IND VS SA 4TH ODI: युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने तीन मैचों की 'कमाई', कुछ ऐसे है गंवाई!

क्रिकेट में एक खराब दिन सारे समीकरण बिगाड़ देता है, भारतीय स्पिन जोड़ी के साथ ही जोहानिसबर्ग में कुछ ऐसा ही हुआ है

IND VS SA 4TH ODI: युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने तीन मैचों की 'कमाई', कुछ ऐसे है गंवाई!

युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव

खास बातें

  • यह क्रिकेट है मेरी जान!
  • तीन दिन आसमान, अगले दिन जमीं पर!
  • क्रिकेटप्रेमियों को भरोसा, वापसी करेगी भारतीय जोड़ी
नई दिल्ली:

जोहानिसबर्ग में चौथे वनडे में दक्षिण अफ्रीका के हाथों मिली पांच विकेट से हार करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों को बहुत ज्यादा खल रही है. इस हार में सबसे ज्यादा विलेन बने पिछले तीन मैचों के नायक युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव. युजवेंद्र चहल से तो ऐसी गलतियां हुईं कि जिनके बारे में सोचा भी नहीं जा सकता. कुल मिलाकर इन दोनों स्पिनरों के लिए जोहानिसबर्ग वनडे किसी बड़े दुस्वपन सरीखा साबित हुआ. 

शुरुआती तीन मैचों की बात करें, तो दोनों भारतीय स्पिनरों ने मेजबान बल्लेबाजों को बुरी तरह रुला कर रख दिया था. दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज कुलदीप की गुगली के सामने 'दर्द-ए-डिस्को' करते दिखाई पडे़. चलिए आपको पहले बारी-बारी से इन दोनों की शुरुआती दोनों मैचों की कमाई के बारे में बताते हैं. 
 


यह भी पढ़ें : IND VS SA 4TH ODI: 'इस बड़ी वजह' से विराट कोहली पर उठ रही उंगली, हैरान हेनरिच क्लासेन ने भी उठाया सवाल

कुलदीप यादव+युजवेंद्र चहल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पहला वनडे:  20-0-79-5 (इकॉ रेट 3.95)
दूसरा वनडे: 14.2-2-42-8 (2.93)
तीसरा वनडे: 18-1-69-8 (3.83)
 

कुल मिलाकर शुरुआती तीन वनडे मैचों में तीस में 21 विकेट चटकाकर इन दोनों ने मेजबान बल्लेबाजों को तोते उड़ा दिए थे. हालात ऐसे थे कि इन दोनों खासकर कुलदीप यादव के आक्रमण पर आते ही दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों के मानो डर से बाल खड़े हो जाते थे. लेकिन चौथे वनडे में जब करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमी उम्मीद कर रहे थे कि ये दोनों भारत को 4-0 से विजयी बढ़त दिलाएंगे, तो इन्होंने अपनी कमाई को इस मैच में लुटा दिया

VIDEO : दक्षिण अफ्रीका रवाना होने से पहले ऑफिशियल प्रेस कॉन्फ्रेंस में विराट कोहली.
चौथे वनडे में इन दोनों ने मिलकर फेंके 11.3 ओवरों में 119 खर्च कर सिर्फ 3 ही विकेट चटकाए. वहीं इस मैच में इनका इकॉनमी रेट 10.53 रहा. और यह इकॉ. रेट पिछले तीनों वनडे मैचों के संयुक्त इकॉनमी रेट (10.71) से बस मामूली अंतर से ही पीछे रह गया. बहरहाल, इन दोनों ही प्रतिभाशाली बॉलरों में वापसी करने की क्षमता है. और बाकी बचे दोनों वनडे मैचों में मेजबान बल्लेबाजों का दोनों से बच पाना बिल्कुल भी आसान होने नहीं जा रहा.