NDTV Khabar

युवराज के सामने क्लब के बल्लेबाज की तरह महसूस हुआ : विराट कोहली

युवराज ने 32 गेंद में 53 रन बनाये जबकि कोहली ने 68 गेंद में 81 रन की पारी खेली.

26 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
युवराज के सामने क्लब के बल्लेबाज की तरह महसूस हुआ : विराट कोहली

पिच पर युवराज सिंह और विराट कोहली.

खास बातें

  1. पहले मैच में दबाव हटाने का श्रेय युवराज सिंह को
  2. युवराज ने 32 गेंद में 53 रन बनाये
  3. कोहली ने 68 गेंद में 81 रन की पारी खेली
बर्मिंघम: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पाकिस्तान के खिलाफ चैम्पियंस ट्रॉफी के पहले मैच में अपने पर से दबाव हटाने का श्रेय युवराज सिंह को देते हुए कहा कि उसे पूरे प्रवाह में बल्लेबाजी करते देख उन्हें क्लब के बल्लेबाज की तरह महसूस होने लगा. युवराज ने 32 गेंद में 53 रन बनाये जबकि कोहली ने 68 गेंद में 81 रन की पारी खेली.

कोहली ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'युवराज जिस तरह से गेंद को पीट रहा था, मुझे उसके सामने ऐसा लगा कि मैं कोई क्लब का बल्लेबाज हूं.' उन्होंने कहा, 'मैं जब 50 तक पहुंचा तब तक खुलकर खेल नहीं पा रहा था. युवी के आने के बाद उसने मुझ पर से सारा दबाव हटा दिया. वह जिस तरह से खेल रहा था, इस तरह से वही खेल सकता है. उसने यार्कर पर भी चौके लगाये.’’ 

उन्होंने कहा, 'उसने पाकिस्तान को पूरी तरह से दबाव में ला दिया और मुझे भी दूसरे छोर पर जमने का मौका मिला. उसके आउट होने के बाद मैंने मोर्चा संभाल लिया. उसकी पारी ने मैच में बदलाव लाया.’’ 

कोहली ने भारत की फील्डिंग पर निराशा जताते हुए कहा, 'हमने गेंद और बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन फील्डिंग में हमारे दस में से छह ही नंबर रहे. हमें सर्वश्रेष्ठ टीमों के खिलाफ बेहतर फील्डिंग करनी होगी.' उन्होंने कहा, 'शिखर ने अच्छी बल्लेबाजी की. रोहित को कुछ समय लगा और वह लाजमी भी था क्योंकि वह लंबे समय बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहा था. आईपीएल अलग है लेकिन अंतरराष्ट्रीय रन अलग है और पाकिस्तान के पास बेहतरीन गेंदबाजी आक्रमण भी था.'

कोहली ने कहा, 'हार्दिक ने सिर्फ पांच गेंद में 18 रन बना डाले. हमने पाकिस्तान से सामना होने के कारण चार तेज गेंदबाजों को उतारा. वे स्पिन को बखूबी खेलते हैं और अधिकांश दाहिने हाथ के बल्लेबाज हैं. दूसरी टीमों के खिलाफ हम दो स्पिनरों को उतार सकते हैं.' यह पूछने पर कि दोनों देशों के बीच तनाव के मद्देनजर पाकिस्तान के खिलाफ खेलना कितना अहम था, कोहली ने कहा, 'हम यहां खेलने आये हैं और उसी पर फोकस है. किसी और फैसले पर बोलना मेरा काम नहीं है. आला अधिकारी उन फैसलों पर बोलेंगे. मेरी राय मायने नहीं रखती और रखनी भी नहीं चाहिये. इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप किसके खिलाफ खेल रहे हैं, आपका काम खेलना है.'

उन्होंने कहा, 'पाकिस्तान काफी प्रतिस्पर्धी टीम है. माहौल जबर्दस्त था. एक क्रिकेटर के नाते इस मैच का हमने पूरा मजा लिया.' कोहली ने अपनी पारी का भी श्रेय युवराज को देते हुए कहा, 'यह दिलचस्प स्थिति थी लेकिन मैं खुश हूं कि उसने ऐसी पारी खेली और हमें 15.20 रन अधिक का स्कोर दिया. इसका पूरा श्रेय उसको जाता है.'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement