चीन में क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए भारत-पाकिस्तान मिलकर देंगे मदद

चीन में क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए भारत-पाकिस्तान मिलकर देंगे मदद

प्रतीकात्मक फोटो

भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट बोर्ड एक साथ चीन में क्रिकेट के विकास पर काम करने के लिए तैयार हो गए हैं। दुबई में आईसीसी की बैठक में सदस्य देशों को चीन में क्रिकेट की हालत के बारे में बताया गया। चीन आईसीसी का एफ़िलेट मेंबर है। चीन में इस वक्त 80,000 क्रिकेट के खिलाड़ी बताए जाते हैं जिनमें महिला खिलाड़ियों की संख्या 35000 है।

चीन में क्रिकेटरों की इस संख्या से उत्साहित होकर क्रिकेट बोर्ड मानते हैं कि आईसीसी को चीनी क्रिकेट संघ के साथ मिलकर काम करना चाहिए और लंबे समय के लिए योजना बनानी चाहिए।

7 साल पहले 2009 में भारतीय क्रिकेट संघ ने चीन में क्रिकेट के विकास के लिए 20 लाख रुपए के इक्विपमेंट भेजे थे। चीन में क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए वहां के दस शहरों को टारगेट किया जा रहा है। चीन के महिला और पुरुष टीम के राष्ट्रीय कोच राशिद ख़ान बताते हैं कि लोगों को वहां पहले बल्ला पकड़ने में भी मुश्किल होती थी।

जानकार बताते हैं कि पिछले दस साल में चीन में क्रिकेट को लेकर बड़ा बदलाव आया है। लोगों में क्रिकेट को लेकर समझ भी बढ़ी है। दुबई में आईसीसी की बैठक में इस बात पर भी ज़ोर दिया गया कि चीन की महिला क्रिकेट टीम वर्ल्ड T20 2016 में क्वालिफ़ाई करने से ज़रा सी कमी से चूक गई।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com