NDTV Khabar

... तो इस वजह से भारत गंवा सकता है ICC Champions Trophy 2021 की मेजबानी

भारत में टैक्स में छूट न मिलने की वजह से चैंपियन्स ट्रॉफी की मेजबानी पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं.

174 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
... तो इस वजह से भारत गंवा सकता है ICC Champions Trophy 2021 की मेजबानी

विराट कोहली और रोहित शर्मा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारत द्वारा चैंपियन्स ट्रॉफी की मेजबानी को लेकर नया विवाद शुरू हो चुका है. भारत में टैक्स में छूट न मिलने की वजह से चैंपियन्स ट्रॉफी की मेजबानी पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. भारत में टैक्स में छूट ना मिलने पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) चैम्पियंस ट्राफी 2021 की मेजबानी का अधिकार वापस ले सकता है. आईसीसी ने इसके आयोजन के लिए ऐसे वैकल्पिक देशों की तलाश भी शुरू कर दी है, जहां का समय क्षेत्र भारत से मिलता जुलता हो.

आईसीसी की कल आयोजित साल की पहली बोर्ड बैठक के बाद इस बात पर चिंता गयी की उसके आयोजनों पर भारतीय सरकार टैक्स में छूट नहीं दे रही. इस वैश्विक संस्था ने हालांकि कहा कि वे बीसीसीआई के जरिए सरकार से बातचीत जारी रखेंगे. आईसीसी की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ‘आईसीसी ने चिंता जाहिर की कि उसके और बीसीसीआई की कोशिशों के बाद भी भारत में होने वाले आईसीसी आयोजनों पर सरकार टैक्स छूट नहीं दे रही है. दुनिया में किसी भी बड़े खेल आयोजन पर टैक्स छूट दी जाती है.’

यह भी पढ़ें - INDvsNZ चैंपियंस ट्रॉफी : बारिश से बाधित प्रैक्टिस मैच में टीम इंडिया को 45 रन से मिली जीत


टिप्पणियां

शीर्ष क्रिकेट निकाय ने कहा कि बीसीसीबाई की मदद से आईसीसी इस मसले को सुलझाने के लिस सरकार से बातचीत के साथ ऐसे वैकल्पिक देश की तलाश कर रही है जिसका समय क्षेत्र भारत से मिलता जुलता हो. रिपोर्ट के मुताबिक अगर इस बड़े आयोजन के लिए टैक्स छूट नहीं मिलती है तो आईसीसी को 10 करोड़ डॉलर का नुकसान झेलना पड़ सकता है. इससे पहले पिछले साल दिसंबर में बीसीसीआई ने 2021 में चैम्पियंस ट्राफी और 2023 में विश्व कप की मेजबानी की घोषणा की थी.  

VIDEO: युवराज सिंह हमेशा गेम चेंजर रहे हैं: सुनील गावस्कर (इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement