IND vs AUS, 2nd Test, Day 3: ऑस्ट्रेलिया ने कसा आधा शिकंजा, 175 रन की बढ़त पर, 6 विकेट हाथ में

AUS vs IND, 2nd Test, Day 3: तीसरे दिन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने यादगार अपना 25वां शतक बनाया, लेकिन उनकी इस कोशिश के बावजूद भारत पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया से 43 रन पीछे रह गया.

IND vs AUS, 2nd Test, Day 3: ऑस्ट्रेलिया ने कसा आधा शिकंजा, 175 रन की बढ़त पर, 6 विकेट हाथ में

AUS vs IND, 2nd Test, Day 3: विराट कोहली ने एक बार फिर से बेहतरीन शतक बनाया

पर्थ:

भारत और ऑस्ट्रेलिया (India tour of Australia, 2018-19) के बीच पर्थ (Perth Stadium, Perth) में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट (AUS vs IND, 2nd Test) के तीसरे दिन ऑस्ट्रेलिया ने दिन का खेल खत्म होने तक 4 विकेट पर 132 रन बना लिए हैं. उस्मान ख्वाजा 41 और टिम पैनी 8 रन बनाकर नाबाद हैं. पहली पारी में मिली 43 रन की महत्वपूर्ण बढ़त को मिलाकर मेजबानों की कुल बढ़त 175 रन की हो चुकी है. कहा जा सकता है कि मैच पर कंगारुओं का शिकंजा करीब-करीब आधा कस गया है. वहीं भारत की पहली पारी 283 रन पर खत्म हुई.

 कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli made his 25th Ton) के 123 और अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) के 52 रन ने भारत को यहां तक पहुंचने में बड़ी भूमिका निभाई. निचले क्रम में ऋषभ पंत ने भी 36 का योगदान दिया. लेकिन अगर भारत ने अपने आखिरी पांच विकेट 32 रन के भीतर गंवा दिए, तो इसके पीछे नॉथन लॉयन बड़ी वजह रहे, जिन्होंने पांच विकेट चटकाए. नॉथन लॉयन ने भी दिखाया कि वह क्यों विश्व कप सर्वश्रेष्ठ स्पिनर हैं. लॉयन ने पांच विकेट चटकाए. उनके प्रदर्शन का इनाम ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में 43 रन की बहुत ही अहम बढ़त के रूप में मिला. 
तीसरा सेशन:
1. ...और खत्म हुआ भारत का इंतजार
फिंच के चोटिल होने पर नए बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा आए, लेकिन भारतीय बल्लेबाजों के कड़े सवाल बंद नहीं हुए. इसे पिच की मदद कहें, या कुछ भी, एकदम से ही जसप्रीत बुमराह कंगारुओं के लिए बहुत ही घातक हो गए. हैरिस के कॉन्फिडेंस पर ऐसी मार पड़ी कि वह बुमराह को लेफ्ट करने की कोशिश में बोल्ड हो गए. भारत का विकेटों का खाता खुल गया, तो गेंदबाजों के हौंसले और बुलंद हो गए. नए बल्लेबाज शॉन मार्श बुमराह के आगे एकदम भीगी बिल्ली दिखाई पड़े! उन्हे कुछ समछ नहीं आया कि हो क्या रहा था. और जल्द ही मोहम्मद शमी (5) ने पंत के हाथों लपकवा कर मार्श की पारी का भी अंत कर दिया. मार्श के गम से ऑस्ट्रेलिया पूरी तरह उबरा भी नहीं था कि फिर से गेंदबाजी के लिए बुलाए गए ईशांत शर्मा ने हैंड्सकॉम्ब (13) को एलबीडब्ल्यू कर चलता कर दिया. ऑस्ट्रेलिया को इसके बाद कोई झटका नहीं लगा. और तीसरे दिन के खेल की समाप्ति पर 175 रन की बढ़त और छह विकेटों के साथ मनोवैज्ञानिक लाभ अपने पक्ष में जमा करने में कामयाब रहा.

