NDTV Khabar

हादसे के कारण एक समय चलना भी था मुश्‍क‍िल, आज Kieron Pollard की टीम का है अहम ख‍िलाड़ी..

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हादसे के कारण एक समय चलना भी था मुश्‍क‍िल, आज Kieron Pollard की टीम का है अहम ख‍िलाड़ी..

Nicholas Pooran ने वनडे सीरीज में बेहतरीन स्‍ट्राइक रेट से रन बनाए हैं

खास बातें

  1. कहा-मुश्‍क‍िल वक्‍त में मदद के ल‍िए आए थे पोलार्ड
  2. पोलार्ड को अपने ल‍िए प‍ितातुल्‍य बताया
  3. वनडे सीरीज में इंडीज के ल‍िए पूरन ने क‍िया शानदार प्रदर्शन
कटक:

India vs West Indies, 3rd ODI: वेस्टइंडीज के बाएं हाथ के बल्लेबाज निकोलस पूरन (Nicholas Pooran)चार साल पहले दुर्घटना में इतने चोटिल हो गये थे कि छह माह तक चल भी नहीं पा रहे थे. इस मुश्‍क‍िल वक्‍त में क‍िरेन पोलार्ड (Kieron Pollard) अभिभावक की तरह उनकी मदद के लिए आए. दुर्घटना के समय पूरन की उम्र लगभग 20 साल की थी और पोलार्ड की हौसलाअफजाई ने उनके लिये ऐसी दवा का काम किया कि वह वनडे या यूं कहें शॉर्टर फॉर्मेट के क्र‍िकेट में टीम के प्रमुख ख‍िलाड़ी हो गए हैं. भारत के खिलाफ वनडे सीरीज के तीन मैचों में उन्होंने 23 गेंद में 29, 47 गेंद में 75 और 64 गेंद में 89 रन की पारियां खेलकर कप्तान के भरोसे को सही साबित किया.

IND vs WI 3rd ODI: व‍िराट ने शारदुल ठाकुर की मराठी में की तारीफ तो फैंस के आए ये ट्वीट..


पूरन ने पोलार्ड का शुक्रिया अदा करते हुए कहा, ‘वह मेरे लिए बड़े भाई, पितातुल्य हैं. वह मेरे साथ तब से है जबसे मैंने क्रिकेट के मैदान में वापसी की है. उन्होंने मुझे मौका दिया. मैं इसके लिए शुक्रगुजार हूं.'इससे पहले ‘यूनिवर्सल बॉस' के नाम से लोकप्र‍िय क्रिस गेल भी पूरन की तारीफ कर चूके है. उन्होंने वर्ल्‍डकप के दौरान भारत के खिलाफ मैच से पहले मैनचेस्टर में कहा था, ‘निकोलस पूरन की बल्लेबाजी देखियेगा, वह शानदार खिलाड़ी है.' 23 साल के इस खिलाड़ी ने भारत के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज में 20 चौके, नौ छक्के लगाये और 19 वनडे मैचों में उनका औसत 52 का है.

टिप्पणियां

पोलार्ड के बारे में पूछे जाने पर पूरन ने कहा कि मैदान की बाहर की हमारी दोस्ती उस समय भी दिखती है जब हम क्रीज पर एक साथ मौजूद होते हैं. पोलार्ड के साथ रविवार को शतकीय साझेदारी करने वाले इस बल्लेबाज ने कहा, ‘हम (मैं और पूरन) एकदूसरे को अच्छे से जानते हैं. हम मैदान के बाहर और अंदर काफी अच्छे दोस्त हैं. हमें पता है कि बल्लेबाजी के समय एकदूसरे का साथ कैसे देना है.'पूरन ने कहा, ‘हम दोनों घरेलू मैचों में एक ही क्लब, एक ही फ्रेंचाइजी के लिए खेलते हैं. एक साथ बल्लेबाजी करते समय हमारे बीच अच्छी समझ रहती है. हम परिस्थितियों और हालात को ठीक से समझते और उसके अनुसार खेलते हैं.' उन्होंने कहा कि मैच के दौरान कप्तान ने कहा था कि वह स्पिनरों के खिलाफ आक्रामक होंगे जबकि उन्हें तेज गेंदबाजों के खिलाफ तेजी से रन बनाना होगा.

वीडियो: 15 साल की लड़की ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्ड



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... जेल से निकलने के तुरंत बाद हार्दिक पटेल फिर हुए गिरफ्तार, जानें पूरा मामला

Advertisement