Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

INDvSA: कोरोनावायरस से डरकर ऐसा नहीं करने का फैसला कर सकत़े हैं भारतीय खिलाडी, भुवनेश्वर कुमार ने कहा..

Bhuvneshwar Kumar ने कहा है कि देश में फैले कोरोनावायरस के कारण ऐसा संभव है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान टीम गेंद को चमकाने के लिए उस पर लार नहीं लगाने के बारे में निर्णय ले सकती है

INDvSA: कोरोनावायरस से डरकर ऐसा नहीं करने का फैसला कर सकत़े हैं भारतीय खिलाडी, भुवनेश्वर कुमार ने कहा..

कोरोनावायरस से बचने के लिए भारतीय टीम गेंद को चमकाने के लिए उस पर लार नहीं लगाएगी

खास बातें

  • भारत और दक्षिण अफीका के बीच पहला वनडे मैच धर्मशाला में
  • गेंद चमकाने के लिए उस पर लार नहीं लगाने का फैसला कर सकती है भारतीय टीम
  • धर्मशाला में मौसम बिगाड़ सकता है खेल
धर्मशाला:

India vs South Africa ODI: भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) ने कहा है कि देश में फैले कोरोनावायरस के कारण ऐसा संभव है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान टीम गेंद को चमकाने के लिए उस पर लार नहीं लगाने के बारे में निर्णय ले सकती है. काफी समय बाद टीम में लौटे भुवनेश्वर ने कहा कि इस वायरस के बढ़ते प्रकोप से बचने के लिए एहतियातन ऐसा किया जा सकता है। भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका के साथ गुरुवार को यहां तीन मैचों की वनडे सीरीज का पहला मैच खेलना है. भुवनेश्वर ने मैच की पूर्वसंध्या पर संवाददाता सम्मेलन में कहा, "हमने अभी इस पर लार का इस्तेमाल नहीं करने के बारे में सोचा है लेकिन मैं अभी यह नहीं कह सकता कि हम गेंद को चमकाने के लिए लार का इस्तेमाल नहीं करेंगे.अगर हमने शाइन नहीं चमकाई तो वे हमारी पिटाई करेंगे और फिर आप लोग कहेंगे कि हम अच्छी गेंदबाजी नहीं कर रहे."

उन्होंने कहा, "लेकिन यह एक महत्वपूर्ण मुद्दा है और आज हमारी टीम की बैठक है और इसमें हमें जो भी निर्देश मिलते हैं, हम जो भी बेहतर विकल्प अपना सकते हैं हम उन पर विचार करेंगे। यह सब टीम डॉक्टर्स पर निर्भर करता है कि वे हमें क्या सलाह दे रहे हैं।" अनुभवी तेज गेंदबाज भुवनेश्वर की स्पोर्ट्स हर्निया की सर्जरी के बाद टीम में वापसी हुई है। उन्होंने कहा कि इस मुश्किल घड़ी में टीम हर जरूरी सावधानी बरत रही है।

उन्होंने हालांकि आईपीएल (IPL 2020) की स्थिति पर कुछ भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। भुवी ने कहा, "इस समय आप कुछ भी नहीं कह सकते क्योंकि यह भारत में खतरनाक रूप लेता जा रहा है। लेकिन हम सावधानी बरत रहे हैं, जितना की हम बरत सकते हैं। हमारे साथ डॉक्टरों की एक टीम है और वे हमें क्या करना है और क्या नहीं करना है, इसे लेकर सलाह दे रहे हैं।"

वीडियो: 15 साल की लड़की ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्ड



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)