NDTV Khabar

IND vs AUS:...तो क्या विराट कोहली के 'इस फैसले' से चोटिल हो गए आर. अश्विन

पहले टेस्ट में अश्विन ने छह विकेट चटकाए थे. और उनकी गेंदबाजी की चौतरफ प्रशंसा हुई थी. एक बार तो क्रिकेटप्रेमी यह मानकर चल रहे थे कि अश्विन मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार भी जीत सकते हैं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs AUS:...तो क्या विराट कोहली के 'इस फैसले' से चोटिल हो गए आर. अश्विन

India tour of Australia, 2018-19: विराट और अश्विन की फाइल फोटो

खास बातें

  1. अश्विन के साथ-साथ रोहित शर्मा भी बाहर हुए
  2. पृथ्वी शॉ भी दूसरे टेस्ट में नहीं खेलेंगे
  3. रवींद्र जडेजा और भुवनेश्वर 13 सदस्यीय टीम में
पर्थ:

शुक्रवार से पर्थ में भारत और ऑस्ट्रेलिया ( India tour of Australia, 2018-19) के बीच शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट (AUS vs IND, 2nd Test)  में भारत के लिए मैच से पहले ही बुरी खबर आई, जब उसके दो अहम खिलाड़ी रोहित शर्मा और आर. अश्विन (R Ashwin is ruled out of the second Test) के 13 सदस्यीय टीम से बाहर होने की खबर आई. इन दोनों के बाहर होने से पर्थ में कितना फर्क टीम पर पड़ेगा, यह तो वक्त ही बताएगा, लेकिन  इन चोटों का पोस्टमार्टम जरूर हो गया है. रोहित शर्मा की चोट को लेकर क्रिकेटप्रेमियों में ज्यादा चर्जा नहीं है, लेकिन आर. अश्विन के इस तरीक से बाहर होने से टीम मैनेजमेंट पर जरूर उंगली उठाई जा रही है. और क्रिकेटपंडित भी खुलकर चर्चा कर रहे हैं कि आर. अश्विन की चोट के लिए कुछ हद तक कप्तान विराट कोहली का फैसला ही जिम्मेदार रहा. 

रोहित शर्मा को लेकर ज्यादा आलोचना इसलिए नहीं है कि आलोचक ही खुद अभी तक रोहित शर्मा से खुश नहीं हैं. जिस अंदाज में एडिलेड में रोहित पहली पारी में 37 रन बनाकर अपना विकेट फेंका, उसके चलते रोहित अभी तक आलोचकों दुश्मन बने हुए हैं. वहीं, दूसरी पारी में भी जरूरत के समय रोहित ज्यादा टिक कर बल्लेबाजी नहीं कर सके. लेकिन आर. अश्विन के दूसरे टेस्ट से बाहर होने के लेकर आलोचकों की त्योरियां चढ़ गई हैं. वीरवार को ही बीसीसीआई ने मेल जारी कर तीन खिलाड़ियों पृथ्वी शॉ, आर. अश्विन और रोहि शर्मा के दूसरे टेस्ट से बाहर होने के बारे में जानकारी दी. 

यह भी पढ़े:  हरमनप्रीत कौर के समर्थन के बाद पोवार ने महिला कोच पद के लिए फिर आवेदन किया, यह है कारण..


पहले टेस्ट में अश्विन ने छह विकेट चटकाए थे. और उनकी गेंदबाजी की चौतरफ प्रशंसा हुई थी. एक बार तो को क्रिकेटप्रेमी यह मानकर चल रहे थे कि अश्विन मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार भी जीत सकते हैं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. इससे अलग क्रिकेटप्रेमियों की नजरें अब इस ओर हो चली थीं कि अश्विन कुछ ऐसा ही प्रदर्शन पर्थ में भी करेंगे, लेकिन वीरवार को खबर ने करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों सहित टीम मैनेजमेंट को भी जोरदार झटका दिया. और अब क्रिकेटप्रेमी कह रहे हैं कि आर. अश्विन की जो हालत हुई, तो  वह विराट कोहली के फैसले के चलते हुई. क्रिकेटप्रेमियों का कहना है कि चलिए विराट कोहली चार गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतरने को छोड़ देते हैं क्योंकि भारत ने शानदार जीत हासिल की.

VIDEO: जानिए कि ऑस्ट्रेलिया रवाना होने से पहले विराट के विचार क्या थे. 

टिप्पणियां

लेकिन इस कोशिश में आर. अश्विन पर बहुत ही ज्यादा बोझ लाद दिया गया.  जहां अश्विन ने पहली पारी में सबसे ज्यादा 34 ओवर फेंके, तो दूसरी पारी में भी इस ऑफ स्पिनर से विराट कोहली ने बाकी गेंदबाजों से करीब दोगुना 52 ओवर फिंकवाए. दूसरी पारी में किसी गेंदबाज ने अश्विन के आधे ओवर भी नहीं फेंके. दूसरे नंबर पर बुमराह थे, जिन्होंने 24 ओवर फेंके. अब समीक्ष सहित सभी यह कह रहे हैं कि दोनों पारियों में करीब 75 ओवर फिंकवाना अश्विन को चोट दे  गया. 

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement