NDTV Khabar

IND vs AUS 1st Test: चेतश्वर पुजारा के शतक ने करायी वापसी, पहले दिन भारत 9 पर 250 रन

AUS vs IND, 1st Test: एडिलेड टेस्ट के पहले दिन का आकर्षण पूरी तरह से चेतेश्वर पुजारा के 16वें शतक के इर्द-गिर्द सिमट कर रह गया. पुजारा ने प्रथण श्रेणी करियर के 14,000 पूरे करने के अलावा टेस्ट में अपने 5000 रन भी पूरे किए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs AUS 1st Test:  चेतश्वर पुजारा के शतक ने करायी वापसी, पहले दिन भारत 9 पर 250 रन

India tour of Australia, 2018-19: चेतेश्वर पुजारा की फाइल फोटो

खास बातें

  1. भारत पहली पारी (87.5 ओवरों में 9 विकेट पर)- 250 रन
  2. चेतेश्वर पुजारा 123, रोहित शर्मा 37, पंत 25, अश्विन 25
  3. स्टॉर्क, हेजलवुड, कमिंस और लॉयन को मिले दो-दो विकेट
एडिलेड: मेहमान भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट के पहले दिन टॉस जीतकर पहले बैटिंग चुनकर बुरी तरह लड़खड़ाने के बाद चेतेश्वर पुजारा (123 रन, 246 गेंद, 7 चौके, 2 छक्के) के करियर के 16वें शतक की बदौलत भारत ने दिन ढलते-ढलते मुकाबले में वापसी कर ली. 88वें ओवर में पुजारा के रन आउट होने के साथ ही अंपायरों ने पहले दिन के खेल के खत्म होने का ऐलान कर दिया.पुजारा ने अपनी इस शतकीय पारी के साथ ही प्रथम श्रेणी करियर के 14,000 और टेस्ट करियर के पांच हजार रन भी पूरे कर लिए. वास्तव में सौराष्ट्र के इस बल्लेबाज ने अपने करियर के 16वें शतक से ड्रेसिंग रूम में बैठे सितारों को आईना दिखाया कि संकट के समय टीम की जरूरत के हिसाब से कैसे बल्लेबाजी की जाती है. पहले दिन का आकर्षण पूरी तरह से पुजारा की पारी रही. 

दिन की समाप्ति पर भारत ने 9 विकेट पर 250 रन बना लिए हैं. भारत को यहां तक पहुंचाने में पुजारा के अलावा निचले क्रम में ऋषभ पंत (25) और अश्विन (25) का भी अहम योगदान रहा. इनके अलावा रोहित शर्मा ने भी भी 37 रन बनाए.  दिन की समाप्ति पर मोहम्मद शमी 6 रन पर नाबाद थे. ऑस्ट्रेलियाई के लिए मिशेल स्टॉर्क, जोस हेजलवुड, पैट कमिंस और ऑफ स्पिनर नॉथन लॉयन ने दो-दो विकेट चटकाए.  पहला सेशन: औंधे मुंह गिरे दिग्गज!

1. खराब शुरुआत 

एडिलेड की पिच में वैसी तेजी और उछाल नहीं दिखाई दिया, जैसी मैच से पहले चर्चा हो रही थी. पिच के स्वभाव को एकतरफ रख दें तो भारत के दोनों ओपनरों केएल राहुल और मुरली विजय को पिच पर अच्छा समय गुजारने की जरूरत थी. लेकिन केएल राहुल का रवैया अलग ही देखने को मिला. शॉट चयन के लिए केएल राहुल आलोचकों के निशाने पर रहे हैं. और इस बार भी उनमें सुधार देखने को नहीं मिला. हेजलवुड की ऑफ स्टंप से काफी बाहर जाती गेंद का पीछा करने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं थी. लेकिन आदत से मजबूर केएल राहुल ड्राइव करने गए, तो शॉट का समापन तीसरी स्लिप में खड़े एरॉन फिंच के हाथों में हुआ. दूसरे ही ओवर की आखिरी गेंद पर राहुल ने ऐसा शॉट खेला मानो वन वनडे में पारी शुरू करने उतरे हों. कुल मिलाकर एक बेवजह के शॉट से भारत की शुरुआत बिगड़ गई. इस खराब शुरुआत पर 'कोढ़ पर खाज' का काम किया मुरली विजय (11) के विकेट ने. बेहतरीन फॉर्म पर सवार मुरली विजय काफी कॉन्फिडेंट दिख रहे थे. वह कंगारू सीमरों से अच्छा लोहा लेते दिखाई पड़े, लेकिन मिशेल स्टॉर्क ने जल्द ही उन्हें विकेट के पीछे कप्तान और विकेटकीपर टिम पेन के हाथों लपकवा दिया.  2. विराट झटका !
दोनों ओपनरों के 15 रन पर पेवेलियन लौटने के बाद ज्यादातर मौकों की तरह ही करोड़ों भारतीयों की उम्मीदें कप्तान विराट (11) पर आ गईं. और अपनी शुरुआती 15 गेंदों पर कोहली विश्वसनीय भी दिखे. अब इसे शॉट खेलने जाने की जल्दबाजी कहें, या गली में खड़े उस्मान ख्वाजा के बहुत ही बेहतरीन कैच के रूप में कोहली की बदकिस्मती कि पैट कमिंस ने फेंके अपने पहले ही ओवर में टीम  इंडिया को विराट झटका दे ही दिया. और दवाब रूपी चादर ने पूरी तरह से भारत को अपने भीतर समेट लिया. 
दूसरा सेशन: पुजारा ने संभाले रखी पतवार

