NDTV Khabar

IND VS SA: इन दो दक्षिण अफ्रीकियों का 'विराट' चैलेंज,सेंचुरियन में होगा टीम इंडिया का और बड़ा इम्तिहान

भारतीय प्रशंसकों और टीम विराट कोहली के लिए दूसरे टेस्ट से पहले एक और निराशाजनक खबर है. यह खबर दी है दक्षिण अफ्रीकी कोच ऑटिस गिब्सन ने

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND VS SA: इन दो दक्षिण अफ्रीकियों का 'विराट' चैलेंज,सेंचुरियन में होगा टीम इंडिया का और बड़ा इम्तिहान

विराट कोहली

खास बातें

  1. इस चैलेंज से निपट पाएंगे बल्लेबाज?
  2. कम समय में बेहतर तैयारी हो पाएगी?
  3. दक्षिण अफ्रीकी कोच ऑटिस गिब्सन व ग्राउंड्समैन ने रची 'यह साजिश'!
नई दिल्ली: भारतीय प्रशंसकों और टीम विराट कोहली के लिए दूसरे टेस्ट से पहले एक और निराशाजनक खबर है. यह खबर दी है दक्षिण अफ्रीकी कोच ऑटिस गिब्सन ने. गिब्सन ने सेंचुरियन की पिच की प्रशंसा करते हुए कहा है कि उनकी टीम को अगर मौके मिले, तो हम केपटाउन से  भी बेहतर करेंगे. वहीं, गिब्सन के साथ-साथ सेंचुरियन टेस्ट से जुड़े एक और अहम शख्स हैं, जिन्होंने मेजबान कोच के साथ मिलकर टीम इंडिया की राह को और मुश्किल बनाने की जिम्मेदारी ले ली है. हालांकि, भारतीय कप्तान इस बात को लेकर ज्यादा चिंतित नहीं हैं. 
द.अफ्रीकी कोच ऑटिस गिब्सन ने कहा है कि सेंचुरियन और जोहानेसबर्ग में मेहमान बल्लेबाजों को ज्यााद रफ्तार और उछाल का सामना करना पड़ेगा. वैसे कप्तान विराट कोहली रफ्तार से परेशान नहीं हैं. उन्होंने सेंचुरियन पिच की तारीफ करते हुए कहा, 'अगर फिर से केपटाउन जैसे मौके मिले तो हमारी टीम पहले से और बेहतर करेगी. मगर, केपटाउन में भारतीय बल्लेबाजों की इस हुई हालत ने वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान ऑटिस गिब्सन को बेहद ही खुश कर दिया है. उन्होंने इशारा किया कि भारत के खिलाफ 4 तेज गेंदबाज़ों के साथ पेस अटैक की उनकी रणनीति जारी रहेगी. 

यह भी पढ़ें : IND VS SA: 'इन पांच बातों' का टीम इंडिया को सेंचुरियन में रखना होगा ध्यान

गिब्सन कहते हैं, 'मेरी सोच फस्ट बॉलिंग कोच की है. हम सेंचुरियन की पिच के हिसाब से रणनीति बनाएंगे'. हम आपको याद दिला दें कि केपटाउन में चोटिल डेल स्टेन सीरीज से बाहर हो चुके हैं. बावजूद इसके उनकी बेंच स्ट्रेंथ मजबूत नजर आती है. कागिसो राबाडा, फिलैंडर और मॉर्न मॉर्कल के अलावा डेल स्टेन की जगह कौन लेगा, इसे लेकर दक्षिण अफ्रीका के सामने सवाल मुश्किल नहीं है. उसके पास  क्रिस मौरिस, डुएन ओलिवियर, एडिले फेहलुकवायो और लुंजी एनजिडि जैसे गेंदबाजों के रूप में मजबूत बेंच स्ट्रेंथ है. 

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : IND VS SA: सेंचुरियन टेस्ट में बदली दिख सकती है टीम इंडिया, इन खिलाड़ियों पर होगा फोकस

वहीं, सेंचुरियन के ग्राउंड्समैन ब्रायन ब्लॉय भी तेज़ गेंदबाजो के मुताबिक पिच तैयार करने की बात कह चुके हैं. वह कहते हैं, 'हम ऐसी पिच तैयार करना चाहते हैं  जो बल्लेबाज़ों की मदद करने से पहले गेंदबाजो की मददगार साबित हो. इस पिच पर स्पीड और उछाल तो होगी ही. साथ ही, बाहर-भीतर आती-जाती गेंदों की भी मदद मिलेगी'. लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली इन सबसे निपटने का मन बना चुके हैं. विराट कोहली कहते हैं, 'ये एक बेहतरीन पिच थी. मुझे ये पसंद आई. यहां दोनों टीमों को एक-दूसरे पर दबाव बनाने के मौक़े मिले. इस टेस्ट का हिस्सा होना पूरी टीम को पसंद आया'. वह यह भी कहते हैं, 'अगर फिर से ऐसी पिच मिली तो ये गेंदबाज उस प्रदर्शन को दोहरा सकते हैं. लेकिन हमें बल्लेबाजी बेहतर करनी होगी'.
VIDEO : भारत में प्रेस कॉन्फ्रैंस के दौरान कप्तान विराट कोहली.

कुल मिलाकर बात यह है कि मेजबानों ने सेंचुरियन में केपटाउन से भी तेज और उछालभरी पिच भारतीय बल्लेबाजों के सामने परोसने का मन बन लिया है. विराट कोहली एंड कंपनी के पास तैयारी के लिए सिर्फ दो दिन का समय है. लेकिन दो दिन में क्या तैयारी हो पाएगी और बल्लेबाज खुद को कितना तैयार कर पाएंगे, यही अपने आप में सबसे बड़ा चैलेंज है. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement