Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

IND vs RSA, 2nd Test: यहां तो Virat kohli महान Gavskar और Richards से आगे निकल गए...और बन गए केवल सातवें भारतीय

IND vs RSA, 2nd Test: यहां तो Virat kohli महान Gavskar और Richards से आगे निकल गए...और बन गए केवल सातवें भारतीय

Virat Kohli ने दस पारियों के बाद कोई शतक जड़ा है

खास बातें

  • Virat Kohli पर रिकॉर्डों की बारिश
  • पुणे में Virat Kohli ने जड़ा 26वां शतक
  • करियर का सातवां दोहरा शतक रहा Virat Kohli का
पुणे:

पुणे में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी दूसरे टेस्ट (IND vs RSA, 2nd Test) के दूसरे दिन (India vs South Africa) भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के दोहरे शतक के साथ ही कई रिकॉर्ड उनकी झोली में आ गिरे. काफी हम पहले से ही आपको गिनवा चुके हैं. बहरहाल, इस रिकॉर्ड पारी के साथ ही विराट कोहली (Virat Kohli) के टेस्ट करियर के रनों का मीटर भी बहुत ही तेजी से आगे बढ़ा है. और इस गति में कोहली ने दिग्गज सुनील गावस्कर और सर विव रिचर्ड्स जैसे बल्लेबाजों को भी पीछे छोड़ दिया. 

यह भी पढ़ें:  विराट कोहली ने बनाया 26वां टेस्ट शतक, स्टीव स्मिथ और गैरी सोबर्स के बराबर पहुंचे...

रिकॉर्ड के बारे में विस्तार से बताने से पहले बता दें कि करियर का 26वां शतक बनाने के साथ ही विराट कोहली ने पुणे में अपने टेस्ट करियर के सात हजार रन भी पूरे कर लिए. और अब विराट यह कारनामा करने वाले भारत के सिर्फ सातवें बल्लेबाज बन गए हैं. उनसे पहले सचिन तेंदुलकर (15,921), राहुल द्रविड़ (13265), सुनील गावस्कर (10122), वीवीएस लक्ष्मण (8781), वीरेंद्र सहवाग (8503) और सौरव गांगुली (7212) ही इस कारनामे को अंजाम दे सकते हैं. 

यह भी पढ़ेंMayank Agarwal यह धमाल करने वाले Virendra Sehwag के बाद सिर्फ दूसरे भारतीय बल्लेबाज

इसी सात हजार से जुड़ा है दूसरा रिकॉर्ड. और यह है सबसे तेज सात हजार रन बनाने का. इस मामले में विराट ने गावस्कर और रिचर्डस को पीछे खिसका दिया है. बता दें कि कि गावस्कर और रिचर्ड्स दोनों ने ही अपने टेस्ट करियर के 7000 रन पूरा करने के लिए 140 पारियां ली थीं, जबकि राहुल द्रविड़ ने यह कारनामा 141 पारियों में किया था. 

VIDEO:  दूसरे टेस्ट से पहले विराट कोहली प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान. 

लेकिन विराट कोहली ने गावस्कर और रिचर्ड्स को दो-दो और राहुल द्रविड़ को तीन पारियों से पीछे छोड़ दिया है. कोहली ने कारनामा 138 पारियों में ही कर डाला. वैसे इस मामले में सबसे ऊपर सर वॉली हैमंड हैं, जिन्होंने यह आंकड़ा सिर्फ 131 पारियों में छू लिया था.