NDTV Khabar

IND VS SA: ..पर हार्दिक पंड्या 'इस भारतीय' के 25 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ने से चूक गए.

हार्दिक पंड्या का बल्ला केपटाउन में बिल्कुल सही समय पर बोला. हॉर्दिक ने बहुत ही संकट के समय 93 रन की शानदार पारी खेली, लेकिन वह साल 1992 में एक भारतीय बल्लेबाज के बड़े रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए.

1.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND VS SA: ..पर हार्दिक पंड्या 'इस भारतीय' के 25 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ने से चूक गए.

खास बातें

  1. स्पेशल रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए हार्दिक पंड्या
  2. साल 1992 में प्रवीण आमरे ने किया था कारनामा
  3. दक्षिण अफ्रीका में अपने पहले ही टेस्ट में आमरे ने जड़ा था शतक
नई दिल्ली: टेस्ट क्रिकेट इसी का नाम है. पहली टीम इंडिया हंसी और फिर दक्षिण अफ्रीकी. और अब एक बार फिर से टीम इंडिया मुस्कुरा रही है. यह मुस्कुराहट विराट कोहली एंड कंपनी को दी दक्षिण अफ्रीकी धरती पर अपनी पहली ही पारी में भुवनेश्वर कुमार के साथ मिलकर आठवें विकेट के लिए 99 रन की साझेदारी करने वाले युवा ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या ने. इस साझेदारी और हार्दिक पंड्या के 93 रन ने भारत को केपटाउन टेस्ट में फिर से मुकाबले में ला खड़ा किया है. हार्दिक पंड्या ने संकट के समय एक यादगार पारी खेली, लेकिन वह एक भारतीय बल्लेबाज के 25 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ने से चूक गए. 
 
केपटाउन टेस्ट के दूसरे दिन जब टीम इंडिया के सारे दिग्गज बल्लेबाज पैवेलियन लौट गए थे. और भारतीय टीम सौ रन से भी पहले सिमटती दिखाई पड़ रही थी, तब इस युवा ऑलराउंडर ने भुवनेश्वर कुमार के साथ मिलकर बहुमूल्य साझेदारी करके  टीम पर छाए संकट के बादलों को काफी हद तक दूर कर दिया. हार्दिक ने अपनी पारी में 14 चौके और एक छक्का लगाया.
 
हार्दिक के अति विश्वसनीय शॉटों से बिल्कुल भी नहीं लगा कि वह दक्षिण अफ्रीकी धरती पर अपनी पहली पारी खेल रहे हैं. न केवल उन्होंने इस देश में अपनी पहली ही पारी में अर्धशतक जड़ा, बल्कि वह उस रिकॉर्ड को तोड़ने के बिल्कुल नजदीक पहुंच गए थे, जो पच्चीस साल पहले साल 1992 के भारतीय टीम के दौरे में प्रवीण आमरे ने डरबन टेस्ट में बनाया था. 

VIDEO : भारत में हुई प्रेस कॉन्फ्रैंस में सवालों के जवाब देते विराट कोहली

साल 1992 में प्रवीण आमरे ने दक्षिण अफ्रीका में खेले अपने करियर के पहले ही टेस्ट में शतक (103) जड़ डाला था. हालांकि हार्दिक पंड्या अपना चौथा टेस्ट खेल रहे हैं, लेकिन यह उनकी दक्षिण अफ्रीकी धरती पर पहली ही पारी थी. एक यादगार पारी. मैच में अंतर पैदा करने वाली 93 रन की पारी, लेकिन वह सिर्फ 11 रन से प्रवीण आमरे का रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement