IND vs WI 2nd Test: उमेश यादव ने 'छक्का' जड़कर हटाए 'दो लंबे ग्रहण'

उमेश यादव की बात करें, तो हाल फिलहाल वह टीम से इन-आउट होते रहे हैं. कभी वनडे से उन्हें ड्रॉप कर दिया जाता है, तो कभी टेस्ट से. उमेश ने हाल ही में दिखाया कि  वह पहले से परिवक्व हुए हैं. उनकी गेंद स्विंग और सीम दो रही है

IND vs WI 2nd Test: उमेश यादव ने 'छक्का' जड़कर हटाए 'दो लंबे ग्रहण'

Ind vs Wi 2nd Test: उमेश यादव का प्रदर्शन टीम मैनेजमेंट को नया नजरिया देगा.

हैदराबाद:

उमेश यादव ने तो दिल जीत लिया. ऐसा जलवा बिखेरा उमेश यादव ने हर कोई वाह-वाह कर रहा है. पहले दिन तीन विकेट चटकाए थे, तो हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट के दूसरे दिन (मैच रिपोर्ट) भी विंडीज के तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेजकर इस  सीमर ने मैच में कुल छह  विकेट लिए. वैसे यहां थोड़ा चौंकाने वाली बात यह है कि एक बार फिर से पांच विकेट चटकाने में उमेश यादव ने करीब छह साल का समय लिया. इस प्रदर्शनके साथ ही उमेश ने लंबे समय से छाए दो ग्रहणों को हटा दिया.


उमेश यादव हाल फिलहाल वह टीम से इन-आउट होते रहे हैं. कभी वनडे से उन्हें ड्रॉप कर दिया जाता है, तो कभी टेस्ट से. उमेश ने हाल ही में दिखाया कि  वह पहले से परिवक्व हुए हैं. उनकी गेंद स्विंग और सीम दो रही है. और बीच-बीच में हल्की रिवर्स स्विंग भी उन्हें मिलने लगी है. हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम को उन्होंने छह विकेट चटकाकर अपने लिए यादगार बना लिया. 


यह भी पढ़ें:  IND vs WI: भारतीय कप्तान विराट कोहली चाहते हैं बीसीसीआई से यह 'बड़ा बदलाव'


आप थोड़ा चौंक जाएंगे, लेकिन यह सच है कि अपना 40वां टेस्ट खेल रहे उमेश ने करियर में सिर्फ दो ही बार  पारी में पांच विकेट चटकाए हैं. पहली बार उन्होंने पांच विकेट चटकाए थे साल 2012 में. तब उमेश यादव ने पर्थ में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच विकेट चटकाए थे. और इसके बाद हैदराबाद में राजीव गांधी स्टेडियम विंडीज के खिलाफ मुकाबले तक उमेश की झोली में पंजा नहीं आया. और पहले और दूसरे पंजे के बीच लंबी क्रिकेट खेल चुके थे. लेकिन देर आए, दुरुस्त आए! उमेश ने इस प्रदर्शन के साथ ही अपने पंजे पर छह साल से लगे ग्रहण को हटा दिया. लेकिन इससे बड़ा एक और बड़ा ग्रहण रहा.
 


आपको बता दें कि घर में किसी भारतीय तेज गेंदबाज द्वारा किया गया यह 13वां सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा. और इस 13वें प्रदर्शन ने करीब 19 साल से छाए ग्रहण को हटा दिया. यह सोचकर थोड़ा अफसोस भी होता है. और यह बात यह भी बताती है कि भारत में तेज गेंदबाजी की तस्वीर क्या है. बता दें कि ऐसा 19 साल बाद हुआ है, जब किसी भारतीय तेज गेंदबाज ने एक पारी में छह विकेट लिए. 19 साल पहले यह कारनामा किया था जवागल श्रीनाथ ने

VIDEO: भारत ने विंडीज को पहले टेस्ट में पारी और 272 के रिकॉर्ड अंतर से मात दी. 


उन्नीस साल पहले जवागल श्रीनाथ ने मोहाली में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक पारी में 6 विकेट लिए थे.  तब से लेकर न छह विकेट जहीर खान ही चटका सके थे और न ही कोई और गेंदबाज. लेकिन अब उमेश यादव ने पहले पंजा जड़कर अपने ऊपर छह साल से छाए पांच विकेटों के ग्रहण को हटाया, तो दूसरा 19 साल से किसी भारतीय तेज गेंदबाज के छह विकेटों के मामले पर. उम्मीद है कि आगे न उमेश का पांच विकेट का ग्रहण ही लंबा खिंचेगा. और न ही भारतीय तेज गेंदबाजी के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन का