IND vs ENG: अब अनुष्का शर्मा विवाद में 'यह सफाई' दी बीसीसीआई ने

IND vs ENG: अब अनुष्का शर्मा विवाद में 'यह सफाई' दी बीसीसीआई ने

India tour of England 2018: यही वह फोटो है, जिसे देखते ही ट्रोलर्स तरह-तरह के सवाल पूछ रहे थे

खास बातें

  • किसी प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं हुआ-बीसीसीआई
  • हाई कमिश्नर और उनकी पत्नी ने अनुष्का शर्मा को आमंत्रित किया था
  • रहाणे अपनी मर्जी से पीछे खड़े थे, उन्हें कहा नहीं गया-सूत्र
लंदन:

बुधवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने  भारतीय उच्चायुक्त द्वारा टीम इंडिया को दिए गए भोज में विराट कोहली के साथ अग्रिम पंक्ति में अनुष्का शर्मा के खड़े होने के चलते पैदा हुए विवाद के बाद अब अपनी ओर से सफाई दी है. बीसीसीआई ने जैसे ही अपने ट्विटर हैंडल पर यह फोटो जारी किया, तो ट्रोलर्स इस पर बुरी तरह से टूट पड़े. इन लोगों ने अनुष्का की उपस्थिति पर अलग-अलग सवाल उठाते हुए बीसीसीआई की विश्वसनीयता पर सवाल उठाए, तो बोर्ड को अब सफाई के लिए आगे आना पड़ा. 

बीसीसीआई को ट्रोलर्स से कुछ ऐसे सवालों का सामना करना पड़ा था कि अनुष्का शर्मा कैसे विराट कोहली के साथ आगे खड़ी हैं, जबकि उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे पिछली पंक्ति में क्यों खड़े हैं. वहीं, इन ट्रोलर्स ने यह भी सवाल उठाया कि भारतीय हाई कमीशन ने बाकी खिलाड़ियों की पत्नी या गर्लफ्रेंड को क्यों भोज पर आमंत्रित नहीं किया..वगैरह..वगैरह. हालांकि, अब बोर्ड की तरफ से मामले पर सफाई दी है कि खिलाड़ियों को उनकी पत्नियों सहित आमंत्रित करने के मामले में कोई भी आधिकारिक प्रोटोकॉल नहीं टूटा है. 

यह भी पढ़ें: IND vs ENG: अब अनुष्का शर्मा विवाद में 'यह सफाई' दी बीसीसीआई ने

वहीं भारतीय उच्चायुक्त के सूत्रों ने स्पष्ट करते हुए कहा कि हाई कमीशन और उनकी पत्नी द्वारा अनुष्का शर्मा को डिनर के लिए आमंत्रित किया गया था.वहीं इस सूत्र ने यह भी कहा कि रहाणे को पीछे की पंक्ति में खड़े होने के लिए नहीं कहा गया था. रहाणे खुद अपनी मर्जी से पीछे की पंक्ति में खड़े हुए. उन्होंने कहा कि अनुष्का शर्मा भारतीय टीम को दिए गए भोज में हाई कमीश्नर और उनकी पत्नी के निमंत्रण पर शामिल हुई थीं. इस भोज का आयोजन उच्चायुक्त और उनकी पत्नी द्वारा दिया गया था, उच्चायोग द्वारा नहीं. सूत्र ने कहा कि इस भोज का आयोजन हाई कमिश्नर के घर पर था न कि कार्यालय पर. 

VIDEO: सुनिए अजय रात्रा क्या कह रहे हैं विराट कोहली के बारे में.

दूसरी ओर, बीसीसीआई के सूत्र ने मामले ने पर कहा कि जब भी भारतीय टीम विदेशी दौर पर जाती है, तो भारतीय उच्चायोग द्वारा डिनर पर मुलाकात के लिए बुलाना एक तरह से सामान्य मानदंड सा बन गया है. भारतीय उच्चायोग खिलाड़ियों को अपने परिवार और रिश्तेदारों के साथ निमंत्रण देता है. और यह पूरी तरह से खिलाड़ी पर है कि वह अपने साथ किसे लेकर जाता है. अथवा नहीं लेकर जाता है. लंदन में भी खिलाड़ियों को अपने परिवार के साथ आमंत्रित किया गया और यहां भी प्रोटोकॉल का कोई उल्लंघन नहीं हुआ है. 


 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com