NDTV Khabar

IND VS SL: मैथ्यूज के शतक में रोहित का 'हाथ'..दक्षिण अफ्रीका में कैसे काम चलेगा?

फिरोजशाह कोटला की पिच पूरी तरह बल्लेबाजों के अनुकूल है. मतलब कम उछाल व कम गति. ऐसे में एक खास क्षेत्र को लेकर क्रिकेटप्रेमियों की चिंता पूरी तरह से वाजिब है.

99 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND VS SL: मैथ्यूज के शतक में रोहित का 'हाथ'..दक्षिण अफ्रीका में कैसे काम चलेगा?

रोहित शर्मा का फाइल फोटो

नई दिल्ली: जब भारत की धरती पर ही ये हाल हैं तो दक्षिण अफ्रीका की तेज और उछाल भरी पिचों पर क्या होगा?' कुछ इस तरह की चर्चाएं क्रिकेटप्रेमी ही नहीं विशेषज्ञ जारी फिरोजशाह कोटला टेस्ट मैच के दौरान ही करने लगे हैं. वैसे अगर चर्चा हो रही है, तो गलत भी नहीं हो रही क्योंकि श्रीलंका की पारी के दौरान भारत की फील्डिंग उतनी ही खराब रही है, जितनी अच्छी उनकी बल्लेबाजी रही. वास्तव में अब जब दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट दौरे में पहला टेस्ट खेले जाने में ज्यादा समय नहीं बचा है और विराट कोहली एंड कंपनी को तैयारी के लिए ज्यादा समय भी नहीं मिला, तो चर्चाएं होना लाजिमी ही है. भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पहला टेस्ट 5 से नौ जनवरी के बीच केपटाउन में खेला जाएगा.
 
बहरहाल हो रही खास चर्चा पर लौटते हैं. इस चर्चा की शुरुआत यूं तो कोटला टेस्ट के दूसरे दिन ही शुरू हो गई थी, जब श्रीलंका पारी को शुरू हुए कुछ भी समय हुआ था. तब पहले तो सातवें ही ओवर में शिखर धवन ने दिलरुवान परेरा का आसान कैच छोड़ दिया भारतीय क्रिकेटप्रेमी इस मायूसी से उबरे भी नहीं थे कि करीब दो ओवर बाद ही कप्तान विराट कोहली ने एंजेलो मैथ्यूज का कैच टपका दिया. बस कोहली का यह कैच क्या छोड़ना था कि क्रिकेटप्रेमियों ने गरियाना शुरू कर दिया! हो गईं शुरू बातें कि जब यहां ये हाल हैं, तो दक्षिण अफ्रीका की पिचों पर क्या होगा. 

यह भी पढ़ें : दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए टीम का ऐलान आज, कौन होगा फेल, कौन पास?

वैसे बात यहां सिर्फ कैचों की नहीं, बल्कि स्लिप में कैचों की हैं. अब यह तो आप जानते ही हैं कि उछाल लेती और तेज पिचों पर स्लिप में कैच न केवल ज्यादा आते हैं बल्कि भारत की पिचों की तुलना में कहीं ज्यादा तेज गति से आते हैं. ऐसे में आप भारतीय फील्डरों को लेकर कल्पना कर सकते हैं. खैर किसी तरह यह चर्चा खत्म ही हुई थी कि तीसरे दिन रोहित शर्मा ने ईशांत शर्मा की गेंद पर मैथ्यूज का स्लिप में एक और आसान कैच तब छोड़ दिया, जब वह 98 रन पर थे. यह एक ऐसा कैच था कि खुद रोहित ऐसे दस में से शायद एक या दो कैच ही छोड़ें. लेकिन क्रिकेट में तो एक कैच छोड़ना ही सारे किए-कराए पर पानी फेर देता है. कुल मिलाकर भारतीय क्रिकेटप्रेमियों की यह चिंता वाजिब है कि कहीं दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी तो कैच छोड़ने की ऐसी ही तस्वीरें तो सामने नहीं आएंगी. 

VIDEO: सुनिए कि पुजारा को किस बात का चैलेंज दे रहे हैं कोहली
विराट भाई समय आपकी टीम के पास बहुत ही कम है और करने को काम बहुत ज्यादा! ऐसे में जरुरत इस बात की है कि नेट पर जितना समय मिले, वह बल्लेबाजी पर खर्च करने के बजाय गेंदबाजी और स्लिप कैचिंग पर ज्यादा खर्च किया जाए. हमने तो आपको आगाह कर दिया है. आगे आ जानो और कोच रवि शास्त्री !


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement