IND vs AUS: विराट के पास वर्ल्ड कप से पहले खिलाड़ियों को परखने का आखिरी मौका, कई पहलुओं पर नजर

IND vs AUS: विराट के पास वर्ल्ड कप से पहले खिलाड़ियों को परखने का आखिरी मौका, कई  पहलुओं पर नजर

उमेश यादव एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें वर्ल्ड कप को लेकर सेलेक्टर अभी अगर-मगर में हैं

खास बातें

  • सीरीज का पहला टी20 मुकाबला रविवार को
  • वर्ल्ड कप के लिए दो-तीन जगहों के लिए कड़ा मुकाबला
  • टी-20 सीरीज के बाद खेले जाएंगे पांच वनडे
विशाखापत्तनम:

भारतीय टीम रविवार को यहां पहले टी20 मैच (#IndvAus, #INDvsAUS) से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज की शुरुआत करेगी, जिसके जरिए वह इंग्लैंड जाने वाले क्रिकेट विश्व कप (#WorldCup2019) टीम के लिए बचे अंतिम कुछ उपलब्ध स्थानों पर मुहर लगाना चाहेगी. पिछले कुछ समय से जूझ रही ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ सात मैचों की श्रृंखला में दो टी20 और पांच एकदिनी अंतरराष्ट्रीय मैच शामिल है और 30 मई से इंग्लैंड एवं वेल्स में शुरू होने वाले विश्व कप से पहले यह भारत की अंतिम अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला होगी. टीम में ज्यादातर खिलाड़ियों के स्थान सुनिश्चित हैं, केवल दो स्थान ही ऐसे हैं, जिसके लिए विराट कोहली (#ViratKohli) और रवि शास्त्री (#RaviShastri) इन दो टी20 मैच से विश्व कप टीम के दावेदारों के प्रदर्शन को देखना चाहेंगे.रविवार को पहला मुकाबला शाम 7:30 बजे से खेला जाएगा. 

कप्तान कोहली तीन हफ्ते के ब्रेक के बाद लौटे हैं, वह ऋषभ पंत और विजय शंकर जैसे खिलाड़ियों पर कड़ी निगाहें लगाए हैं, जो इस सूची में जगह बनाने के प्रबल दावेदारों में शामिल हैं. विश्व कप की दौड़ में दिनेश कार्तिक को वनडे टीम से बाहर करने के बाद पंत को खुद का दावा मजबूत करने के लिए कुछ और मौके मिलेंगे, तो  वहीं विजय शंकर के लिए भी यह खुद का दावा मजबूत करने का अच्छा मौका होगा जो पीठ की चोट के कारण बाहर हुए हार्दिक पंड्या की अनुपस्थिति में टीम में हैं. शंकर दिखा चुके हें कि वह बल्ले से आक्रामक प्रदर्शन कर सकते हैं लेकिन सवाल उनकी गेंदबाजी का होगा कि यह कितनी प्रभावशाली हो सकती है. 

यह भी पढ़ें: Pulwama attack: अब विराट कोहली ने कही वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से मुकाबले पर 'मन की बात'

वहीं दिनेश कार्तिक भी अच्छा प्रदर्शन करने के लिए बेताब होंगे. खुद को साबित करने के लिये उनके पास सिर्फ ये दो टी20 मैच ही होंगे क्योंकि उन्हें पहली ही वनडे टीम से बाहर कर दिया गया है. तमिलनाडु के इस अनुभवी खिलाड़ी को सभी की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था क्योंकि न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के निर्णायक टी20 मैच में उन्होंने एक रन लेने से इनकार कर दिया था, जब दूसरे छोर पर क्रुणाल पंड्या थे. भारत के नंबर एक तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की वापसी से गेंदबाजी विभाग में मजबूती आएगी, जो न्यूजीलैंड के खिलाफ थोड़ा फीका लगा था. बुमराह टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 50 विकेट पूरे करने से केवल दो विकेट दूर हैं और यह उपलब्धि सिर्फ रविचंद्रन अश्विन के नाम है, जो अभी टीम से बाहर चल रहे हैं. लेग ब्रेक गेंदबाज मयंक मार्कंडेय भी टीम में हैं. भारतीय टीम के अपनी परखी जोड़ी युजवेंद्र चहल और क्रुणाल पंड्या के साथ ही उतरने की संभावना है जिन्होंने हाल के समय में घरेलू टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है. 

