NDTV Khabar

IND VS SA: जेपी डुमिनी ने खोला युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव के कहर का राज

वैसे लगता नहीं कि दक्षिण बल्लेबाजों की यह बड़ी समस्या छठे वनडे तक भी सुलझ पाएगी. कितनी सुलझी, यह चौथे वनडे में काफी हद तक साफ हो जाएगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND VS SA: जेपी डुमिनी ने खोला युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव के कहर का राज

युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव

खास बातें

  1. इतना कम समय, कैसे सुलझेगी समस्या?
  2. कहीं चौथे वनडे में भी तो लूट नहीं मचा देगी भारतीय जोड़ी
  3. ..तो फिर छह मैचों में ही कुछ ऐसा ही हाल होगा
नई दिल्ली: भारत के खिलाफ छह मैचों की सीरीज के शुरुआती तीन मैचों में भारतीय स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव के कहर का राज अब दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज बल्लेबाज जेपी डुमिनी ने खोला है. बता दें कि ये दोनों भारतीय मिलकर तीन मैचों में ही 21 विकेट अपने खाते में जमा कर चुके हैं. मतलब यह कि भारतीय बॉलरों के हिस्से में आए सौ में से सत्तर प्रतिशत विकेटों पर इन दोनों का कब्जा रहा है. अब यह राज  जोहानिसबर्ग में चौथे वनडे में कितना सुलझता है, या नहीं सुलझता, यह देखने वाली बात होगी.

ध्यान दिला दें कि न्यूलैंड्स में खेले गए तीसरे डे-नाइट मुकाबले में भी युजवेंद्र चहल और खासकर कुलदीप यादव के सामने दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज 'दर्द-ए-डिस्को' करते दिखाई पड़े. किसी की भी कुछ समझ में नहीं आया कि क्या हो रहा है. और क्या करना है. लेकर पहले वनडे से तीसरे तक मेजबान बल्लेबाजों की हालात इन दोनों के आक्रमण पर लगते ही तू चल, मैं आया जैसी रही. और अब जो बात जेपी डुमिनी ने बतायी है, उसे देखते हुए लगता नहीं कि यह समस्या आखिरी वनडे तक भी सुलझने जा रही है. हां यह बात अलग है कि जेपी डुमिनी की समझ में यह बात काफी हद तक समझ में आ गई. उन्होंने इसका सबूत भी दिया. 

यह भी पढे़ं : IND VS SA: 'इस मामले' में शिखर धवन से बेहतर सिर्फ एक बल्लेबाज, शनिवार को जड़ेंगे वनडे खेलने का शतक

टिप्पणियां
यह जेपी डुमिनी ही थे, जिन्होंने न्यू लैंड्स में सबसे ज्यादा 51 रन बनाए थे. और यह बताता है कि कम से कम जेपी को तो कोई समस्या नहीं है, लेकिन बाकी दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों को बिल्कुल समझ में नहीं आ रहा कि वे करें, तो क्या करें. और ऐसा भी नहीं है कि जेपी इन बल्लेबाजों की नेट पर मदद नहीं करते होंगे. 

VIDEO : सेंचुरियन में शतक बनाने के बाद विराट कोहली.
जेपी डुमिनी ने कहा है कि उनकी टीम के बल्लेबाजों कों 'रॉंग-वन' मतलब कुलदीप चहल और कुलदीप यादव की फेंकी गुगली समझ नहीं आ रही हैं उनके बल्लेबाज गेंदबाज दोनों के हाथ को देखकर गुगली को नहीं पढ़ पा रहे हैं. बात तो बहुत मुश्किल है. और यहां कोई ऐसी जादू की छड़ी भी नहीं है कि यह बात झट से समझ में आ जाए. देखते हैं कि शनिवार को चौथे वनडे तक कितने मेजबान बल्लेबाजों को युजवेंद्र और कुलदीप की समझ में आती है. वैसे हालात को न के ही बराबर हैं. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement