Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

Ind vs Aus: स्‍लेजिंग को लेकर विराट कोहली बोले, सीमा नहीं लांघेंगे लेकिन सीरीज रोचक भी होनी चाहिए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Ind vs Aus: स्‍लेजिंग को लेकर विराट कोहली बोले, सीमा नहीं लांघेंगे लेकिन सीरीज रोचक भी होनी चाहिए

विराट कोहली की टीम को सीरीज में जीत का दावेदार माना जा रहा है

खास बातें

  1. बोले, मैं नहीं चाहता कि खिलाड़ी बिना जज्‍बात के उतरे
  2. गुरुवार से खेला जाना है दोनों देशों के बीच पहला टेस्‍ट
  3. सीमा पार भले न हो लेकिन नोकझोंक तो हो सकती है
एडिलेड:

टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने यकीन जताया है कि भारत या ऑस्‍ट्रेलिया (India vs Australia) मैदान पर बर्ताव के मामले में इस बार ‘सीमा' नहीं लांघेंगे लेकिन यह भी कहा कि वह यह नहीं चाहते कि खिलाड़ी जज्बात के बिना मैदान पर उतरें. दोनों देशों के बीच चार टेस्‍ट की सीरीज (Test series) का पहला मैच गुरुवार से यहां खेला जाना है. कोहली ने कहा,‘मुझे नहीं लगता कि अतीत में जो हुआ, वह फिर होगा जब दोनों टीमों ने सीमा लांघी थी. क्रिकेट प्रतिस्पर्धी खेल है और आखिर में यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट है, ऐसे में हम यह भी नहीं चाहते कि खिलाड़ी बस आएं, गेंदबाजी करें और चले जाएं.' भारतीय कप्तान ने संकेत दिया कि आचार संहिता का उल्लंघन किए बिना नोकझोंक (Sledging) हो सकती है. उन्होंने कहा,‘कई बार ऐसे मौके होंगे जब बल्लेबाज दबाव में होंगे. उस समय सीमा भले ही पार नहीं हो लेकिन उसके बिना भी नोकझोंक हो सकती है. यह होगा लेकिन उस स्तर पर नहीं जैसे अतीत में होता रहा है.'

विराट कोहली और टिम पेन ने एडिलेड टेस्‍ट के लिए टीम की घोषित, जानें किसे दिया स्‍थान

क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया (CA)ने गेंद से छेड़खानी (Ball Tampering) विवाद के बाद निष्पक्ष समीक्षा कराई थी और ऑस्‍ट्रेलियाई टीम अब अपने बर्ताव में सुधार करने में लगी हैं.यह पूछने पर कि क्या ऑस्‍ट्रेलियाई टीम नकारात्मक सोच के साथ उतरेगी, विराट ने 'नहीं' में जवाब दिया. विराट ने कहा,‘मुझे नहीं लगता कि इस तरह के वाकये के बाद कोई टीम पूरी तरह से नकारात्मक होकर खेलेगी. सीरीज प्रतिस्पर्धी होगी. यदि हालात आपके अनुरूप है और सामने अहम खिलाड़ी है तो आप उसे आउट करने की पूरी कोशिश करेंगे. ऐसे में भाव भंगिमा या भाषा पर इसका असर दिख सकता है.'उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि दोनों टीमों में इतने प्रतिभाशाली खिलाड़ी है कि अपने खेल के आधार पर ही जीत सकते हैं, इसकी जरूरत ही नहीं पड़ेगी.

India Vs Australia: ऑस्‍ट्रेलिया में यह उपलब्धि हासिल करने से महज 8 रन दूर हैं विराट कोहली..

दूसरी ओर, ऑस्‍ट्रेलियाई टीम के कप्तान टिम पेन (Tim Paine) ने कहा कि उनके लिये मैच जीतना और दिल जीतना एक-दूसरे से अलग चुनौतियां नहीं है. पेन ने कहा कि ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने उन पहलुओं को पहचान लिया है जिनमें सुधार की जरूरत है.उन्होंने कहा,‘हम मैच भी जीतना चाहते हैं और दिल भी. हम जीतने के लिए ही खेलते हैं और हमने समझ लिया है कि कुछ पहलुओं पर काम करने की जरूरत है. देशवासियों से सम्मान पाना भी उतना ही जरूरी है जितना कि जीतना.'

वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और विराट में यह बात है कॉमन

उन्होंने कहा,‘मैंने अभी रिकी पोंटिंग से बात की और हमने पिछले कुछ साल में ऑस्‍ट्रेलियाई टेस्ट कप्तानों का जिक्र किया.उनकी जमात में खुद को शामिल करना काफी चुनौतीपूर्ण है.' पेन ने कहा,‘मैं इसे सरल रखना चाहता हूं. ऑस्‍ट्रेलिया की कप्तानी करना गर्व की बात है लेकिन मैं इससे बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं होना चाहता.'ऑस्‍ट्रेलियाई टीम में चार तेज गेंदबाजों को जगह दी गई है. इस बारे में पेन ने कहा,‘जोश हेजलवुड और पैट कमिंस की वापसी अच्छी बात है. ऑस्‍ट्रेलिया में खेलने का तरीका यूएई से एकदम अलग होगा. हम खेल में बहुत बदलाव नहीं करेंगे. रणनीति थोड़ी अलग होगी.'उपकप्तान और हरफनमौला मिचेल मार्श खराब फॉर्म की वजह से टीम में नहीं है और उन्हें शेफील्ड शील्ड खेलने के लिये छोड़ दिया जाएगा. पेन ने कहा,‘हम सभी को पता है कि वह कितना प्रतिभाशाली है. वह सीरीज में वापसी करेंगे. हम मिचेल मार्श को शेफील्ड शील्ड भेज रहे हैं ताकि उनका अभ्यास जारी रहे.' (इनपुट: एजेंसी)

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... धर्म साबित करने के लिए 'रुद्राक्ष' दिखाया, जान बचाने के लिए गिड़गिड़ाया - अब ऐसी हो गई है दिल्ली

Advertisement