NDTV Khabar

IND vs AUS, 2nd Test, Day 2: विराट-रहाणे के नाबाद अर्धशतकों ने उबारा, भारत दूसरे दिन 3 पर 172 रन

AUS vs IND, 2nd Test, Day 2: दूसरे दिन की समाप्ति पर कहा जा सकता है कि मुकाबला फिफ्टी-फिफ्टी पर है. और रविवार का दिन बहुत हद तक यह तय कर देगा कि दूसरा टेस्ट किस करवट बैठेगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs AUS, 2nd Test, Day 2: विराट-रहाणे के नाबाद अर्धशतकों ने उबारा, भारत दूसरे दिन 3 पर 172 रन

AUS vs IND, 2nd Test: पहली पारी में कोहली के कंधों पर विराट जिम्मेदारी आ गई है.

खास बातें

  1. ऑस्ट्रेलिया पहली पारी (108.3 ओवरों में ) 326 रन, हैरिस 70, फिंच 50
  2. ट्रेविस हेड 58, ईशांत शर्मा 51 पर 4, भारत पहली पारी (69 ओवर में 3 पर) 172
  3. विराट 81*, रहाणे 51*, मिशेल मार्श 42 पर 2
पर्थ:

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पर्थ में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया के 326 रन के जवाब में मेहमान भारतीय टीम ने कप्तान विराट कोहली (नाबाद 81 रन) और अजिंक्य रहाणे (नाबाद 51) की नाबाद अर्धशतकीय पारियों से  खुद को काफी हद तक शुरुआती झटकों से उबार लिया. ये दोनों अभी तक चौथे विकेट के नाबाद 90 रन की साझेदारी निभा चुके हैं. इनकी इस नॉटआउट कोशिश से भारत ने दिन का खेल समाप्त होने पर 3 विकेट के नुकसान पर 172 रन बना लिए हैं. कप्तान विराट ने शुरुआत में आक्रामक तेवर दिखाने के बाद बाद में पिच पर जमने को तरजीह दी, तो रहाणे के रवैये ने थोड़ा सा चौंकाया. शुरुआत से ही विश्वसनीय दिखाई पड़े रहाणे ने थर्ड-मैन के ऊपर से छक्का लगाया, तो कुछ दर्शनीय ड्राइव उनके बल्ले से निकले. और दोनों का यह अंदाज यह भरोसा दे गया कि अगर दोनों ही रविवार को शतक जड़ दें, तो चौंकाने वाली बात नहीं ही होगी. 

भारत अभी भी पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया से 154 रन पीछे हैं. और तीसरे दिन इस बढ़त को और कम करने के लिए भारत की बहुत ज्यादा उम्मीदें इस नाबाद जोड़ी पर निर्भर करेंगी. वहीं कोहली के चाहने वालों को विराट के 26वें टेस्ट शतक का भी बेसब्री से इंतजार रहेगा. ऑस्ट्रेलिया के लिए तीन में से दो विकेट मिशेल स्टॉर्क ने चटकाए. मेजबान टीम ने अपनी पहली पारी में 326 रन बनाए थे, जिसमें ईशांत शर्मा ने सबसे ज्यादा चार विकेट लिए. 
तीसरा सेशन:
1. जल्द साथ छोड़ गए पुजारा

चायकाल के बाद भारतीय क्रिकेटप्रेमियों की तीसरे विकेट के लिए विराट साझेदारी की उम्मीदें परवान नहीं चढ़ सकीं. तीसरे सेशन का खेल शुरू होने के कुछ ही देर बाद एक बार फिर से टीम इंडिया के मुसीबत बने मिशेल स्टॉर्क. एक उठती हुई गेंद पर पुजारा ग्लांस करने गए, लेकिन गेंद बल्ले को चूमती हुई विकेटकीपर पैन के हाथों में जा समाई. और एक समय बड़ी होती दिखाई पड़ रही यह साझेदारी सिर्फ 80 रन पर ही दम तोड़ गई. लेकिन इसके बाद ज्यादातर मौकों पर धीमा खेलने वाले अजिंक्य रहाणे का विश्वास देखने लायक था. थर्ड मैन के ऊपर से जड़ा गया छक्का हो, या पुल शॉट लगाने हों, यह मुंबईया बल्लेबाज बिल्कुल भी संशय में दिखाई नहीं पड़ा. रहाणे ने एडिलेड टेस्ट की दूसरी पारी की तरह ही बेहतरीन पारी खेलते हुए कप्तान विराट कोहली का कंधे से कंधा मिलाकर साथ दिया. और इसने भारत को पहले ओपनरों और फिर कुछ हद तक पुजारा के झटकों से उबार दिया. लेकिन पूरी तरह उबारने के लिए दोनों के शतक से कम पर बात नहीं बनेगी. 
दूसरा सेशन:
1.  और ज्यादा बिगड़ गई शुरुआत

लंच से पहले आखिरी गेंद पर मिशेल स्टॉर्क ने मुरली विजय (00) को जीरो पर ही बोरिया बिस्तर बांधकर भारत की शुरुआत पहले से ही बिगाड़ दी थी, लेकिन मानो इतना ही काफी नहीं था. लंच के बाद दो ओवर बाद ही इस बार झटका देने की बारी थी हेडवुड की. और क्या खूबसूरत गेंद थी. हवा में ही बाहर की और मूव हुई. केएल राहुल को कंधे खोलने पर मजबूर किया. और डंडे चटक गए राहुल के. इसी के साथ भारत की अच्छी शुरुआत का हो गया पूरी तरह से बंटाधार. सिर्फ 8 रन बनने तक दोनों ओपनर पवेलियन की शोभा बढ़ा रहे थे. 2.  शुरुआती परीक्षा पास की कोहली व पुचारा ने
चैंपियन बल्लेबाजों का पता कुछ ऐसे ही हालात में चलता है, जब टीम अपने दोनों सलामी बल्लेबाज सिर्फ 8 रन पर ही गंवा देती है. विराट और पुजारा को लेकर किसी को भी शक नहीं है, लेकिन योग्यता को भी परीक्षा देनी ही पड़ती है. और क्या खूब बैटिंग कोहली और पुजारा ने चायकाल तक थी. विराट ने क्रीज पर कुछ मिनट गुजारने के बाद दोनों ही बल्लेबाजों सिर पर छाए दबाव के बादल को हटाने का फैसला किया. लेकिन ज्यााद तेवर दिखाए कप्तान विराट कोहली ने. और निशाने पर आया हेजलवुड का फेंका 10वां ओवर. कोहली ने तीन गनगनाते हुए बेहतरीन चौके जड़कर मैसेज दे दिया कि वह तो हालात खराब होने के बावजूद दबाव लेने नहीं जा रहे, तो दूसरे छोर पर पुजारा ने भी बीच-बीच में सिगल-डबल्स निकालना जारी रखा. दोनों ने मिशल स्टार्क और नॉथन लॉयन का पूरे भरोसे से सामना किया. और चायकाल तक भारत का स्कोर पहुंचा दिया 32 ओवर में 2 विकेट पर 70 रन. दोनों के बीच तीसरे विकेट लिए साझेदारी यहां तक रही नाबाद 62 रन की. 
  पहला सेशन: 
1. विकेट थोड़ा देर आए, पर दुरुस्त आए !

ऑस्ट्रेलिया ने सुबह अपने शुक्रवार के स्कोर 6 विकेट पर 277 रन से आगे खेलना शुरू किया. लड़ाई तीन सौ से पार निकलने और इसके भीतर समेटने को लेकर थी, लेकिन कंगारू कप्तान टिम पैनी (39) और पैट कमिंस (19) ने सातवें विकेट के लिए  बहुत ही महत्वपूर्ण 59 रन जोड़कर ऑस्ट्रेलिया को तीन सौ से पार पहुंचाते हुए एक मजबूत स्कोर की ओर धकेल दिया, लेकिन पहले 310 के स्कोर पर दो और उसके बाद 326 के स्कोर पर दो विकेट गिरने से ऑस्ट्रेलिया खुद को साढ़े तीन सौ के आस-पास ले जाने में नाकाम रहा. लेकिन 251 पर गिरे छठे गिकेट को देखते हुए मेजबान टीम खुद को पहली पारी में 326 का अच्छा स्कोर देने में कामयाब रही. 

2. मुरली को नहीं मिली विजय!
पहली ही गेंद से केएल राहुल और मुरली विजय के रवैया बहुत ही स्पष्ट था कि पिच पर लंगर डालना है. दोनों ने शुरुआती दो ओवर तक आंखें पूरी तरह खुली रखीं, लेकिन पारी का तीसरा ओवर लेकर आए मिशेल स्टॉर्क की इनस्विंग पर तो मुरली विजय की आंखें खुली की खुली रह गईं. तीखी गेंद अंदर आई. और बल्ले और पैड के बीच से रास्ता बनाती हुई स्टंप्स को बिखर गई. भारत की शुरुआत खराब हो गई. लंच का ऐलान हो गया. 


विकेट पतन: 6-1 (विजय, 2.6), 8-2, (राहुल, 5.1), 82-3 (पुजारा, 38.2) 

3.  ऑस्ट्रेलिया का मजबूत स्कोर
इससे पहले दूसरे दिन के पहले सेशन के दूसरे घंटे में ऑस्ट्रेलियाई टीम अपनी पहली पारी में 326 रन बनाकर आउट हो गई. ऑस्ट्रेलिया ने अपने शुक्रवार के स्कोर 6 विकेट पर 277 रन से आगे खेलना शुरू किया. सातवां विकेट चटकाने में थोड़ी देरी हुई, लेकिन इसके बाद कंगारू पारी को सिमटने में देर नहीं लगी. टीम पैनी ने 38 तो कमिंस ने 19 रन बनाए. भारत के लिए ईशांत शर्मा चार विकेट चटकाकर सबसे सफल गेंदबाज रहे. उनके अलावा जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव और हनुमा विहारी को दो-दो विकेट मिले.

विकेट पतन: 112-1 (फिंच, 35.2), 130-2 (उस्मान, 45.6), 134-3 (हैरिस, 48.2), 148-4 (हैंड्सकॉम्ब, 54.1), 232-5 (मार्श, 76.6), 251-6 (हेड, 82.1), 310-7 (कमिंस, 76.6),  310-8 (पैन, 105.2), 326-9 (स्टार्क, 108.2), 326-10 (हैजलवुड, 108.3)

मैच के पहले दिन के खेल की समाप्ति पर कप्तान टिम पैनी  16 और पैट कमिंस 11 पर नाबाद थे. पहले दिन भारत के लिए पार्टटाइमर हनुमा विहारी सरप्राइज साबित हुए थे, जिन्होंने दो विकेट चटकाए. दूसरे दिन का सुबह का सेशन बहुत ही अहम साबित होने जा रहा है. और यह सेशन ही दोनों टीमों के लिए बढ़त बनाने और अपनी स्थिति मजबूत करने का अच्छा मौका है.  दोनों देशों की फाइनल इलेवन इस प्रकार है:

ऑस्ट्रेलिया : टिम पेन (कप्तान/विकेटकीपर), एरॉन फिंच, मार्कस हैरिस, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ट्रेविस हेड, मिशेल स्टॉर्क, पैट कमिंस, नाथन लॉयन और जोश हेजलवुड भारत : विराट कोहली (कप्तान), मुरली विजय, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), हनुमा विहारी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और उमेश यादव 
टिप्पणियां

VIDEO: ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर रवाना होने से पहले विराट के विचार सुनिए. 

दूसरे दिन की समाप्ति पर विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे ने मुकाबले को काफी हद तक फिफ्टी-फिफ्टी में तब्दील कर दिया है. और यह साफ हो गया है कि मैच का तीसरा और रविवार का दिन ही काफी हद यह तय करेगा कि पर्थ में दूसरा टेस्ट किस करवट बैठेगा. 
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement