IND vs SA, 2nd Test: इसलिए दूसरे टेस्ट से पहले Pune की Pitch बन गई गहन चर्चा का विषय

IND vs SA, 2nd Test: इसलिए दूसरे टेस्ट से पहले Pune की Pitch बन गई गहन चर्चा का विषय

Ind Vs SA Pune Test Match: टीम इंडिया सीरीज में 2-0 की बढ़त लेने के इरादे से उतरेगी

खास बातें

  • वीरवार से दक्षिण अफ्रीका के साथ दूसरे टेस्ट मैच
  • भारत के पास सीरीज में 1-0 की बढ़त
  • इस मैदान पर अभी तक खेला गया है सिर्फ एक ही टेस्ट
पुणे:

भारत और दक्षिण अफ्रीका (IND vs SA) के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच (IND vs SA, 2nd Test)पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट संघ (एमसीए) स्टेडियम में वीरवार से खेला जाएगा. यह इस मैदान पर दूसरा ही टेस्ट मैच होगा, लेकिन सभी की नजरें इस स्टेडियम की पिच पर हैं. सभी बेसब्री से देखना चाहते हैं कि पुणे की विकेट कैसा खेलती है? यह सवाल क्यों उठ रहा है, इसके लिए अतीत में जाना जरूरी है. इस मैदान पर पहला और अभी तक का इकलौता टेस्ट मैच 23 फरवरी, 2017 में खेला गया था, लेकिन सिर्फ तीन दिन यानी 25 फरवरी को ही खत्म हो गया था.लेकिन बात तीन दिन में मैच खत्म होने की नहीं है, बल्कि इस मैच में विकेट का जो व्यवहार रहा था उसकी है. पिच ने स्पिनरों की खूब मदद की थी और नतीजा यह रहा था कि ऑस्ट्रेलिया के स्टीव ओ कीफ भारत के रवीचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा पर हावी रहते हुए अपनी टीम को जीत दिला ले गए थे.

भारत ने 2017 में इस मैदान पर खेले गए मैच की पहली पारी में सिर्फ 105 और दूसरी पारी में सिर्फ 107 रन बनाए थे. स्टीव ओ कीफ ने दोनों पारियों में छह-छह विकेट लिए थे. अश्विन ने पहली पारी में तीन और दूसरी पारी में चार विकेट लिए थे. जडेजा ने पहली और दूसरी पारी में क्रमश: दो और तीन विकेट लिए थे.

यह भी पढ़ें:  Virat Kohli ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप को और रोमांचक बनाने के लिए दिया यह सुझाव...

तीन दिन में मैच जीत कर आस्ट्रेलिया ने सीरीज में अपनी मौजूदगी दर्ज कराई थी, लेकिन इस पिच को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने 'खराब' पिच का दर्जा दिया था. अब यह मैदान अपना दूसरा मैच आयोजित करने को तैयार है. ऐसे में एक बार फिर सवाल यह है कि क्या पिच एक बार फिर स्पिनरों की मददगार रहेगी या पहले जो हुआ उससे सीख लेते हुए मैदानकर्मी बेहतर पिच बनाएंगे? पिच के संबंध में आईएएनएस ने जब इस स्टेडियम के पिच क्यूरेटर पांडुरंग सलगांवकर से फोन पर बात करनी चाही तो पता चला कि वह अपना मोबाइल घर पर ही भूल गए हैं. यह वही सलगांवकर हैं, जिन्हें एक स्टिंग ऑपरेशन में पकड़ा गया था और फिर एमसीए तथा आईसीसी ने उन्हें छह महीने के लिए प्रतिबंधित कर दिया था.

यह भी पढ़ें:  कमर की सर्जरी के बाद रिकवरी कर रहे हरफनमौला Hardik Pandya, देखें VIDEO..

निश्चित ही पिच क्यूरेटर नहीं चाहेंगे कि उनके द्वारा बनाई गई पिच लगातार दूसरी बार किसी तरह के विवादों में आए. पिच के निर्माण में वह बेशक एहतियात बरतना चाहेंगे और कोशिश करेंगे कि आईसीसी के मापदंडों को ध्यान में रखते हुए पिच का निर्माण करें. बहरहाल, जहां एक तरफ नजरें पिच के व्यवहार को जानने को व्याकुल हैं, वहीं मौसम भी लुका-छुपी खेल सकता है. मंगलवार को पुणे में बारिश हुई है और बुधवार सुबह भी बारिश पड़ी है. मीडिया रिपोटर्स के मुताबिक, मौसम विभाग ने भी अगले दो-तीन दिनों तक बारिश की आशंका जताई है.

VIDEO: दूसरे टेस्ट से पहले विराट कोहली प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान

बता दें कि  प्रथम श्रेणी क्रिकेट में इस पिच ने 2013 में पदार्पण किया था. इसे घरेलू क्रिकेट में फ्लैट पिच माना जाता है. आंकड़ों के मुताबिक, बीते 26 प्रथम श्रेणी मैचों में से इस मैदान पर 10 खिलाड़ियों ने 150 से ज्यादा का निजी स्कोर किया है. इसके अलाव, तीन दोहरे और दो तिहरे शतक भी इस मैदान पर लग चुके हैं. 26 में से 13 मैच ड्रॉ पर समाप्त हुए हैं. बहरहाल अब देखने की बात होगी कि दूसरे टेस्ट में यह पिच कैसा बर्ताव करती है. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com