Ind vs Sl 3rd T20I: कुलदीप यादव ने स्वीकारी अपनी गेंदबाजी को लेकर ये बातें

Ind vs Sl 3rd T20I: कुलदीप यादव ने स्वीकारी अपनी गेंदबाजी को लेकर ये बातें

कुलदीप यादव और विराट कोहली

पुणे:

भारत के चाइनमैन गेंदबाज कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) ने वीरवार को माना कि 2019 उनके लिए काफी मुश्किल साल रहा और अब वह अपनी कमियों पर काम कर रहे हैं ताकि आने वाले दिनों में वे ज्यादा प्रभावी बन सकें. कुलदीप ने यह बात भारत और श्रीलंका के बीच शुक्रवार को खेले जाने वाले तीसरे टी-20 मैच की पूर्व संध्या पर कही. कुलदीप (Kuldeep Yadav) ने कहा, "अगर मैं सोचूंगा और अपने आप को ज्यादा समय दूंगा तो मैं अच्छा प्रदर्शन कर सकता हूं. साल 2020 में, मैं हर मैच में बेहतर करने की कोशिश करूंगा. आपको अगले मैच में अच्छा करने के लिए अपने आप को समय देना होता है. मैं इस साल मानसिक रूप से ज्यादा तैयार रहना चाहता हूं."

यह भी पढ़ें:  रवि शास्त्री ने एमएस धोनी के करियर को लेकर किया बड़ा इशारा

कुलदीप ने कहा है कि वह बल्लेबाजों को चकमा देने के लिए कोचिंग स्टाफ और वीडियो एनालिस्ट की मदद ले रहे हैं ताकि अपनी कमियों और मजबूतियों पर काम कर सकें. उन्होंने कहा "अब हर कोई जानता है कि कुलदीप कैसे गेंदबाजी करता है. वह चाइनामैन है जिसके पास गुगली है, फ्लिपर है. मुझे अपनी गेंदबाजी में बदलाव लाने होंगे और बल्लेबाज पकड़ नहीं सके."

यह भी पढ़ें: कुछ ऐसे सचिन तेंदुलकर ने की सौरव गांगुली की फिटनेस को लेकर खिंचाई

टी-20 में गेंदबाजों के सामने असमंजस यह रहती है कि वह विकेट के लिए जाएं या रन रोकें. इस पर कुलदीप ने कहा, "अगर विपक्षी टीम के विकेट गिरते हैं तो आपको कई बार रन रोकने होते हैं और जब साझेदारी होती है तो मुझे लगता है कि विकेट के लिए जाना चाहिए और रन रोकने चाहिए." बाएं हाथ के स्पिनर ने चार दिन के टेस्ट मैचों को लेकर हो रही चर्चा पर भी अपने विचार रखे और कहा है कि पांच दिन के टेस्ट मैच के साथ ही जाना चाहेंगे.

Newsbeep

VIDEO: पिंक बॉल बनने की पूरी कहानी, स्पेशल स्टोरी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, "ईमानदारी से कहूं तो, मैं पांच दिन के टेस्ट मैच के साथ जाना चाहूंगा. टेस्ट क्रिकेट पांच दिन के लिए बना था और मैं इसमें बदलाव नहीं देखना चाहता."