IND vs RSA, 1st Test: इन बातों ने मुश्किल भारत में Dean Elgar की बल्लेबाजी को आसान बना दिया, शतकवीर बल्लेबाज ने स्वीकारा

IND vs RSA, 1st Test: इन बातों ने मुश्किल भारत में Dean Elgar की बल्लेबाजी को आसान बना दिया, शतकवीर बल्लेबाज ने स्वीकारा

IND vs RSA, 1st Test, Day 3: Dean Еlgar की यह पारी दक्षिण अफ्रीकियों को भरोसा देगी

खास बातें

  • डीन एल्गर ने बनाए 160 रन
  • डीन ने 287 गेंद खेलीं, 18 चौके, 4 छक्के
  • करियर का 12वां शतक जड़ा एल्गर ने
विशाखापट्टनम:

भारत के साथ यहां जारी पहले टेस्ट मैच (IND vs RSA, 1st Test) के तीसरे दिन (3rd Day) शुक्रवार को शानदार शतक लगाकर दक्षिण अफ्रीका को मुश्किल से उबारने वाले सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर ने (Dean Elgar) माना है कि भारत में खेलना आसान नहीं है है. एल्गर ने तीसरे दिन शुक्रवार को मुश्किल हालात का सामना करते हुए 287 गेंदों का सामना कर 160 रनों की नायाब पारी खेली. अपनी इस पारी के दौरान एल्गर ने फैफ डु प्लेसिस (55) और क्विंटन डी कॉक (111) के साथ बहुमूल्य साझेदारियां कर अपनी टीम को न सिर्फ फॉलोऑन से बचाया बल्कि अच्छी स्थिति में भी पहुंचा दिया है. हालांकि, यह बात अलग है कि दक्षिण अफ्रीका ने आठ विकेट गंवा दिए और भारत अभी भी 117 रन की बढ़त पर है. 

यह भी पढ़ें:  इसलिए Sunil Gavaskar ने R. Ashwin को लेकर नाखुशी जाहिर की

तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद एल्गर ने कहा कि भारतीय हालात में खेलना काफी कठिन है और भारत में अपने पिछले अनुभव के दम पर वह अपनी टीम के लिए मददगार पारी खेलने में सफल रहे. एल्गर ने कहा, "टीम के लिए एक बार फिर योगदान देकर अच्छा लगा. भारत में खेलना काफी कठिन है. 

यह भी पढ़ें: जो Ravindra Jadeja ने किया, वह 142 साल के टेस्ट इतिहास में कोई लेफ्टआर्म बॉलर नहीं कर सका

मैं यहां अंतिम बार खेला था और काफी अनुभव हासिल किया था. चार साल में मैं एक खिलाड़ी के तौर पर परिपक्व हुआ हूं. इस दौरान मैंने काउंटी खेली है और इससे मुझे काफी फायदा हुआ है" और वास्तव में एल्कर ने न केवल 160 रन बनाए, बल्कि यह स्पिनरों के खिलाफ काफी मुश्किल पिच पर एक अच्छी और परिपक्व पारी रही. 

VIDEO:  धोनी के संन्यास पर युवा क्रिकेटरों के विचार जान  लीजिए. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

एल्गर ने अपनी पारी के दौरान अच्छा साथ देने वाले टी-20 टीम के कप्तान क्विंटन डि कॉक की तारीफ की और कहा, "मैं क्विनी के लिए काफी खुश हूं. वह एक जीनियस हैं. मैं हैरान नहीं हूं कि वह यहां शतक लगाने में सफल रहे. मेरी नजर में यह क्विनी के शानदार करियर की शुरुआत है"