NDTV Khabar

...कहीं इसलिए खत्म तो नहीं हो गया युवराज सिंह व सुरेश रैना का अंतरराष्ट्रीय करियर?

दक्षिण अफ्रीका दौरे में खेले जाने वाले छह वनडे मैचों की सीरीज के लिए शनिवार को भारतीय क्रिकेट टीम का ऐलान हुआ. करोड़ों भारतीय क्रिकेट प्रशंसक उम्मीद कर रहे थे कि सेलेक्टर्स आतिशी युवराज सिंह या सुरेश रैना में से किसी एक को जरूर टीम में जगह देंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
...कहीं इसलिए खत्म तो नहीं हो गया युवराज सिंह व सुरेश रैना का अंतरराष्ट्रीय करियर?

खास बातें

  1. इसलिए नहीं मिली दोनों को वनडे टीम में जगह
  2. युवराज ने 'ऐसे' खुद किया अपना नुकसान
  3. सुरेश रैना का पांच रणजी मैचों में करीब 12 का औसत
नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका दौरे में खेले जाने वाले छह वनडे मैचों की सीरीज के लिए शनिवार को भारतीय क्रिकेट टीम का ऐलान हुआ. करोड़ों भारतीय क्रिकेट प्रशंसक उम्मीद कर रहे थे कि सेलेक्टर्स आतिशी युवराज सिंह या सुरेश रैना में से किसी एक को जरूर टीम में जगह देंगे. लेकिन टीम का ऐलान होने के बाद दोनों के ही प्रशंसकों मायूस हो गए हैं. वहीं इनके चाहने वालों ने सोशल मीडिया में अपने ही अंदाज में गुस्सा निकाला. बहरहाल इस टीम इंडिया और सेलेक्टरों के तर्कों के बाद अब चर्चा होने लगी है कि कहीं इन दोनों का अंतरराष्ट्रीय करियर खत्म तो नहीं हो गया है. 
 
ये दोनों ही खिलाड़ी टीम इंडिया में वापसी के लिए बहुत ही बेचैन थे. ये दोनों ही बहुत ही मुश्किल 'यो-यो फिटनेस टेस्ट' में फेल हो गए थे. बाद में इन दोनों ने ही अपनी फिटनेस पर बहुत ही कड़ी मेहनत की. दोनों ने ही यो-यो टेस्ट पास भी कर लिया, लेकिन सेलेक्टरों ने युवराज और सुरेश रैना दोनों को ही टीम में जगह नहीं दी. चीफ सेलेक्टर्स एमएसके प्रसाद ने कहा कि युवराज सिंह ने पिछले दिनों रणजी ट्रॉफी में हिस्सा नहीं लिया, तो रैना का प्रदर्शन प्रदर्शन घरेलू क्रिकेट में उम्मीद के अनुसार नहीं रहा.

यह भी पढ़ें : ...इसलिए महेंद्र सिंह धोनी के 'किसी उत्तराधिकारी' को नहीं मिला दक्षिण अफ्रीका दौरे का टिकट

वर्तमान हालात देखें, तो वर्तमान रणजी ट्रॉफी सेशन करीब-करीब खत्म हो चुका है. अब घरेलू क्रिकेट के लिए इन दोनों को अगले साल का इंतजार करना होगा. लेकिन एमएसके प्रसाद ने कह दिया है कि अगले साल इंग्लैंड दौरे तक (इसमें पांच वनडे होंगे) साल 2019 विश्व कप टीम को करीब-करीब तैयार कर लिया जाएगा.
 
इसी बीच दोनों के पास ही अपनी फॉर्म साबित करने का मौका  सिर्फ आईपीएल में ही मिलेगा. वहीं, अगर वर्तमान में टीम इंडिया में शामिल श्रेयस अय्यर, केदार जाधव और मनीष पाडेय दक्षिण अफ्रीका में बल्ले से धमाल करना जारी रखते हैं, तो  रैना और युवराज की वनडे टीम में वापसी बहुत ही मुश्किल है.

टिप्पणियां
VIDEO : जब युवराज और रैना दोनों ही अगस्त में यो-यो टेस्ट में फेल हो गए थे.
कुल मिलाकर इस रणजी ट्रॉफी सेशन से दूर रहकर 36 साल के युवराज सिंह ने एक तरह से खुद ही अपना बड़ा नुकसान किया, तो सुरेश रैना भी 5 मैचों में 11.66 के औसत से सिर्फ 105 रन बनाकर अपनी फॉर्म से सेलेक्टरों का भरोसा नहीं जीत सके. अब ऐसे में ये दोनों दिग्गज क्या कभी फिर से टीम इंडिया की जर्सी पहन पाएंगे, यह एक बहुत ही भारी और बड़ा सवाल बन गया है.


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement