Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

IND vs NZ 2nd ODI: अब ऑकलैंड में टीम विराट के पास है एक ही विकल्प

India vs New Zealand 2nd ODI: भारतीय टीम को अपनी फील्डिंग भी सुधारनी होगी क्योंकि रॉस टेलर का कैच छोड़ना उसे महंगा पड़ा था. फील्डिंग कोच आर. श्रीधर स्वीकार कर चुके हैं कि भारतीय टीम इस मामले में स्तरीय नही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs NZ 2nd ODI: अब ऑकलैंड में टीम विराट के पास है एक ही विकल्प

India vs New Zealand 2nd ODI: भारतीय बेसब्री से इस मैच का इंतजार कर रहे हैं

खास बातें

  1. सीरीज का दूसरा मुकाबला शनिवार को
  2. सुबह 7: 30 बजे से शुरू होगा मुकाबला
  3. टीम इंडिया इलेवन हमारे सूत्रों के हवाले से पढ़ लीजिए!

विशाल स्कोर खड़ा करने के बाद भी भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए पहले वनडे में हार मिली थी. अब दोनों टीमें शनिवार को ऑकलैंड में ईडन पार्क मैदान पर दूसरे वनडे (IND vs NZ 2nd ODI) में आमने-सामने होंगी. भारत के पास सीरीज बचाने के लिए जीत ही विकल्प है जबकि कीवी टीम किसी भी कीमत पर नहीं चाहती होगी कि आखिरी मैच निर्णायक बने. सेडन पार्क में भारत ने 347 रनों का स्कोर खड़ा किया था और न्यूजीलैंड इसे हासिल भी कर लिया था. इसी के साथ न्यूजीलैंड ने 1-0 की बढ़त ले ली थी. पहले वनडे में भारत की गेंदबाजी कमजोर रही थी जो विशाल स्कोर का बचाव नहीं कर पाई थी. कुलदीप यादव और रवींद्र जडेजा ने जमकर रन लुटाए थे तो वहीं अनुभवी रॉस टेलर के सामने मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह भी कुछ नहीं कर पाए थे.

यह भी पढ़ें:  कुछ ऐसे अनिल कुंबले ने 21 साल पहले पाकिस्तान को किया था पस्त, परफेक्ट टेन VIDEO


टेलर ने नाबाद रहते हुए टीम को जीत दिलाई थी. उन्हें इसमें हेनरी निकोलस, कार्यवाहक कप्तान टॉम लैथम का भी अच्छा साथ मिला था यह लैथम और टेलर की जोड़ी ही थी जिसने मध्य के ओवरों में बेहतरीन बल्लेबाजी कर भारत की गिरफ्त से मैच छीन लिया था. इन दोनों बल्लेबाजों ने मार्टिन गप्टिल और निकोलस द्वारा दी गई बेहतरीन शुरुआत पर पारी बुनी थी. भारतीय गेंदबाजों के लिए यह चारों एक बार फिर सिरदर्द बन सकते हैं. भारतीय कप्तान विराट कोहली और टीम प्रबंधन निश्चित तौर पर पहले मैच से सीख नई रणनीति के साथ उतरेंगे. गेंदबाजी में कुछ बदलाव भी हों तो आश्चर्य नहीं होगा.

यह भी पढ़ें: IND vs NZ: इसलिए केएल राहुल को नहीं मिली टेस्ट टीम में जगह, सूत्रों ने किया खुलासा

वहीं, भारतीय बल्लेबाजी की बात की जाए तो श्रेयस अय्यर, कोहली और लोकेश राहुल फॉर्म में हैं. अय्यर ने जहां अपने करियर का पहला शतक लगा बताया था कि नंबर-4 बल्लेबाजी करने की काबिलियत उनमें हैं. वहीं राहुल ने नंबर-5 पर अपनी उपयोगिता सिद्ध की. कोहली हालांकि एक बार फिर अर्धशतक को शतक में नहीं बदल पाए थे. वहीं पहले मैच में भारत ने पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल की नई सलामी जोड़ी को मौका दिया था. दोनों ने टीम को सधी हुई शुरुआत दी थी लेकिन बड़ी पारी में उसे तब्दील नहीं कर पाए थे. इन दोनों से एक बार फिर टीम को सधी हुई शुरुआत की उम्मीद होगी. कुल मिलाकर भारत के पास यहां जीत के अलावा कोई भी विकल्प नहीं है.

यह भी पढ़ें: इस फाइनल इलेवन के साथ विराट कोहली दूसरे वनडे में उतरेंगे, दो बदलाव तय

अगर ऑकलैंड में भी हार गए, तो कीवी गेंदबाजों के सामने भी वही चुनौती है जो भारतीय गेंदबाजों के सामने है, रनों के बहाव को रोकने की. भारतीय टीम को अपनी फील्डिंग भी सुधारनी होगी क्योंकि रॉस टेलर का कैच छोड़ना उसे महंगा पड़ा था. फील्डिंग कोच आर. श्रीधर स्वीकार कर चुके हैं कि भारतीय टीम इस मामले में स्तरीय नही है. पहले मैच में मेजबान टीम के गेंदबाजों ने भी जमकर रन लुटाए थे. ईडन पार्क मैदान पर एक बार फिर रनों का पहाड़ देखा जा सकता है. यहां की बाउंड्रीज छोटी हैं और दोनों टीमें यहां टी-20 मैच खेल चुकी हैं, जिसमें रन बने थे. दोनों देशों के संभावित टीमें इस प्रकार हैं: 

भारत : विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, पृथ्वी शॉ, लोकेश राहुल (विकेटकीपर), जसप्रीत बुमराह, युजवेंद्र चहल, शिवम दुबे, श्रेयस अय्यर, रवींद्र जडेजा, केदार जाधव, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, मनीष पांडे, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), नवदीप सैनी और शार्दूल ठाकुर.

टिप्पणियां

VIDEO:  पिंक बॉल बनने की कहानी, स्पेशल स्टोरी

न्यूजीलैंड : टॉम लैथम (कप्तान), हामिश बेनेट, टॉम ब्लंडल (विकेटकीपर), कोलिन डि ग्रांडहोम, मार्टिन गप्टिल, काइल जैम्सन, स्कॉट कुगलेजिन, जेम्स नीशम, हेनरी निकोलस, मिशेल सैंटनर, ईश सोढी, टिम साउदी और रॉस टेलर.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का विवादित बयान, कहा- 1947 में ही सभी मुसलमानों को पाकिस्तान भेज देना चाहिए था

Advertisement