NDTV Khabar

Ind vs SL: विराट की सेना ने बिलकुल उसी अंदाज में लिया 21 साल पहले बहे उन 'आंसुओं' और 'अपमान' का बदला

श्रीलंका के खिलाफ तीसरे एक दिवसीय मैच और श्रृंखला में भारत की 3-0 से अजेय बढ़त हासिल करने के साथ ही 21 साल पहले बहे उन 'आंसुओं' का भी बदला भी बदला ले लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Ind vs SL: विराट की सेना ने बिलकुल उसी अंदाज में लिया 21 साल पहले बहे उन 'आंसुओं' और 'अपमान' का बदला

खास बातें

  1. टीम इंडिया ने श्रीलंका को हराया
  2. श्रीलंका के दर्शकों ने मैदान में फेंकी बोतलें
  3. 1996 विश्वकप की यादें हो गईं ताजा
नई दिल्ली:

श्रीलंकाके खिलाफ तीसरे एक दिवसीय मैच और श्रृंखला में भारत की 3-0 से अजेय बढ़त हासिल करने के साथ ही 21 साल पहले बहे उन 'आंसुओं' का भी बदला भी बदला ले लिया है जो कोलकाता के ईडन गार्डेन मैदान में बहे थे. दरअसल 1996 के विश्वकप के सेमीफाइनल मैच में भारत श्रीलंका के हाथों बुरी तरह हार गया था. मैच खत्म होने के कुछ देर पहले भारतीय दर्शकों ने गुस्से में आकर मैदान में बोतलें फेंकना शुरू कर दिया. आखिरकार मैच को बिना पूरी तरह खत्म हुए बगैर ही श्रीलंका को विजयी घोषित कर दिया गया और भारत विश्वकप से बाहर हो गया. उस समय के धाकड़ बल्लेबाज विनोद कांबली मैदान से रोते हुए बाहर निकले थे.

पढ़ें :  वीरेंद्र सहवाग ने महेंद्र सिंह धोनी के बारे में कह दी इतनी बड़ी बात..


टिप्पणियां

आज पल्लेकेले स्टेडियम में भी ऐसा ही कुछ नजारा देखने को मिला. यहां भीड़ ने मैच में बाधा डालने की कोशिश की, जिसके चलते अंपायरों को करीब 35 मिनट तक मैच रोकना पड़ गया.  भारत का स्कोर 44 ओवर के बाद 210 रन था और जीत हासिल करने के लिए उसे सिर्फ आठ रन और चाहिए थे.  रोहित शर्मा 122 रनों पर और महेन्द्र सिंह धौनी 61 रन बना कर बल्लेबाजी कर रहे थे. तभी, श्रीलंकाई टीम के समर्थकों के उग्र व्यवहार के चलते खिलाड़ियों को ड्रेसिंग रूम भेजना पड़ गया. श्रीलंका के समर्थक मैदान में पानी की बोतलें फेंक रहे थे.

वीडियो : धोनी ने बाकी बल्लेबाजों पर दबाव बढ़ाया
मैच दोबारा शुरू करने से पहले दर्शक दीर्घा के कुछ हिस्से से दर्शकों को हटाने के लिए सुरक्षा बलों को बुलाया गया और इसके बाद भारत ने बड़ी आसानी से मैच जीत कर सीरीज पर कब्जा कर लिया. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... बेटी की शादी कराने के बाद सास को हुआ दामाद से प्यार, एक साल बाद ही दिया बच्चे को जन्म

Advertisement