Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

India vs Australia, 1st Test Match, Day-4: चौथे दिन भारत ने कसा पहले टेस्ट पर शिकंजा, जीत से छह विकेट दूर

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
India vs Australia, 1st Test Match, Day-4: चौथे दिन भारत ने कसा पहले टेस्ट पर शिकंजा, जीत से छह विकेट दूर

AUS vs IND, 1st Test: अश्विन ने दूसरी पारी में बेहतरीन गेंदबाजी की

खास बातें

  1. ऑस्ट्रेलिया दूसरी पारी (49 ओवर में 4 विकेट पर) 94 रन, मार्श 31*, हेड 11*
  2. मोहम्मद शमी 15 पर 2, आर. अश्विन 44 पर 2, भारत दूसरी पारी- 307 रन
  3. पुजारा, 71, रहाणे 70, नॉथन लॉयन 122 पर 6
एडिलेड:

भारत और ऑस्ट्रेलिया (India tour of Australia, 2018-19) के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज के तहत एडिलेड (Adelaide Oval, Adelaide) में खेले जा रहे पहले टेस्ट (AUS vs IND, 1st Test, Day 4) के चौथे दिन भारत ने मेजबानों पर शिकंजा कस दिया है. भारत से मिले जीत के 323 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने दिन का खेल खत्म होने के समय अपनी दूसरी पारी में चार विकेट पर 104 रन बना लिए हैं.

शॉन मार्श 31 और ट्रेविस हेड 11 रन बनाकर नाबाद हैं. शमी और अश्विन ने दो-दो विकेट चटकाए. आखिरी दिन ऑस्ट्रेलिया को विजयी लक्ष्य हासिल करने के लिए अभी 219 रन और बनाने हैं और उसके हाथ में छह विकेट शेष हैं भारत ने अपनी दूसरी पारी में 307 रन बनाए. भारत का स्कोर और भी ्ज्यादा हो सकता था, लेकिन ऑफी नॉथन लॉयन के चटकाए छह विकेटों से भारतीय पारी उम्मीद से काफी पहले ही सिमट गई.

ऑस्ट्रेलिया ने भारत से मैच जीतने के लिए 323 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए दूसरी पारी के दूसरे सेशन के आखिरी पलों में अपना पहला विकेट एरॉन फिंच (11) के रूप में गंवाया. फिंच को अश्विन ने पंत के हाथों लपकवाकर ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत बिगाड़ दी.फिंच के आउट होते ही चायकाल की घोषणा कर दी गई. और तब तक ऑस्ट्रेलिया ने 12 ओवर में 1 विकेट पर 28 रन बनाए थे. अगले सेशन में जमकर खेल रहे मारकस हैरिस (26) को मोहम्मद शमी ने अपना पहला शिकार बनाया, तो कुछ ही देर बाद अश्विन ने उस्मान ख्वाजा (8) को आउट कर कंगारुओं को जोर का झटका दिया. मार्श के साथ एक छोर पर हैंड्सकॉम्ब (14) जमते दिखाई पड़े, लेकिन निगाहें जमने के बाद वह भी शमी की गेंद पर पुल लगाने की कोशिश में पुजारा को कैच दे बैठे. और इस विकेट से ऑस्ट्रेलियाई टीम पूरी तरह से बैकफुट पर आ गई. 

विकेट पतन: 28-1 (फिंच, 11.6), 44-2 (हैरिस, 16.2), 60-3 (ख्वाजा, 23.3), 84-4 (हैंड्सकॉम्ब, 36.5)

भारत की दूसरी पारी दूसरे सेशन में 307 रनों पर खत्म हुई. पहले चेतश्वर पुजारा (71) और फिर अजिंक्य रहाणे (70) की उम्दा बैटिंग की बदलौत भारत ऑस्ट्रेलिया पर मजबूत पकड़ बनाने में कामयाब रहा. पहली पारी के 15 रन को मिलाकर भारत ने कुल 322 रन की बढ़त हासिल कर ली है. वैसे अगर भारत अपनी स्थिति और मजबूत नहीं कर सका, तो उसकी बड़ी वजह ऑफ स्पिनर नॉथन लॉयन रहे, जिन्होंने छह विकेट चटकाए. एक समय भारत का स्कोर 6 विकेट पर 282 रन था, लेकिन पंत क्या आउट हुए, भारत ने अपने आखिरी पांच विकेट सिर्फ 25 रन के भीतर गंवा दिए. 

दूसरा सेशन:

1. लंबे नहीं खिंच सकें पंत के तेवर

चायकाल के समय विकेटकीपर ऋषभ पंत 10 रन पर नाबाद थे. सभी उम्मीद कर रहे थे कि टी के बाद कंगारू गेंदबाजों पर बुरी तरह टूटेंगे. और कुछ ऐसा ही हुआ. चायकाल के बाद नॉथन लॉयन के फेंके ठीक पहले ही ओवर में पंत ने तीन चौके और एक छक्का जड़कर कुल 18 रन बटोर डाले, लेकिन नॉथन ने अपने अगले ही ओवरों में  उनके आक्रामक तेवरों को खत्म कर दिया. पंत ने 16 गेंदों पर 4 चौकों और 1 छक्के से 28 रन बनाए. और क्रिकेटप्रेमियों की उम्मीदें धराशायी हो गईं, जो पंत ने चायकाल के बाद पहले ओवर में 18 रन बटोरकर जगाई थीं. 

2. ...और लग गई विकेटों की झड़ी

नॉथन लॉयन के एक ओवर में 18 रन बनाने वाले ऋषभ पंत क्या आउट हुए, मानो एकदम से विकेटों की झड़ी लग गई. मनहूस अंक बना 303! इस रन संख्या पर पहले स्टॉर्क ने अश्विन को पवेलियन भेजा, तो फिर नॉथन लॉयन लगातार दो गेंदबाजों पर रहाणे और शमी को पवेलियन भेजकर हैट्रिक पर आ गए. इसके बाद तो भारतीय पारी को सिमटने में ज्यादा देर नहीं लगी. भारत ने अपने आखिरी पांच विकेट 25 रन के भीतर गंवा दिए. और इसके पीछे जिम्मेदार रहा नॉथन लॉयन का विकेटों का छक्का! नॉथन ने 42 ओवरों में 7 मेडन रख 122 रन देते हुए छह विकेट चटकाए. इसमें विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और रहाणे के विकेट भी शामिल रहे. 

पहला सेशन:

1. पुजारा-रहाणे ने दी मजबूती

सुबह खेल तय समय से करीब आधा घंटा पहले शुरू हुआ. और दूसरे दिन के नाबाद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे ने ्अपना ध्यान पूरी तरह से पारी को मजबूती प्रदान कर पर दिया. यहां दोनों की प्राथिकता विकेट न गंवाने पर रही. यही वजह रही कि रन धीमी गति से आए. हालांकि, नॉथन लॉयन की कसावट भरी गेंदबाजी के बीच कुछ बाउंड्री बटोरने का काम इन्होंने बखूबी किया. जल्द ही पुजारा ने दूसरी पारी में भी अपना अर्धशतक पूरा किया. इसी बीच लॉयन के फेंके 74वें ओवर में रहाणे को शॉर्ट लेग पर फिंच की कैच की अपील पर अंपायर ने आउट करार दिया, लेकिन थर्ड अंपायर ने रहाणे के पक्ष में फैसला दिया.

इसी ओवर में भारत ने अपनी कुल बढ़त भी दो सौ कर ली. समय गुजरा तो पुजारा ने अपनी बैटिंग में आक्रामता का तड़का लगाया. मिशेल स्टॉर्क दूसरी नई गेंद के साथ 81वां ओवर लेकर आए, तो पुजारा ने उन्हें दो चौके जड़े, तो स्टॉर्क के अगले ओवर में भी पुजारा ने दो बाउंड्रियां हासिल कीं. बहरहाल, 87वें ओवर में लॉयन के तीखे घुमाव और उछाल ने पुजारा की शानदार पारी का अंत कर दिया. लेकिन आउट होने से पहले पुजारा ने रहाणे के साथ चौथे विकेट के लिए 87 रन की साझेदारी कर भारतीय पारी को अच्छी मजबूती प्रदान की. इन दोनों ने 30.5 ओवरों में 87 रन की साझेदारी 2.85 रन प्रति ओवर की दर से निभाई. 

2. रहाणे ने भी दिखाया दम

पहली पारी में नंबर पांच पर सस्ते में आउट होने के बाद दूसरी पारी में रहाणे पर बेहतर करने का दबाव था. और रहाणे का अर्धशतक इससे बेहतर समय पर नहीं आ सकता था. टीम इंडिया को जरूरत थी और उन्होंने पुजारा के साथ मिलकर सकारात्मक अंदाज में बल्लेबाजी की. और टीम इंडिया का मेजबानों पर शिकंजा कसने में अहम योगदान दिया. 

3. रोहित की वनडे की जकड़न!

जहां पहली पारी में रोहित शर्मा के रवैये पर सवाल उठे थे, तो दूसरी पारी में भी यह साफ हो गया है कि इस मुंबईया बल्लेबाज को टेस्ट क्रिकेट में ढलने के लिए खुद पर काम करना होगा. पहली पारी में अपने शॉट के लिए चौतरफा आलोचना झेलने वाले रोहित शर्मा दूसरी पारी में भी सिर्फ 1 ही रन बना सके. दोनों पारियों में उनका अंदाज साफ कह गया कि अगर उन्हें आने वाले समय में अपने खाते में और टेस्ट मैच जमा करने हैं, तो उन्हें वनडे की मानसिकता से बाहर निकलना होगा. वहीं, रोहित के इस हाल के बाद हनुमा विहारी के समर्थक यह सवाल करने लगे हैं कि क्या रोहित को इसीलिए टीम में शामिल किया गया था. 

विकेट पतन: विकेट पतन: 63-1 (विजय, 18.2), 76-2 (राहुल, 24.2), 147-3 (विराट, 57.1), 234-4 (पुजारा, 87.6), 248-5 (रोहित, 91.2), 282-6 (पंत, 97.1), 303-7 (अश्विन, 102.2), 303-8 (रहाणे, 103.1), 303-9 (शमी, 103.2)

तीसरे दिन के खेल की बात करें, तो सरे दिन की समाप्ति पर भारत ने अपनी दूसरी पारी में 3  विकेट पर 151 रन बनाए थे दिन की समाप्ति पर पुजारा 40 और रहाणे 1 रन बनाकर जमे थे. इस तरह पहली पारी की 15 रन की बढ़त को मिलाकर भारत की कुल बढ़त 166 रन की हो गई थी. मैच के लिए दोनों देशों की फाइनल इलेवन इस प्रकार हैं: 

भारत : विराट कोहली (कप्तान), मुरली विजय, लोकेश राहुल, चेतेश्‍वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी.

ऑस्ट्रेलिया : टिम पैनी (कप्तान/विकेटकीपर), एरॉन फिंच, मार्क्स हैरिस, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ट्रेविस हेड, मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस, नाथन लॉयन और जोस हेजलवुड.

वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और विराट में यह बात है कॉमन



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... क्रिकेट मैच में विकेटकीपर बना डॉगी, बिजली की रफ्तार से गेंद पर यूं लपका, एक्ट्रेस ने शेयर किया Video

Advertisement