NDTV Khabar

IND VS SA 1st T20: इस कारण जोहानिसबर्ग में मंडरा रहा 'विजयी परंपरा' पर बड़ा खतरा

सवाल यही है कि क्या यह 'मिथक' भारत के खिलाफ मेजबान टीम को कामयाबी दिलाएगा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND VS SA 1st T20: इस कारण जोहानिसबर्ग में मंडरा रहा 'विजयी परंपरा' पर बड़ा खतरा

दक्षिण अफ्रीका टीम का फाइल फोटो

खास बातें

  1. जोहानिसबर्ग में चार वार, दक्षिण अफ्रीका फिर करेगा मंजिल पार
  2. जोहानिसबर्ग में अलग-अलग टीमों ने मिलकर बना दी 'परंपरा'
  3. दिग्गज नहीं हैं साथ, एबी की भी पड़ी मार!
नई दिल्ली: जोहानिसबर्ग में भारत के खिलाफ पहले टी-20 मुकाबले में जेपी डुमिनी ने टॉस जीतने के बाद अगर पहले बल्लेबाजी चुनी, तो उसके पीछे विजय परंपरा तो रही ही, बल्कि एक और बड़ा कारण रहा, जिसने मेजबान कप्तान को हिम्मत दी. लेकिन बावजूद इसके विराट कोहली के वीरों के खिलाफ पहले टी-20 में जोहानिसबर्ग की इस विजयी परंपरा पर बहुत ही बड़ा खतरा मंडरा रहा है. दरअसल इस मैदान पर खेले गए पिछले चार लगातार मैचों में लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम ने जीत दर्ज की. मेजबान दक्षिण अफ्रीकी टीम ने इसी मैदान पर  इंग्लैंड के खिलाफ 172 रन का टारगेट हासिल किया, तो ऑस्ट्रेलिया टीम ने ही उसके खिलाफ 205 रन का सफलतापूर्वक पीछा किया था. वहीं श्रीलंका ने भी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 114 रन का सफलतापूर्वक पीछा कर जीत दर्ज की थी. 

यह भी पढ़ें : IND VS SA 1St T20: मैच से पहले दक्षिण अफ्रीका को बड़ा झटका, एबी डि विलियर्स पूरी सीरीज से हुए बाहर

टिप्पणियां
लेकिन इस हौसले की सबसे बड़ी वजह बना विंडीज के खिलाफ खेला गया मुकाबला. कारण यह रहा  कि विंडीज ने इसी मैदान पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 232 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत दर्ज की थी. विंडीज के इसी रिकॉर्ड जीत ने जेपी डुमिनी को टॉस जीतकर पहले बल्ला थामने का साहस दिया. दरअसल इस मैदान पर लक्ष्य का पीछा कर हासिल की गई लगातार चार जीतों में एक जीत दक्षिण अफ्रीका ने भी दर्ज की. और यह भी सही है कि विंडीज ने यहां लक्ष्य का पीछा करते हुए 232 जैसे विशाल स्कोर का आंकड़ा छू लिया,

VIDEO : सेंचुरियन में शतक बनाने के बाद विराट कोहली

लेकिन अब जब एक बार फिर एबी डि विलियर्स सहित दक्षिण अफ्रीका के प्रमुख स्टार बल्लेबाज चोट के कारण सीरीज से बाहर हो गए हैं, तो उसके लिए अलग-अलग टीमों द्वारा चार मैचों में लक्ष्य का पीछा कर दर्ज कर गई जीत में एक और विजय जोड़ना तब तक बहुत ही मुश्किल नजर आ रहा है, जब तक मैच का रिजल्ट नहीं आ जाता. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement