Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

IND VS SA 5TH ODI: इन 'तीन बड़े कारणों' से टीम इंडिया मैनेजमेंट पुछल्लों को कर रहा ऊपर-नीचे

निचले क्रम को लेकर यह खास सोच और रणनीति बताती है कि कोच रवि शास्त्री की निगरानी में टीम इंडिया अगले विश्व कप के लिए कितनी गहराई से काम कर रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND VS SA 5TH ODI: इन 'तीन बड़े कारणों' से टीम इंडिया मैनेजमेंट पुछल्लों को कर रहा ऊपर-नीचे

टीम इंडिया का फाइल फोटो

खास बातें

  1. टीम इंडिया मैनेजमेंट का बड़ा खुलासा
  2. विश्व कप 2019 का प्लान फिनिशर्स!
  3. कौन बनेगा धोनी के बाद अगला बेस्ट फिनिशर?
नई दिल्ली:

टीम इंडिया के हालिया वनडे मैचों में देखने में आया है कि जहां नंबर चार क्रम (अजिंक्य रहाणे) तक के बल्लेबाजों का ऑर्डर करीब-करीब पक्का है, तो वहीं पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के क्रम से लेकर नंबर सात क्रम पर कभी किसी बल्लेबाज को भेज दिया जा रहा है, तो कभी किसी दूसरे बल्लेबाज को. लेकिन पोर्ट एलिजाबेथ मुकाबले से पहले इस बात से पर्दा हट गया है कि आखिर ऐसा क्यों हो रहा है. और इसके पीछे क्या मकसद है. यह खुलासा किया पांचवें वनडे की पूर्व संध्या पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में आए फील्डिंग कोच आर श्रीधर ने.
 


अगर भारत ने हाल ही में इन तीन बैटिंग ऑर्डर पर बल्लेबाजों के साथ फेरबदल किया है, तो इसके पीछे एक नहीं, बल्कि तीन बड़े मकसद हैं. और विराट कोहली एंड कंपनी और कोच रवि शास्त्री चाहते हैं कि अगले साल विश्व कप से पहले ये बातें पूरी तरह से दुरस्त हो जाएं. चलिए हम आपको ये तीन वजह बता देते हैं. जिनके चलते बार-बार नंबर-5, 6 और 7 क्रम के बल्लेबाजों को ऊपर-नीचे किया जा रहा है. 

पहला कारण
आर श्रीधर ने बताया कि हमारी पहली सोच यह है कि हमारा मकसद है कि हालात को पढ़ना और यह पता लगाना कि कौन सा खिलाड़ी इस तरह की परिस्थितियों में सर्वश्रेष्ठ साबित हो सकता है. 


यह भी पढ़ें : IND VS SA: इसलिए युजवेंद्र चहल पर बरसे सुनील गावस्कर, कहीं ये 'तीन अहम बातें'

दूसरा कारण 
फील्डिंग कोच ने कहा कि टीम मैनेजमेंट चाहता है कि विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के अलावा दूसरे खिलाड़ी भी जिम्मेदारी लें. और 50वें ओवर की आखिरी गेंद तक हमारे लिए मैच जिताकर  लेकर आएं. उन्होंने कहा, इसीलिए हम ज्यादा फिनिशर्स  चाहते हैं. हम उन्हें ज्यादा से ज्यादा प्रशिक्षित कर ज्यादा मैच फिनिशर्स विकसित करना चाहते हैं. 
 

तीसरा कारण 
आर श्रीधर ने टीम मैनेजमेंट का लक्ष्य साफ करते हुए कहा कि हम यह भी चाहते हैं कि नंबर-5, 6 और सात के बल्लेबाज हालात को समझना और पढ़ना सीखें और इसके अनुसार बल्लेबाजी करें. यही कारण है कि हम पिछले कई मैचों से इन क्रमों को लेकर रोटेशन पॉलिसी अपनाए हुए हैं. लेकिन जल्द से जल्द ही इन क्रमों पर स्थायी बल्लेबाजों की चुनने की जिम्मेदारी को अंजाम दे दिया जाएगा. 

VIDEO : सेंचुरियन में शतक बनाने के बाद कप्तान विराट कोहली
इंग्लैंड में अगले साल होने वाले विश्व कप के लिए वास्तव में यह एक अच्छी सोच है. अब जबकि धोनी अपने आखिरी दौर में हैं, तो यह बहुत ही जरुरी है कि पूर्व कप्तान के अलावा निचले क्रम में टीम इंडिया के पास एक अच्छा मैच जिताऊ बल्लेबाज या बेहतरीन फिनिशर हो. 

टिप्पणियां

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... फराह खान को सेलिब्रिटीज के वर्कआउट वीडियो शेयर करने पर आया गुस्सा, बोलीं- हमारे ऊपर रहम करिये...

Advertisement