विकेट पतन: 59-1 (हैरिस, 17.2), 64-2 (मार्श, 20.5), 85-3 (हैंड्सकॉम्ब, 25.1), 120-4 (हेड, 40.1)

यह भी पढ़ें:  AUS vs IND, 2nd Test, DAY 3: विराट कोहली के विवादित कैच से आईसीसी के लिए सवाल,सोशल मीडिया पर फूटा गुस्सा

दूसरा सेशन:
1. और सिमट गई भारतीय पारी
भारत ने लंच के समय 7 विकेट पर 252 रन से आगे खेलना शुरू किया. और चंद मिनटों के भीतर ही ईशांत शर्मा भी पवेलियन लौट गए. इसके बाद ऋषभ पंत ने रन बनाने का जिम्मा अपने कंधों पर लेते हुए नॉथन लॉयन के खिलाफ कुछ अच्छे स्ट्रोक लगाए, लेकिन पंत के अंदाज को लॉयन ने परवान नहीं चढ़ने दिया. ए़़डिलेड टेस्ट की तरह ही और समस्या बन चुके भारतीय पुछल्ले इस जरूरत के समय पर भी नाकाम साबित हुए. भारत ने अपने आखिरी पांच विकेट सिर्फ 32 रन के भीतर गंवा दिए. और इसके लिए जिम्मेदार रहे कंगारू ऑफी नॉथन लॉयन. लॉयन ने 34.5 ओवरों में 7 मेडन रखते हुए 67 रन देकर पांच बल्लेबाजों को आउट किया. 

2. अगर वह कैच पकड़ा गया होता तो...
पहली पारी में महत्वपूर्ण 43 रनों की बढ़त पर सवार ऑस्ट्रेलिया के दोनों ओपनरों ने बहुत ही सतर्कता का परिचय दिया. लेकिन चायकाल तक करीब पौने घंटे के खेल में कंगारू ओपनर कई मौकों पर असहज दिखाई पड़े. खासतौर पर मारकस हैरिस को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा. पहले तो ईशांत शर्मा के फेंके 5वें ओवर में स्लिप में चेतेश्वर पुजारा ने उनका थोड़ा मुश्किल कैच छोड़ दिया. यह विकेट मिल जाता, तो इस पारी में भारत का विकेट लेने का सिलसिला शुरू हो जाता. हैरिस बच गए, लेकिन आठवें ओवर में जसप्रीत बुमराह की एक तीखी बाउंसर से खुद को नहीं बचा सके. बुमराह की सटीक बाउंसर हैरिस के हेलमेट से टकराई और वह एकदम से हिलकर रह गए. शुक्र यह रहा कि फिजियो के देखने पर चोट गंभीर नहीं आई. वहीं 12वें ओवर में शमी की गेंद फिंच के हाथ को चोटिल कर गई. फिंच रिटायर्डहर्ट हो गए. और अंपायरों ने चाय की घोषणा कर दी. टी के समय ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 12.1 ओवरों में बिना नुकसान के 33 रन था. और ऑस्ट्रेलिया 67 रन की बढ़त पर था.
पहला सेशन: विराट का शतक, लेकिन...
1. रहाणे पर भारी पड़े लॉयन!

वास्तव में तीसरे दिन सुबह अजिंक्य रहाणे और विराट कोहली की जोड़ी बहुत ही ज्यादा उम्मीदों के साथ मैदान पर उतरी थी. दोनों शनिवार को ही चौथे विकेट के लिए नाबाद 90 रन जोड़ चुके थे. लेकिन रविवार सुबह इसी स्कोर पर रहाणे का रण थम गया. और निराशा में डूब गए भारतीय. लॉयन की गेंद. पढ़ नहीं सके रहाणे. गेंद ने बल्ले का बाहरी किनारा चूमा. और पैनी न लपक लिया एक शानदार कैच. रहाणे की पारी का 51 रन पर ही अंत हो गया, लेकिन यह टीम इंडिया पर संकट बढ़ गया. 

