NDTV Khabar

कानपुर में भारत-न्‍यूजीलैंड टेस्‍ट के लिए टिकट की बिक्री ठंडी, खेलप्रेमियों में नहीं दिख रहा उत्‍साह..

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कानपुर में भारत-न्‍यूजीलैंड टेस्‍ट के लिए टिकट की बिक्री ठंडी, खेलप्रेमियों में नहीं दिख रहा उत्‍साह..

कानपुर का ग्रीन पार्क (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. ऑनलाइन टिकटों की बिक्री अब तक नहीं के बराबर
  2. यूपीसीए अफसर परेशान, ऐसा रहा तो कैसे भरेगा स्‍टेडियम
  3. 22 से 26 सितंबर के बीच खेला जाना है पहला टेस्‍ट मैच
कानपुर.:

भारत और न्यूजीलैंड के बीच ग्रीन पार्क में पहला टेस्ट मैच शुरू होने में अब केवल 13 दिन बचे हैं लेकिन शहर के क्रिकेट प्रेमियों में इस मैच के प्रति कोई उत्साह नहीं है. आलम यह है कि ऑनलाइन टिकटों की बिक्री नहीं के बराबर हो रही है. दर्शकों के इस रुख के कारण उत्तरप्रदेश क्रिकेट संघ (यूपीसीए) के अधिकारी परेशान हैं कि आखिर 26 हजार दर्शकों की क्षमता वाले स्टेडियम को कैसे भरा जाएगा.

यूपीसीए ने वैसे टेस्ट क्रिकेट में आम जनता की कम रुचि को पहले ही भांप लिया था और टेस्ट मैच में दिव्यांग बच्चों और सरकारी स्कूलों के बच्चों के लिए 20 प्रतिशत सीटें रिजर्व रखने ऐलान किया था तथा इन बच्चों को मुफ्त में क्रिकेट मैच दिखाने की घोषणा की थी. यूपीसीए के निदेशक पीडी पाठक ने शुक्रवार को कहा, ‘बुक माय शो के माध्यम से पहले टेस्ट मैच के टिकटों की बिक्री शुरू हो गई है और टिकटों के दाम 150 रुपए से लेकर 2000 रुपए तक रखे गए हैं. अभी टिकटों की बिक्री ने जोर नही पकड़ा है लेकिन उम्मीद है कि जैसे-जैसे मैच की तारीख नजदीक आएगी, टिकटों की बिक्री बढ़ेगी.’

टिप्पणियां

पाठक से पूछा गया कि अभी तक कितने टिकट बिके हैं तो उन्होंने कहा कि ऑनलाइन टिकटों की बिक्री का आंकड़ा उनके पास नहीं है. वैसे सूत्रों का कहना है कि केवल कुछ हजार टिकट ही बिके हैं. अगर ऑनलाइन टिकट नही बिक पाए तो आखिरी के दिनों में मैच स्थल के अलावा अन्य स्थलों से भी टिकट बेचे जा सकते हैं. टेस्ट मैच के प्रति उत्साह न होने का एक कारण और है कि 22 से 26 सितंबर तक कोई छुटटी नहीं है इसलिए स्कूली बच्चे और युवा भी मैच में ज्यादा रुचि नहीं दिखा रहे हैं. वैसे 25 सितंबर को रविवार है इसलिए उस दिन दर्शकों की संख्या अधिक होने की उम्मीद है.


(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement