‍न का माहौल है. हर कोई इस प्रदर्शन के लिए उनके परिवार को बधाई दे रहा है. पड़ोस के युवा पंजाबी ढोल की थाप पर भांगड़ा करते हुए नजर आए जबकि परिवार ने इस मौके पर मिठाई बांटी.

98 के स्कोर पर हरमनप्रीत कौर को आया था जबरदस्त गुस्सा, जानें क्या हुआ था

उनकी बहन ने कहा, बचपन से ही हरमनप्रीत लड़कों के साथ क्रिकेट खेलती थी. रनों के लिए उसकी भूख कभी खत्‍म नहीं होती और यह बात उसके जबर्दस्‍त स्‍ट्राइक रेट से समझी जा सकती है. उन्‍होंने कहा, हमेशा सकारात्‍मक रुख अपनाना हरमन की खासियत है. मैदान पर उसका व्‍यवहार विराट कोहली की तरह आक्रामक होता है. इसके उलट मैदान के बाहर बेहद शांत रहती है.

वीडियो: ऑस्‍ट्रेलिया को हराकर फाइनल में पहुंची भारतीय टीम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अपने शुरुआती दिनों से ही हरमनप्रीत टीम इंडिया के धमाकेदार बल्‍लेबाज वीरेंद्र सहवाग को आदर्श मानती थी और उन्‍हीं के अंदाज में बैटिंग करना चाहती थी. गौरतलब है कि टीम इंडिया की उपकप्‍तान हरमनप्रीत ने गुरुवार को 115 गेंदों पर ताबड़तोड़ 171 रन की पारी खेली. उनकी जोरदार बल्‍लेबाजी के आगे ऑस्‍ट्रेलियाई टीम की गेंदबाज असहाय नजर आईं. मैच में भारतीय टीम ने ऑस्‍ट्रेलिया को पूरी तरह दबाव में रखा और जीत हासिल करते हुए फाइनल का टिकट कटाया.