NDTV Khabar

IND vs SL: दिल्ली का दंगल- मैच श्रीलंका से, नज़र दक्षिण अफ्रीका पर

जीत के फोकस के साथ भारतीय टीम की नज़र अगली दक्षिण अफ़्रीकी सीरीज़ पर भी, फिरोज शाह कोटला मैदन पर पसीना बहाने में कोताही नहीं कर रहे खिलाड़ी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs SL: दिल्ली का दंगल- मैच श्रीलंका से, नज़र दक्षिण अफ्रीका पर
नई दिल्ली: दिल्ली के दंगल में भारतीय खेलप्रेमी फिर से जीत की उम्मीद के साथ ही स्टेडियम जाएंगे. लेकिन क्रिकेट फ़ैन्स ज़रूर चाहेंगे कि मैच पहले से ज़्यादा रोमांचक हो. जीत के फोकस के साथ भारतीय टीम की नज़र अगली दक्षिण अफ़्रीकी सीरीज़ पर भी बराबर बनी हुई है. मैच से पहले फ़िरोज़ शाह कोटला मैदान पर अभ्यास के दौरान पहले दोनों टेस्ट में शतक लगा चुके विराट कोहली अपने घरेलू मैदान पर अगली जीत के लिए आश्वस्त से नज़र आए. लेकिन नेट्स पर पसीना बहाने में कोताही नहीं नज़र आई.

52 टेस्टों में 10 शतक लगा चुके मुरली विजय भी फ़ॉर्म में हैं और इस बात को लेकर ज़्यादा परेशान नहीं दिख रहे कि दिल्ली टेस्ट का नतीजा कैसा रहेगा. लेकिन इसके बाद होने वाली दक्षिण अफ़्रीकी सीरीज़ के इम्तिहान को लेकर ये टीम ज़रूर चौकन्नी होती नज़र आती है. प्रेस कॉन्फ़्रेंस में मुरली विजय ने अपने तकरीबन हर सवाल के जवाब में दक्षिण अफ़्रीका का ज़िक्र ज़रूर किया. मुरली विजय ने कहा, " पिच पर घास है. ये बात सभी मैचों में पैटर्न बन गई. हम चाहते हैं कि हमें दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ अभ्यास का अच्छा मौका मिले."

यह भी पढ़ें : IND vs SL: 'इसलिए' कोटला की पिच पर ज्यादा घास चाहते हैं विराट कोहली!

फ़िरोज़शाह कोटला की पिच वैसे तो स्पिनर्स की मददगार साबित होती रही है. लेकिन इस वक्त भी टीम का ध्यान दक्षिण अफ़्रीकी सीरीज़ पर ज़रूर बना हुआ है. इसलिए दिल्ली की पिच इस बार पेसर्स के मुताबिक होगी या नहीं ..इसे लेकर दिलचस्पी ज़रूर बनी रहेगी. फिलहाल ठोस ओपनर विजय इस बात को लेकर बेफ़िक्र हैं कि उन्हें किसके साथ ओपनिंग करने का मौक़ा मिल सकता है. उन्होंने इतना ज़रूर कहा कि उनमें, शिखर धवन और केएल राहुल में अच्छा तालमेल है. वे कहते हैं, "हम तीनों (मुरली विजय, शिखर धवन और केएल राहुल) में मैदान के बाहर भी अच्छा तालमेल है.
तीनों फ़ॉर्म में हैं इसलिए रेगुलर खेलने वाले खिलाड़ी पर दबाव बना रहता है. ये टीम के लिए अच्छा भी है."  

श्रीलंकाई टीम भारत के ख़िलाफ़ लंबे समय से कोई मुश्किल चुनौती नहीं पेश कर पा रही. फ़िरोज़शाह कोटला पर वैसे भी भारत का पलड़ा भारी रहा है.  कोटला पर खेले गए 33 टेस्ट मैचों में, भारत को 13 टेस्टों में जीत हासिल हुई है जबकि 6 में उसे हार का सामना करना पड़ा. यहां 14 टेस्ट ड्रॉ रहे.

टिप्पणियां
VIDEO : सिद्धार्थ कौल टीम इंडिया में

निजी तौर पर भी कप्तान विराट के लिए अपने करियर का 21वां टेस्ट, जीत हासिल करने का यह शानदार मौक़ा है. भारत कोटला का नतीजा ड्रॉ भी रखता है तो इस टीम की ये लगातार 9वीं टेस्ट सीरीज़ जीत होगी. इस तरह भारत के सामने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के साथ वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी करने का अच्छा मौक़ा है. कप्तान विराट के निजी तौर पर 21वें टेस्ट में जीत हासिल करने का मौक़ा होगा जो उन्हें कप्तान सौरव गांगुली के रिकॉर्ड की बराबरी का मौक़ा दे सकता है. भारतीय फ़ैन्स श्रीलंका से बेहतर चुनौती के साथ मैच में रोमांच की उम्मीद ज़रूर करेंगे. लेकिन ये भी चाहेंगे कि टीम इंडिया कोटला पर एक और इतिहास रचे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement