NDTV Khabar

IND VS SL: इसलिए आखिरी टी-20 मुकाबले में फाइनल इलेवन से छेड़छाड़ नहीं करना चाहते रोहित शर्मा

श्रीलंका के खिलाफ तीन टी-20 मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना चुके रोहित शर्मा के रणबांकुरे रविवार को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में आखिरी मुकाबले में मेहमान टीम को पूरी तरह से पस्त करने की प्लानिंग कर चुके हैं.

134 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND VS SL: इसलिए आखिरी टी-20 मुकाबले में फाइनल इलेवन से छेड़छाड़ नहीं करना चाहते रोहित शर्मा

रोहित शर्मा का फाइल फोटो

खास बातें

  1. श्रीलंका के साथ रविवार को आखिरी टी-20
  2. टीम मैनेजमेंट पर रिजर्व खिलाड़ियों को आजमाने का दबाव
  3. टॉस से पहले ही होगी तस्वीर पूरी तरह साफ
नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ तीन टी-20 मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना चुके रोहित शर्मा के रणबांकुरे रविवार को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में आखिरी मुकाबले में मेहमान टीम को पूरी तरह से पस्त करने की प्लानिंग कर चुके हैं. वानखेड़े स्टेडियम में पिछले दो मैचों के मुकाबले एक अलग तरह की पिच मिलने जा रही है, लेकिन रोहित शर्मा और रवि शास्त्री कुछ खास कारणों से फाइनल इलेवन से बिल्कुल भी छेड़छाड़ के मूड में नहीं हैं. लेकिन टीम पर दबाव है कि अभी तक एक भी मैच न खेल पाने वाले अक्षर पटेल और सिद्धार्थ कौल को आखिरी मैच खिलाया जाए.

मैनेजमेंट पर यह दबाव है कि नए खिलाड़ियों को आजमाया जाए, लेकिन अंतिम फैसला मैच से पहले ही लिया जाएगा. वहीं रोहित शर्मा के हाथों बुरी तरह मार खाई मेहमान टीम को एक और झटका लगा, जब उसके पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज मांसपेशियों में खिंचाव के चलते आखिरी मैच से ही बाहर हो गए. इस आखिरी मैच में भी करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमी रोहित से एक और आतिशी पारी की उम्मीद कर रहे हैं. एक वजह यह भी है कि रोहित का यह घरेलू मैदान है. 

यह भी पढ़ें : IND VS SL: स्पिनरों के 'इस बड़े वार' से हिल गई श्रीलंकाई टीम

भारत ने कटक में पहले मैच में श्रीलंका को 93 रन से हराया और इंदौर में दूसरा मैच 88 रन से जीतकर शृंखला अपने नाम कर ली । इससे पहले वनडे में श्रीलंका को 1 . 2 से पराजय झेलनी पड़ी थी, तो  जबकि टेस्ट सीरीज में भी उसका सफाया हो गया था. दूसरी ओर भारत ने सभी प्रारूपों में सफलता हासिल की है और दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले एक और जीत के टीम का मनोबल बढ़ाने का काम करेगी. दक्षिण अफ्रीका में भारतीय टीम को तीन टेस्ट, छह वनडे और तीन टी-20 मुकाबले खेलने हैं.

यह भी पढ़ें : IND VS SL: इसलिए आखिरी टी-20 मैच से बाहर हए श्रीलंकाई पूर्व कप्तान

यह सही है कि लगातार एकतरफा मुकाबले दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए एक अच्छी तैयारी नहीं ही कही जाएगी, लेकिन सकारात्मक बात यह है कि कप्तान विराट कोहली समेत कुछ वरिष्ठों की गैरमौजूदगी में युवाओं ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है. श्रेयस अय्यर जैसे बल्लेबाजों ने सुरेश रैना जैसे अनुभवी खिलाड़ियों की वापसी पर विराम लगा दिया है, तो वहीं युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने टीम मैनेजमेंट को और ज्यादा भरोसा दिया है. वहीं,  कई रिकॉर्डों की बारिश के बीच कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा ने सबसे तेज टी20 शतक के डेविड मिलर के रिकार्ड की बराबरी की. उन्होंने इंदौर में 43 गेंद में शतक बनाया और अपने घरेलू मैदान पर वह इस फार्म को बरकरार रखना चाहेंगे.

टिप्पणियां
VIDEO :  इंदौर टी-20 में जीत के बाद भारतीय खिलाड़ियों की खुशी देखिए
सूत्रों की मानें, तो कप्तान रोहित और रवि शास्त्री श्रीलंकाई टीम को जरा सा भी मौका नहीं देना चाहते और वे मेहमान टीम का पूरी तरह सफाया चाहते हैं. साथ ही दोनों की राय यही है कि विजयी कॉम्बिनेशन से कोई छेड़छाड़ न हो. यही दो सबसे बड़ी वजह हैं, जिनके चलते वानखेड़े में भी मैनेजमेंट का पिछली इलेवन के साथ ही उतरने का मन है. 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement