Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

IND vs AUS 2nd ODI: विराट कोहली दिग्गज रिकी पोन्टिंग को पछाड़ 'यहां' बन गए नंबर -1 कप्तान बल्लेबाज

IND vs AUS 2nd ODI: विराट कोहली दिग्गज रिकी पोन्टिंग को पछाड़ 'यहां' बन गए नंबर -1 कप्तान बल्लेबाज

IND vs AUS, 2nd ODI: विराट कोहली

खास बातें

  • कोहली ने जड़ा करियर का 40वां शतक
  • नागपुर में जड़ा अर्द्धशतकों का अर्द्धशतक!
  • विराट- 116 रन, 120 गेंद, 10 चौके
नागपुर:

ऑस्ट्रेलिया (#IndvAus #IndvsAus) के खिलाफ नागपुर में खेले गए दूसरे वनडे मुकाबले (मैच रिपोर्ट) में विराट कोहली (#ViratKohli) की शतकीय पारी उनके अंदाज से जुदा रही! विराट ने इस पारी से दिखाया कि वह जरूरत के हिसाब से खुद को बखूबी ढालना जानते हैं. विराट अपेक्षाकृत धीमा खेले और उन्होंने अपने 116 रनों के लिए 120 गेंदें खेली और 10 चौके लगाए. करियर के 40वें शतक के साथ ही कई रिकॉर्ड विराट की झोली में गिरे, लेकिन एक बहुत ही खास रिकॉर्ड के मामले में विराट कंगारू दिग्गज रिकी पॉन्टिंग को पछाड़कर अपना नाम चस्पा कर लिया. 

इस पारी के साथ ही जहां कोहली ने अर्द्धशतकों का अर्द्धशतक जड़ा, तो वहीं विराट ने भारतीय जमीं पर पिछले लगातार छह मैचों में पचास से ऊपर का स्कोर करने के बाद इन्हें शतक में बदलने का कारनामा भी किया. यह वह रिकॉर्ड है, जो विराट को बहुत ही स्पेशल कैटेगिरी में रखता है, लेकिन इससे अलग एक रिकॉर्ड कोहली ने बतौर कप्तान के रूप में किया. 

यह भी पढ़ें:  कुछ ऐसे विराट कोहली ने 40वें शतक के साथ बरकरार रखा 'यह मिथक'

बता दें कि विराट कोहली से पहले बतौर कप्तान वनडे में सबसे तेज नौ हजार रन बनाने का कारनामा रिकी पॉन्टिंग के नाम पर था. रिकी पोन्टिंग ने यह कारनामा करने के लिए 203 पारियां लीं. लेकिन अब विराट कोहली यह कारनाम करने वाले दुनिया के सिर्फ छठे कप्तान बन गए हैं. उनसे पहले यह कारनामा रिकी पोन्टिंग के अलावा ग्रीम स्मिथ (220 पारियां), एमएस धोनी (253), एलन बॉर्डर (257 पारियां) और न्यूजीलैंड के कप्तान स्टीफन फ्लेमिंग (272) ने किया था.  नागपुर में कोहली ने जैसी ही पारी का 22वां रन बनाया, वैसे ही वह इस स्पेशल क्लब में शामिल हो गए. 

VIDEO: वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से मैच खेलने पर रविशंकर प्रसाद के विचार सुन लीजिए. 

कोहली का बतौर कप्तान रिकॉर्ड कितना शानदार है, यह वह बतौर कप्तान-बल्लेबाज कितने बेहतरीन खिलाड़ी हैं, यह आप इसस बात से समझ सकते हैं कि जहां पोन्टिंग ने यह आंकड़ा 203 पारियों में छुआ था, तो वहीं कोहली ने इस रिकॉर्ड के लिए सिर्फ 159 पारियां लीं. वास्तव में कोहली का यह ऐसा रिकॉर्ड है, जिसे भेदना दुनिया के किसी भी कप्तान के लिए बहुत ही बड़ा चैलेंज होगा.