INDvsWI : भारत के 353 रनों के जवाब में कैरेबियाई टीम की सधी हुई शुरुआत

INDvsWI : भारत के 353 रनों के जवाब में कैरेबियाई टीम की सधी हुई शुरुआत

ब्रेथवेट की अर्धशतकीय पारी की बदौलत वेस्ट इंडीट टीम की ठोक शरुआत (फाइल फोटो)

खास बातें

  • आर अश्विन ने अपने सभी टेस्ट शतक विंडीज के खिलाफ बनाए हैं
  • ऋद्धिमान साहा ने टेस्ट करियर का पहला शतक बनाया
  • भारतीय टीम सीरीज में वेस्टइंडीज से 1-0 से आगे चल रही है

भारत और वेस्टइंडीज के बीच 4 मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा टेस्ट सेंट लूसिया में खेला जा रहा है. भारत की पहली पारी में बनाए 353 रनों के जवाब में खेलने उतरी कैरेबियाई टीम ने सधी हुई शुरुआत की और दिन का खेल खत्म होने तक टीम ने एक विकेट के नुकसान पर 107 रन बना लिए हैं.

वेस्टइंडीज की तरफ से ब्रेथवेट (नाबाद 53 रन) और ब्रैवो (नाबाद 18 रन) पिच पर जमे हुए हैं. वहीं टीम का एकमात्र विकेट जॉनसन के रूप में गिरा, जिन्हें 23 रन के निजी स्कोर पर राहुल ने रनआउट कर दिया. कैरेबियाई टीम अब भी 246 रनों से पीछे चल रही है.

अश्विन और साहा ने बनाए शतक 
इससे पहले भारतीय टीम ने अश्विन और साहा की शतकीय पारियों की बदौलत पहली पारी में 353 रन बनाए. एक वक्त महज 126 रनों पर ही 5 विकेट खो चुकी भारतीय टीम को इन दोनों खिलाड़ियों ने मिलकर मजबूती दी। इन दोनों के बीच 213 की महत्वपूर्ण साझेदारी की बदौलत टीम ने पहली पारी में सम्मानजनक स्कोर खड़ा दिया। इस दौरान अश्विन ने 265 गेंदों में छक्के के साथ अपना शतक पूरा किया, जो उनके करियर का चौथा शतक रहा, जबकि साहा ने अपने करियर का पहला शतक बनाया. अश्विन 117 रन (6 चौके, 1 छक्का) बनाकर आउट हुए, वहीं ऋद्धिमान साहा 227 गेंदों में 104 रन बनाकर पैवेलियन लौटे, जिसमें 13 चौके लगाए. अश्विन ने अपने सभी टेस्ट शतक विंडीज के खिलाफ ही बनाए हैं. साहा और अश्विन के बीच छठे विकेट के लिए 213 रन की साझेदारी हुई.

दूसरे दिन मंगलवार के नाबाद बल्लेबाज रविचंद्रन अश्विन और ऋद्धिमान साहा ने भारतीय पारी को 5 विकेट पर 234 रन से आगे बढ़ाया. अश्विन के साथ ऋद्धिमान साहा ने भी दूसरे छोर से जमकर बल्लेबाजी की और उनका बराबर साथ दिया. साहा ने इस टेस्ट से 13 टेस्ट मैच खेले थे, जिनमें उनके बल्ले ने 454 रन उगले थे. विंडीज के खिलाफ शतक से पहले उनका बेस्ट स्कोर 60 रन था. टेस्ट में उनका औसत 23.89 का है. साहा अगर इसी तरह खेलना जारी रखते हैं, तो एमएस धोनी की कमी पूरी कर सकते हैं. साहा के आउट होने के बाद भारतीय पारी एक फिर लड़खड़ा गई और सातवां और आठवां विकेट 2 रन के अंतराल पर ही गिर गया, जबकि नौवां विकेट 353 के स्कोर पर गिरा.

मंगलवार यानी पहले दिन एक समय भारत के 4 विकेट 100 रन के भीतर गिर गए थे. कप्तान विराट कोहली (3), शिखर धवन (3) और केएल राहुल (50) पैवेलियन लौट चुके थे. ऐसे में अजिंक्य रहाणे का साथ देने के लिए कप्तान कोहली ने अश्विन को भेज दिया. अश्विन ने रहाणे के साथ 35 रन की साझेदारी की और फिर साहा के साथ भी मोर्चा संभाले रखा और टीम को काफी हद तक संकट से बचा लिया.

शतक के मामले में सुनील गावस्कर हैं पहले स्थान पर
रविचंद्रन अश्विन ने अपने टेस्ट करियर में 4 शतक लगाए हैं और सभी शतक उन्‍होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ ठोके हैं. अगर वेस्टइंडीज के खिलाफ सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले खिलाड़ी की बात की जाए, तो लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर पहले स्थान पर हैं. गावस्कर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ सबसे ज्यादा 13 शतक लगाए हैं जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है.

'द वॉल' ने बनाए हैं विंडीज में सबसे अधिक रन
तेज विकेट पर आसानी से बल्लेबाजी के लिए तकनीक का खासा महत्व होता है. जाहिर है इस मामले में टीम इंडिया की दीवार कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ से बेहतर भला कौन हो सकता है. उनके नाम इंडीज की धरती पर भारत की ओर से सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड है. द्रविड़ ने 1997 से 2011 के बीच अपने क्रिकेट करियर में इंडीज की जमीन पर 17 टेस्ट मैच खेले और 28 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 1511 रन अपने नाम किए. उनका बेस्ट 146 रन और औसत 65.69 रहा। हालांकि औसत के मामले में वह दूसरे नंबर पर हैं. उनके बल्ले से 3 सेंचुरी और 11 फिफ्टी निकलीं.

'लिटिल मास्टर' का कोई सानी नहीं
इंडीज में रन बनाने के मामले में दूसरे नंबर पर काबिज लिटिल मास्टर के नाम से मशहूर सुनील गावस्कर (करियर 1971-1983) टीम इंडिया के बेहतरीन ओपनर रहे हैं. गावस्कर के नाम इंडीज की धरती पर 13 मैचों की 24 पारियों में 1404 रन हैं और उनका औसत तो देखिए, जो इंडीज में रन बनाने वाले टॉप-10 भारतीय बल्लेबाजों में सबसे अधिक 70.20 है। इंडीज में उन्होंने 7 शतक और 4 फिफ्टी लगाई हैं. उनका बेस्ट 220 रन है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com