हालांकि खेल के इस छोटे प्रारूप में भारतीय टीम का प्रदर्शन निरंतर नहीं रहा है, टीम को हाल में न्यूजीलैंड के खिलाफ 1-2 से हार मिली थी. भारत भले ही टी20 में ऑस्ट्रेलिया से जीत के रिकार्ड में 11-6 से आगे हो लेकिन उसके खिलाफ पिछली दो श्रृंखलाओं - अपनी सरजमीं पर 2017 और फिर ऑस्ट्रेलिया में 2018 - में स्कोर 1-1 से बराबर रहा है. वर्ष 2016 में भारत ने महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3-0 से अंतिम जीत दर्ज की थी और इस बार कोहली की टीम स्कोर 2-0 करना चाहेंगे. लेकिन इससे ज्यादा यह श्रृंखला विश्व कप के लिये ‘ड्रेस रिहर्सल' का काम करेगी क्योंकि कोहली विश्व कप से पहले अंतिम आकलन करना चाहेंगे.

यह भी पढ़ें: Pulwama Attack: देहरादून में अफगानी प्रशंसक ने लगाए पाकिस्तान विरोधी नारे

कोहली भी 2018 में शानदार प्रदर्शन के बाद रन जुटाना चाहेंगे. उन्होंने साल का अंत सभी प्रारूपों के 38 मैचों में 2735 रन बनाकर किया था. उन्होंने वनडे में 14 पारियों में 133.55 के लाजवाब औसत से 1202 रन बनाए थे और उन्होंने अपने स्कोर को छह बार शतक में और तीन बार अर्धशतकों में बदला था. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 13 टी20 में उनका औसत 61 रन रहा है, जिसमें से पांच अर्धशतक रहे हैं. एरोन फिंच की टीम ने तीन महीने पहले भारत के खिलाफ अंतिम श्रृंखला के बाद से टी20 मैच नहीं खेला है, लेकिन उनके छह खिलाड़ी बिग बैश लीग में खेलकर यहां पहुंचे हैं। बीबीएल फाइनल 17 फरवरी को खेला गया, जिसके प्लेयर आफ द टूर्नामेंट डार्सी शार्ट ने इस सत्र में होबार्ट हरिकेन्स के लिए 15 मैच में 53.08 के औसत से 637 रन जोड़े. वहीं केन रिचर्डसन गेंदबाजी में सबसे ऊपर रहे, जिन्होंने कुल 24 विकेट हासिल किए. दोनों टीमें इस प्रकार हैं:


ऑस्ट्रेलिया: एरोन फिंच (कप्तान), डार्सी शार्ट, पैट कमिंस, एलेक्स कारे, जेसन बेहरेनडोर्फ, नॉथन कल्टर नाइल, पीटर हैंड्सकोंब, उस्मान ख्वाजा, नाथन लियॉन, ग्लेन मैक्सवेल, जाय रिचर्डसन, केन रिचर्डसन, मार्कस स्टोइनिस, एशटन टर्नर और एडम जम्पा 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: एडिलेड टेस्ट में जीत  के बाद विराट कोहली प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान. 

भारत : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप कप्तान), लोकेश राहुल, शिखर धवन, ऋषभ पंत, दिनेश कार्तिक, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), क्रुणाल पंड्या, विजय शंकर, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव, सिद्धार्थ कौल और मयंक मार्कंडेय.