1.  ..और टूट गई उम्मीदें
लंच के समय भारत का स्कोर 4 विकेट पर 56 रन था. टीम इंडिया पूरी तरह बैकफुट पर आ चुकी थी, लेकिन एक सकारात्मक बात रोहित का पुजारा के साथ नजरें जमा लेना रहा. इस बात ने करोड़ों क्रिकेटप्रेमियों को उम्मीद दी कि यहां एक बड़ी साझेदारी देखने को मिल सकती है. पैट कमिंस के फेंके 34वें ओवर में रोहित ने कवर के ऊपर से बेहतरीन छक्का जड़कर इस उम्मीद को और बल दिया. रोहित यहां से थोड़ा आक्रामक हो चले थे. कुछ देर बाद ही लॉयन के फेंके 38वें ओवर में रोहित ने वनडे के तेवर दिखाते हुए स्लॉग-स्वीप से एक और छक्का जड़ा, लेकिन अगली ही गेंद पर एक और बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में राउट हो गए. और इसी के साथ ही पुजारा-रोहित की बड़ी साझेदारी की उम्मीदें भी चूर हो गईं. रोहित ने पुजारा के साथ पांचवें विकेट के लिए 45 रन जोड़े. रोहित के बाद इसी सेशन में एक और उम्मीद ऋषभ पंत (25) ने दिखाई. हालांकि, कई मौकों पर ऐसा लगा कि वह आउट हो सकते हैं, लेकिन उलट यह रहा कि लॉयन की गेंद पर वह आक्रामक नहीं, बल्कि डिफेंसिस शॉट खेलने की कोशिश में आउट हुए. लेकिन इसके बाद इस सेशन में और कोई झटका नहीं लगा. और चायकाल के समय भारत का स्कोर 56 ओवर में 6 विकेट पर 143 रन था. 

तीसरा सेशन: पुजारा और अश्विन का शानदार रवैया
ऊपरी क्रम में आउट हुए धुरंधरों को कुछ ऐसा ही रवैया दिखाना था, जैसा इन दोनों बल्लेबाजों ने दिखाया. रोहित शर्मा नंबर सात अश्विन (25) से सीख सकते हैं कि जरूरत के समय टीम के लिए टिकने के क्या मायने हैं. चायकाल के कुछ ही देर बाद पुजारा ने अपना 20वां अर्धशतक पूरा किया, तो अश्विन के साथ मिलकर उन्होंने लंगर डाल दिया. और ड्रेसिंग रूप में बैठे सितारों को उन्‍होंने दिखाया कि टेस्ट में बल्लेबाजी कैसे की जाती है. जितना संभव हुआ, अश्विन ने योगदान दिया और सातवें विकेट के लिए पुजारा के साथ महत्वपूर्ण 62 रन की साझेदारी निभाई.

टिप्पणियां

विकेट पतन:  3-1 (राहुल, 1.6). 15-2 (विजय, 6.6), 19- (कोहली, 10.3), 41-4 (रहाणे, 20.2), 86-5 (रोहित, 37.3), 127-6 (ऋषभ, 49.1), 189-7 (अश्विन, 73.6), 210-8 (ईशांत, 82.4), 250-9 (पुजारा, 87.5)

इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया. टीम इंडिया ने इस मुकाबले में हनुमा विहारी की जगह रोहित शर्मा को इलेवन में जगह दी. दोनों देशों की फाइनल इलेवन इस प्रकार हैं:  भारत : विराट कोहली (कप्तान), मुरली विजय, लोकेश राहुल, चेतेश्‍वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी.ऑस्ट्रेलिया : टिम पैनी (कप्तान/विकेटकीपर), एरॉन फिंच, मार्क्स हैरिस, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ट्रेविस हेड, मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, नाथन लॉयन और जोस हेजलवुड.

वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और विराट में यह बात है कॉमन


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement