NDTV Khabar

आलोचनाओं के बारे में सोचने का कोई मतलब नहीं, इन्हें नहीं रोक सकता : रोहित शर्मा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आलोचनाओं के बारे में सोचने का कोई मतलब नहीं, इन्हें नहीं रोक सकता : रोहित शर्मा

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

खेल के तीनों प्रारूपों में कुछ बेहतरीन प्रदर्शन के बाद भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा ने कहा कि उन्होंने पिछले एल साल में अपने ज्यादातर आलोचकों को करारा जवाब दे दिया है, लेकिन वह उनका कुछ नहीं कर सकते तो उनके बारे में 'जुनूनी प्रेमियों' की तरह सोचते रहते हैं।

रोहित ने कहा, 'पिछले अच्छे सत्र के बावजूद कुछ ऐसे लोग थे जो मेरी आलोचना कर रहे थे। इसलिए मैंने महसूस किया कि मुझे सिर्फ रन जुटाने होंगे क्योंकि कुछ आलोचना हमेशा रहेंगी।'

उन्होंने कहा, 'मैं वहीं करूंगा जो चीजें मेरे काबू में है क्योंकि अन्य लोग मेरे बारे में क्या सोचते हैं, इस पर मेरा कोई नियंत्रण नहीं है। आलोचक एक तरह से 'प्रेमिका' की तरह हैं, जो आपके बारे में सोचना बंद नहीं कर सकते।'

रोहित ने पिछले सत्र में वन-डे में 1000 रन से ज्यादा रन जुटाए, इसके अलावा अपनी पहली टेस्ट शृंखला में 'प्लेयर ऑफ द सीरीज' पुरस्कार भी हासिल किया। इस तरह उन्होंने निरंतर प्रदर्शन कर दिखा दिया जो उनके उत्साही प्रशंसक उनसे चाहते थे।

मुंबई के 27 वर्षीय रोहित ने कहा, 'यह साल अच्छा रहा और मैं आगामी सत्र में भी इसी अच्छे प्रदर्शन को जारी रखना चाहूंगा। मुझे पूरा भरोसा है कि मैं भरत के लिए मैच जीतूंगा।'

इस महीने के अंतिम हफ्ते से शुरू हो रही इंग्लैंड शृंखला के बारे में पूछने पर रोहित ने कहा कि मानसिक रूप से उन्होंने तैयारी शुरू कर दी है, लेकिन इससे उनकी नींद नहीं उड़ी है।

उन्होंने कहा, 'मैं श्रीलंका के खिलाफ इंग्लैंड की मौजूदा शृंखला देख रहा था, ताकि मुझे उनकी टीम के बारे में आइडिया लग सके। मैं खुद को दबाव में नहीं लाना चाहूंगा। मेरा मानना है कि जब आप फार्म में होते हो तो आप हालात के हिसाब से अपनी रणनीति बना सकते हो।'

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement