विजय हज़ारे ट्राफी में युवराज, ऋषि धवन, अश्विन और अक्षर पटेल रहे सुपरहिट

विजय हज़ारे ट्राफी में युवराज, ऋषि धवन, अश्विन और अक्षर पटेल रहे सुपरहिट

नई दिल्‍ली:

विजय हजारे ट्राफी टूर्नामेंट में कई बड़े खिलाड़ी एक्शन में दिखे और इनके प्रदर्शन पर भी तमाम एक्सपर्ट्स की नज़र रही। जहां कुछ खिलाड़ी संघर्ष करते दिखे, वहीं युवराज सिंह का बल्ला जमकर बोला। टेस्‍ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने इस दौरान आराम का फ़ैसला किया।

आस्‍ट्रेलिया दौरे से पहले था आखिरी मौका
ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले अपने हुनर को निखारने का टीम इंडिया के खिलाडि़यों के पास आख़िरी मौक़ा विजय हज़ारे ट्रॉफ़ी में था। दौरे के लिए चुने गए खिलाड़ियों ने इस मौक़े का कितना फ़ायदा उठाया, ये उनके प्रदर्शन में दिखाई देता है।
 

(युवराज सिंह और एमएस धोनी)

कोहली ने आराम करना ज़्यादा ज़रूरी समझा तो एमएस धोनी, युवराज सिंह और हरभजन सिंह जैसे खिलाड़ियों ने घरेलू क्रिकेट खेलकर अपनी ताक़त को आंका।

अक्षर पटेल ने दोहरे प्रदर्शन से प्रभावित किया
आठ महीने बाद टीम में वापसी कर रहे युवराज के लिए ऑस्ट्रेलियाई दौरा 'करो या मरो' का मामला है। विजय हज़ारे ट्रॉफ़ी में युवी फ़ॉर्म में दिखे। उन्‍होंने 6 मैचों में 346 रन बनाए..और उनका सर्वाधिक स्कोर 98 रहा। युवा खिलाड़ी बरिंदर सरन के लिए चुना जाना किसी सपने से कम रहा।

वहीं, हिमाचल प्रदेश के ऋषि धवन ने टूर्नामेंट में गेंद और बल्ले से ज़ोरदार प्रदर्शन कर चयनकर्तओं के भरोसे को बरक़रार रखा।
 

(ऋषि धवन)

धवन ने 7 मैचों में 302 रन बनाए और 9 विकेट भी झटके तो सरन ने 7 मैचों में 14 विकेट लेकर अपनी तेज़ी से सबको प्रभावित किया।हमेशा की तरह आर. अश्विन एक बार फिर बेस्ट रहे तो सुनील गावस्कर की आलोचना के बाद अक्षर पटेल ने अच्‍छा प्रदर्शन करने की ठान ली है। अक्षर ने 9 मैचों में 220 रन बनाए और 19 विकेट भी लिए वहीं अश्विन ने 8 मैच में 14 विकेट लिए।  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

भज्‍जी और धवन को लय पाने का इंतजार
दौरे पर टीम इंडिया में शामिल हरभजन सिंह और शिखर धवन को लय वापसी की अब भी तलाश है।  हरभजन ने टूर्नामेंट के 5 मैचों में सिर्फ़ 4 विकेट लिए तो शिखर के बल्ले से 4 मैच में 96 रन ही निकले।  चोट से वापसी के बाद मोहम्मद शमी भी रफ़्तार के लिए संघर्ष कर रहे हैं।
 


उन्‍होंने 2 मैच में 3 विकेट लिए। अगले साल के पहले हफ़्ते में टीम इंडिया के धुरंधर ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर जाएगे। पिछली बार जब टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर गई तो टीम का बुरा हाल रहा।
 
(शिखर धवन)

टेस्ट में 2-0 से टीम इंडिया को हार मिली तो ट्राई-सीरीज़ में भारत एक भी मैच जीतने में सफल नहीं रही। आईसीसी वर्ल्ड कप में भी टीम सेमीफ़ाइनल में हार गई। उम्मीद है इस बार टीम के 'शूरवीर' पिछली बातों को भुलाकर अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे।