Ind vs Aus 2nd ODI: 'टर्निंग प्वाइंट' से भारत की जीत की कहानी, इन 4 बड़ी वजहों से मिली विजय

Ind vs Aus 2nd ODI: 'टर्निंग प्वाइंट' से भारत की जीत की कहानी, इन 4 बड़ी वजहों से मिली विजय

IND vs AUS, 2nd ODI: विकेट गिरने के बाद जश्न मनाते भारतीय खिलाड़ी

खास बातें

  • आखिरी ओवर में ऑस्ट्रेलिया को बनाने थे 11 रन
  • पहले बुमराह ने किया वार, फिर शंकर का चमत्कार!
  • भारत ने 8 रन से जीता हैदराबाद मुकाबला
नागपुर:

ऑस्ट्रेलिया (#IndvAus #IndvsAus) के खिलाफ नागपुर में दूसरा वनडे (मैच रिपोर्ट) (IND vs AUS, 2nd ODI) खत्म हुए लंबा समय हो गया है, लेकिन करोड़ों हिंदुस्तानी क्रिकेटप्रेमियों पर अभी भीा इस मैच की खुमारी छायी हुई है. और वास्तव में लंबे समय तक यह मुकाबला उनकी यादों में बना रहेगा. गजब का रोमांच, गजब की क्रिकेट! लेकिन एक समय मैच पर ऑस्ट्रेलिया का कब्जा हो चला था. और कंगारू धीरे-धीरे जीत की ओर बढ़ रहा था, लेकिन तभी कुछ ऐसा कि एकदम से सबकुछ बदल गया. चलिए जान लीजिए भारतीय टीम की जीत के वे चार सबसे कारण, जिन्होंने मैच जितान में अहम भूमिका निभाई

Stellar performances, exceptional teamwork! pic.twitter.com/foViGqKP82

— Virat Kohli (@imVkohli) March 5, 2019

1. यहां हुआ मैच का टर्निंग प्वाइंट
37वें ओवर की समाप्ति पर ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 4 विकेट पर 167 रन था. यहां से उसे जीत के बचे 13 ओवरों में 84 रन की दरकार थी. हैंड्सकॉम्ब ने भारत की नींद उड़ा रखी थी, लेकिन अर्द्धशतक से महज दो रन दूर हैंड्सकॉम्ब ने 38वें ओवर में तेज रन थ्रो चुराने की कोशिश की, तो जडेजा ने बेतरीन थ्रो से ऐसे स्टंप्स उखाड़े कि ऑस्ट्रेलिया ही धीरे-धीरे हत्थे से उखड़ गया. वास्तव में यह सबसे बड़ा टर्निंग प्वाइंट रहा. मैच यहां से भारत के पक्ष में होता चला गया.

2. बुमराह का 46वां ओवर

कुलदीप के 43वें ओवर में 15 रन गए, तो ऑस्ट्रेलिया की जरूरत 42 गेंदों पर 44 रन की रह गई. और स्टेडियम में जमा भारतीय समर्थकों के चेहरे पर चिंता गहराने लगी. लेकिन 46वें ओवर में बुमराह ने ऑस्ट्रेलिया की चूलें हिला दीं. पहले दूसरी गेंद पर नॉथ काउल्टर निले गए, तो चौथी गेंद पर पैट कमिंस खाता भी नहीं खोल सके. बुमराह के फेंके इस 46वें ओवर में पलड़ा बहुत ज्यादा भारत के पक्ष में झुक गया.

यह भी पढ़ें:  आखिरी ओवर का रोमांच, विजय शंकर ने तीन गेंदों पर दो विकेट लेकर यूं पलट दी बाजी, VIDEO

3. शंकर की शानदार विजय!

विजय शंकर ने वह कारनामा किया, जो उन्हें बहुत ही ज्यादा फायदा दिलाने जा रहा है. जब आखिरी ओवर विराट ने विजय को थमाया, तो बहुतों की त्योंरियां चढ़ गईं! लगा कि गया मैच हाथ से! गेंद 6 बाकी थीं और रन थे 11. और विजय ने सिर्फ तीन ही गेदों के भीतर मैच पर भारत की विजयी मुहर लगा दी.

4. कोहली का 40वां शतक

विराट कोहली का यह शतक कई रिकॉर्ड लेकर आया. बल्लेबाजी के लिहाज से, तो कप्तानी के पहलू से भी. लेकिन यह नैसर्गिक विराट से एक जुदा पारी थी! इसमे कोई छक्का नहीं था. कोहली ने विकेट के हिसाब से ढलने के लिए समय लिया. मैदानी शॉटों पर जोर दिया. नतीजा यह रहा कि कोहली ने ऐसा शतक जड़ा, जिसने भारत को लड़ने लायक स्कोर दिला दिया. कोहली ने 120 गेंदों पर 10 चौकों से 116 रन बनाए. 

VIDEO:  पिछले दिनों ऑस्ट्रेलिया दौर पर रवाना होने से पहले विराट कोहली. 

हैदराबाद में खेले गए पहले मैच में बड़ा पॉजेटिव अगर केदार जाधव थे, तो नागपुर में विजय शंकर ने वर्ल्ड कप के लिहाज से सेलेक्टरों की चिंता को और ज्यादा कम कर दिया.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com