Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

IND vs WI: अंबाती रायुडु ने खोला फिर से हासिल फिटनेस का 'राज़'

IND vs WI: अंबाती रायुडु ने खोला फिर से हासिल फिटनेस का 'राज़'

अंबाती रायुडू

खास बातें

  • यो-यो ही नहीं, बल्ले से भी पास !
  • विश्व कप में नंबर-4 हुआ पक्का!
  • विराट ने दिया रायुडू को बड़ा संकेत!
विशाखापट्टनम:

विंडीज के खिलाफ जारी वनडे सीरीज एक बात तो साफ है कि बहुत हद तक टीम इंडिया की नंबर-4 बल्लेबाज की समस्या खत्म हो गई है. और यह हल निकाला है अंबाती रायुडू ने. पिछले मैच में अंबाती रायुडू ने शतक जड़ा, तो वहीं भारत के लिए अभी तक सीरीज में रायुडू तीसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. यहां तक कि कप्तान विराट कोहली ने भी साफ कर दिया था कि टीम मैनेजमेंट बेहतर करने के लिए विश्व कप तक रायुडू का समर्थन करेगा. साथ ही, भारतीय कप्तान ने इशारा भी दे दिया था कि विश्व कप के लिए रायुडू का चयन तय है. 

हालांकि, कुछ महीने पहले तक हालात ऐसे नहीं थे. इंग्लैंड दौरे के लिए घोषित मूल टीमें अंबाती रायुडू का नाम शामिल था. लेकिन यो-यो फिटनेस टेस्ट में फेल होने के कारण रायुडू को ड्रॉप कर दिया था. इससे पहले भी उन्हें भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए आईपीएल में खुद को बहुत ज्यादा साबित करना पड़ा था. बहरहाल, अब रायुडु ने दिखा दिया है कि टीम मैनेजमेंट ने उन पर जो भरोसा दिखाया है, उस पर वह पूरी तरह खरा उतरेंगे.

आईसीसी ने श्रीलंका के गेंदबाजी कोच जोयसा को फिक्सिंग के आरोपों में हटाया

यो-यो टेस्ट की विफलता ने रायुडू का नजरिया बदल दिया. इसके बाद इस हैदराबादी ने अपनी फिटनेस पर जमकर काम करते हुए यो-यो टेस्ट पास किया. टीम में जगह मिली, तो रायुडू ने बल्ले से दिखा दिया कि वह भारत के लिए कितने ज्यादा उपयोगी है.

बहरहाल, स्टार स्पोर्टस के कार्यक्रम में कैफ और वीवीएस लक्ष्मण से बातचीत में खुलासा किया कि कैसे बेहतरीन फिटनेस हासिल करने के लिए उन्होंने अपनी खान-पान की आदत को बदला. और इसी बात ने उनकी बहुत ज्यादा फिट होने में मदद की. रायुडू ने कहा कि उन्हें बिरयानी बहुत पसंद थी. और वह बहुत ज्यादा बिरयानी खाते थे. 

VIDEO: तीसरे वनडे में हार के बाद एनडीटीवी विशेषज्ञ हार की विवेचना करते हुए.

इस हैदराबादी बल्लेबाज ने कहा कि लेकिन टीम इंडिया की जर्सी फिर से पहने के लिए उन्होंने बिरयानी खाना छोड़ दिया है. और उन्होंने पिछले तीन महीने से बिरयानी नहीं खाई है. वास्तव में रायुडू के इस 'त्याग' की अनदेखी नहीं की जा सकती. लेकिन इस बात ने रायुडू के करियर को एक बार फिर से खड़ा कर दिया है.