यह भी पढ़ें:   AUS vs IND, 2nd Test: 'यहां' तो विराट कोहली से बेहतर सिर्फ सर डॉन ब्रेडमैन ही हैं

2.  विश्वसनीय दिखे विहारी
हनुमा विहारी की तकनीक और आत्मविश्वास से साफ दिखाई पड़ा कि वह ऑस्ट्रेलिया पिचों पर एक बार को रोहित शर्मा से बेहतर नंबर- 6 बल्लेबाज हैं. विहारी ने दो अच्छे चौके लगाए और उनकी डिफेंसिव तकनीक बेहतरीन दिखाई पड़ी, लेकिन उनकी पारी में हेजलवुड की मिली इकलौती खूबसूरत गेंद ने उनकी पारी का अंत कर दिया. और यह किसी भी बल्लेबाज को गच्चा देने में कामयाब रही. 

3. कोहली का बेहतरीन शतक
क्या कहने विराट की इस पारी के. जब बात टीम की भलाई की आए, तो भारतीय कप्तान अपना सबकुछ गंवा सकते हैं. तन भी, मन भी, भूख भी..सबकुछ! यहां पर टीम के लिए भले के लिए विराट ने वह सब किया, जो वह कर सकते थे. यही वजह रही कि यह उनके करियर का सबसे धीमा शतक बन गया. कोहली के करियर का 25वां शतक 214 गेदों पर आया. और क्या शानदार शतक रहा कोहली का यह. तैयारी कोहली ने शतक पर एक और शतक चढ़ाने की कर दी थी, लेकिन एक विवादास्पद कैच ने कोहली का पारी का अंत कर दिया. कोहली के आउट होने के बाद अगले ओवर की पहली ही गेंद पर नॉथन लॉयन ने मोहम्मद शमी को चलता कर दिया. और शमी के आउट होते ही अंपायरों ने लंच का ऐलान कर दिया. लंच पर भारत का स्कोर 93.2 ओवरों में 7 विकेट पर 252 रन था. 
विकेट पतन: 6-1 (विजय, 2.6), 8-2, (राहुल, 5.1), 82-3 (पुजारा, 38.2), 4- 173  (रहाणे, 69.4), 223-5 (विहारी, 85.3), 251-6 (कोहली, 92.6), 252-7 (शमी, 93.2), 254-8 (ईशांत, 95.2), 279-9 (पंत, 105.1), 283-10 (बुमराह, 105.5)

दूसरे दिन की बात करे, तो ऑस्ट्रेलिया के पहली पारी में 326 रन के जवाब में भारत ने  दिन का खेल खत्म होने के समय 3  विकेट पर 172 रन बना लिए थे. कप्तान विराट कोहली 82 और अजिंक्य रहाणे 51 रन बनाकर नाबाद थे. 

 दोनों देशों की फाइनल इलेवन इस प्रकार है:

ऑस्ट्रेलिया : टिम पेन (कप्तान/विकेटकीपर), एरॉन फिंच, मार्कस हैरिस, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ट्रेविस हेड, मिशेल स्टॉर्क, पैट कमिंस, नाथन लॉयन और जोश हेजलवुड भारत : विराट कोहली (कप्तान), मुरली विजय, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), हनुमा विहारी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और उमेश यादव 

VIDEO: ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर रवाना होने से पहले विराट के विचार सुनिए. 

टेस्ट क्रिकेट यूं तो महान अनिश्चितताओं का खेल है, लेकिन यह कहना गलत नहीं होगा कि तीसरे दिन की समाप्ति पर 175 रन की बढ़त, छह विकेट, और लगातार मुश्किल होती पिच के चलते ऑस्ट्रेलिया इस टेस्ट में काफी हद तक ड्राइविंग सीट पर आ गया है. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com