Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

IND vs NZ 1st Semifinal: इन चार 'बड़े कारणों' के चलते हुई भारत की सेमीफाइनल में हार

IND vs NZ 1st Semifinal: इन चार 'बड़े कारणों' के चलते हुई भारत की सेमीफाइनल में हार

भारत बनाम न्यूजीलैंड: रवींद्र जडेजा का साहसिक प्रयास बेकार चला गया

खास बातें

  • खराब बल्लेबाजी बनी भारत की हार का कारण
  • जरूरत पर सितारे जमीं पर!
  • बेकार गई रवींद्र जडेजा की बेहतरीन कोशिश
मैनचेस्टर:

इंग्लैंड में जारी वर्ल्ड कप (World Cup 2019) के पहले सेमीफाइनल में (India vs New Zealand) में न्यूजीलैंड ने करोड़ों भारतीयों का सपना चूर करते हुए खिताब की प्रबल दावेदार टीम इंडिया (Team India) को 18 से हराकर उसका वर्ल्ड कप से बोरिया बिस्तर बांध दिया. किसी  ने भी ऐसी उम्मीद नहीं की थी कि इस नॉकआउट मुकाबले में भारत का प्रदर्शन कुछ ऐसा रहेगा, लेकिन महान अनिश्चितताओं के खेल में कीवी टीम ने अनहोनी करते हुए भारत को नॉकआउट कर दिया. चलिए  लीजिए कि क्या वे चार बड़े कारण, जिन्होंने टीम इंडिया को वर्ल्ड कप से बाहर का रास्ता दिखा दिया. 

1. पूरी तरह खराब शुरुआत 

पिछले दो लगातार मैचों में डेढ़ से ज्यादा रन की साझेदारी करने वाले केएल राहुल और रोहित शर्मा सबसे बड़े मौके पर बुरी तरह नाकाम रहे. दोनों ही ओपनर दहाई का भी आंकड़ा नहीं छू सके. मैट हेनरी ने इन दोनों का बल्ला खुलने से पहले ही बंद कर दिया . और भारत का स्कोर 2 विकेट पर पांच रन हो गया. वैसे अगर रोहित और राहुल में से एक भी चलता, तो इसका परिणाम पर एक बार को असर पड़ता, लेकिन दोनों में से एक भी बड़े मौके पर नहीं ही चला. 

यह भी पढ़ें: ...और इस प्रदर्शन ने खोल दी विराट कोहली की वर्ल्ड कप नॉकआउट मैचों में पोल

2. विराट कोहली की नाकामी 
ज्यादातर मैचों में यही होता आया है कि जब-जब भारत की शुरुआत खराब रही, तब-तब कप्तान विराट कोहली ने आगे आकर जिम्मेदारी निभाई. लेकिन सबसे जरूरत के मौके पर लगातार पांच अर्द्धशतक बनाने वाले विराट कोहली  इस बार जमकर नहीं खेल सक. लेफ्टआर्म सीमर बोल्ट ने विराट को जमने से पहले ही आउट कर टीम इंडिया को ऐसा जोर का झटका दिया कि भारत दिल कर रह गया. 

3. ऋषभ पंत और पंड्या के गैरजरूरी स्ट्रोक

आक्रामक शैली से बल्लेबाजी करने वाले युवा ऋषभ पंत और हार्दिक पंड्या ने मुश्किल लम्हों को पार कर लिया था. मतलब उन्होंने शुरुआती चुनौती को भेदते हुए विकेट पर जमकर 32-32 रन का योगदान दिया. लेकिन सबसे पहले ऋषभ पंत ने पूरी तरह से गैरजिम्मेदारना स्ट्रोक खेला, तो उनके बाद में हार्दिक पंड्या. जहां जमीनी स्ट्रोक और फील्डरों के बीच गैप से रन बनाए जा सकते थे,  वहां इनके घटिया स्ट्रोक टीम की हार की वजह बने. अगर ये जमकर बैटिंग करते, तो निश्चित ही इसका परिणाम पर असर पड़ा. 

यह भी पढ़ें: कुछ ऐसे वीरेंद्र सहवाग ने उड़ाया डकवर्थ लुईस नियम का मजाक

4. धोनी का देर से अटैक करना

यह सही है कि धोनी ने संभवत: अपने आखिरी वर्ल्ड कप के मुकाबले में 72 गेंदों पर 50 रन की पारी खेली, लेकिन इतना देरी से उन्होंने अटैक करना शुरू किया, यह समझ से परे रहा. अगर धोनी दो या तीन ओवर पहले अटैक करते, तो कौन जानता है कि यह पहलू मैच के परिणाम पर असर डालता. 

VIDEO: मंगलवार को बारिश ने पूरे दिन के खेल पर पानी फेर दिया 

टीम इंडिया के सेमीफाइनल से पहले के प्रदर्शन को देखते हुए यह भारत के लिए बड़ा मौका था, लेकिन दिग्गज बल्लेबाजों की सबसे जरूरत के मौके पर नाकामी टीम इंडिया की हार की सबसे बड़ी वजह बन गई.