NDTV Khabar

वर्ल्‍डकप-2019 के लिए टीम इंडिया की मांग-बीवियों का साथ, ट्रेन में यात्रा, जिम और केले....

भारतीय क्रिकेट टीम को हाल ही में विदेशी दौरे में पत्नियों/गर्लफ्रेंड्स को साथ में रखने की इजाजत मिली है लेकिन इन्‍हें सीरीज प्रारंभ होने के 10 दिन बाद दौरे से जुड़ना होता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वर्ल्‍डकप-2019 के लिए टीम इंडिया की मांग-बीवियों का साथ, ट्रेन में यात्रा, जिम और केले....

खिलाड़ि‍यों की बीवियों को अभी टीम की बस में सफर करने की इजाजत नहीं है (AFP फोटो)

खास बातें

  1. भारतीय क्रिकेट बोर्ड से इस बारे में किया आग्रह
  2. कहा-पूरे वर्ल्‍डकप के दौरान बीवियों का साथ मिले
  3. बस के बजाय ट्रेन के रिजर्व कोच से यात्रा की सुविधा मिले

अगले वर्ष इंग्‍लैंड और वेल्‍स में आयोजित होने वाले क्रिकेट वर्ल्‍डकप (World Cup 2019)  के लिए टीम इंडिया (Team India) के खिलाड़ि‍यों ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI)से कुछ 'खास सुविधाओं' की मांग की है. भारतीय टीम ने बीसीसीआई से बीवियों और गर्लफ्रेंड को पूरे दौरे में साथ रखने की इजाजत देने का आग्रह किया है.  इंडियन एक्‍सप्रेस में प्रकाशित खबर के अनुसार, टीम ने इसके अलावा दो स्‍थानों के बीच की यात्रा बस के बजाय ट्रेन के रिजर्व कोच से करने देने का अनुरोध किया है ताकि बीवियां उनके साथ रह पाएं. टीम ने खिलाड़ि‍यों ने टूर के दौरान उन्‍हें केले उपलब्‍ध कराने की भी अनुरोध किया है. भारतीय टीम के इसी वर्ष के ब्रिटेन दौरे के दौरान खिलाड़ि‍यों की ओर से यह मांग रखी गई.

फील्डिंग के दौरान विराट कोहली और रवींद्र जडेजा के बीच हुई 'रेस', जानें कौन जीता, VIDEO


गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेट टीम को हाल ही में विदेशी दौरे में पत्नियों/गर्लफ्रेंड्स को साथ में रखने की इजाजत मिली है लेकिन इन्‍हें सीरीज प्रारंभ होने के 10 दिन बाद दौरे से जुड़ना होता है. अखबार की रिपोर्ट में एक अधिकारी के हवाले से कहा गया कि इंग्‍लैंड दौरे के दौरान वहां का क्रिकेट बोर्ड भारतीय टीम को उसकी पसंद के फल उपलब्‍ध कराने में नाकाम रहा था.

क्‍या अपने ही इस बेहद बड़े रिकॉर्ड को पीछे छोड़ पाएंगे 'रनमशीन' विराट कोहली..

टिप्पणियां

वीडियो: मैडम तुसाद म्‍यूजियम में विराट कोहली

वैसे. बीसीसीआई की कमेटी ऑफ एडमिनिस्‍ट्रेटर्स (BCCI's Committee of Administrators) के फलों से संबंधित प्‍लेयर्स की मांग पर हैरानी जताते हुए कहा है कि प्‍लेयर को टीम के मैनेजर से ही बीसीसीआई के खर्च पर केले खरीदने का आग्रह करना चाहिए था. इस अधिकारी ने बताया कि दौरों में ऐसे होटल बुक करने की मांग रखी गई है जिसमें अच्‍छे जिम की सुविधा हो. रिपोर्ट के अनुसार, कमेटी ऑफ एडमिनिस्‍ट्रेटर्स बस के बजाय ट्रेन में यात्रा की मांग को लेकर असमंजस में हैं क्‍योंकि इससे खिलाड़ि‍यों की सुरक्षा को खतरा हो सकता है. कमेटी ऑफ एडमिनिस्‍ट्रेटर्स इससे पहले खिलाड़ि‍यों की पत्नियों को बस में यात्रा की इजाजत का आग्रह ठुकरा चुका है, इसके बाद ट्रेन से यात्रा करने की इजाजत मांगी गई है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement