NDTV Khabar

IND vs AUS 3rd Test: यह 'विराट रिकॉर्ड' तोड़ने के लिए कोहली के पास है बस एक ही पारी

वास्तव में यह एक ऐसा रिकॉर्ड है, जिसे बनाने का मौका किसी भी बल्लेबाज के जीवन में यदा-कदा ही आता है. और अब विराट कोहली इस रिकॉर्ड को अपनी झोली में जमा कर पाते हैं या नहीं, यह देखने वाली बात होगी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs AUS 3rd Test: यह 'विराट रिकॉर्ड' तोड़ने के लिए कोहली के पास है बस एक ही पारी

AUS vs IND, 3rd Test: आउट होने के बाद वापस लौटते कप्तान विराट कोहली

खास बातें

  1. क्या कोहली बन पाएंगे किंग ?
  2. ग्रीम स्मिथ का विराट चैलेंज !
  3. राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ा विराट ने
मेलबर्न टेस्ट:

विराट कोहली चाहे कुछ भी कहें, कुछ भी करें, एक बात तय है! तमाम बातों का असर विराट कोहली (Virat Kohli) बिल्कुल भी अपने प्रदर्शन पर नहीं पड़ने देते. ठीक वहीं से शुरुआत की, जहां पर्थ में छोड़ा था! मेलबर्न (Melbourne Cricket Ground, Melbourne) में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट (AUS vs IND, 3rd Test) के दूसरे दिन (मैच रिपोर्ट) में एक और शानदार पारी कोहली ने खेली, लेकिन वह इस विराट शतक में तब्दील नहीं कर सके. लेकिन विराट ने जो स्ट्रोक खेले, उसने सभी को गदगद कर दिया. और हां, कोहली एक कैलेंडर ईयर के दौरान विदेशी जमीं पर सबसे ज्यादा रनबाने वाले भारतीय बल्लेबाज भी बन गए. लेकिन एक और विराट रिकॉर्ड उनका बेसब्री से इंतजार कर रहा है! और यह रिकॉर्ड अपनी झोली में जमा करने के लिए विराट के पास सिर्फ और सिर्फ एक ही पारी बची है. 

वास्तव में यह एक ऐसा रिकॉर्ड है, जिसे बनाने का मौका किसी भी बल्लेबाज के जीवन में यदा-कदा ही आता है. और अब विराट कोहली इस रिकॉर्ड को अपनी झोली में जमा कर पाते हैं या नहीं, यह देखने वाली बात होगी. वैसे यह रिकॉर्ड बनाने के लिए उन्हें भाग्य की मदद की भी दरकार होगी. हां यह जरूर है कि विराट ने एमसीजी में 204 गेंदों पर 9 चौकों से 82 रन बनाकर इस विराट रिकॉर्ड की दिशा में कदम जरूर बढ़ा दिए हैं. 


यह भी पढ़ें:  मार्क टेलर ने विराट कोहली के व्‍यवहार की सराहना की, आक्रामक अंदाज को लेकर दी यह सलाह

कोहली के चाहने वालों को यह मलाल है कि 82 रन की टिकाऊ पारी खेलने के बावजूद विराट कोहली शतक नहीं जड़ सके, लेकिन मैच के दूसरे दिन उनकी यह पारी एक कैलेंडर ईयर में विदेशी जमीन पर सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ने में कामयाब रही. बता दें कि राहुल द्रविड़ ने साल 2002 में विदेस में 11 टेस्ट मैचों में 1137 रन बनाए थे. द्रविड़ के इस प्रदर्शन उनके वेस्टइंडीज (जॉर्जटाउन, 144*), इंग्लैड (नॉटिंघम में 115, लीड्स में 148 और ओवल में 217) में खेली गई शतकीय पारियां भी शामिल थीं. द्रविड़ की 18 पारियों में 66.88 के औसत से 4 अर्धशतक भी शामिल थे.

कोहली भी चार शतक और छह अर्धशतकों के साथ 54.19 का औसत निकाल चुके. साथ ही कोहली  1138 रन बनाकर कोहली को पीछे छोड़ चुके हैं. इसी के साथ भारतीय कप्तान उस विराट रिकॉर्ड के नजदीक आ गए हैं, जिसके लिए उनके प्रशंसकों ने दुआ करनी शुरू कर दी है. बता दें कि अगर विदेशी जमीं पर सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में दुनिया के बल्लेबाजों की बात करें, तो इसमें पूर्व दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ग्रीम स्मिथ शीर्ष पर हैं. अब यहां से कोहली को स्मिथ से आगे निकलने के लिए 75 रन और बनाने हैं. 

टिप्पणियां

VIDEO: एडिलेड टेस्ट में जीतने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली

ग्रीम स्मिथ ने साल 2008 में 11 टेस्ट मैचों में 1212 रन बनाए थे. और इस आंकड़े से आगे निकलने के लिए कोहली के पास इस साल सिर्फ एमसीजी में दूसरी पारी ही बची है. चौथा टेस्ट अगले साल 3 जनवरी से खेला जाएगा. जाहिर है कि मेलबर्न में दूसरी पारी में कोहली के 75 रन कई कारकों पर निर्भर करेंगे. मसलन क्या उन्हें दूसरी पारी में पर्याप्त मौका मिलेगा ये 75 रन बनाने का. ओपनर जम गए, तो क्या होगा. वगैरह-वगैरह. देखते हैं कि कोहली के चाहने वालों  की दुआ काम आती है या नहीं. 
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement