NDTV Khabar

अश्विन के गुरु के 'सिग्नल' पर टीम इंडिया में आया 'चाइनामैन', वॉर्नर को बनाया पहला शिकार

60 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अश्विन के गुरु के 'सिग्नल' पर टीम इंडिया में आया 'चाइनामैन', वॉर्नर को बनाया पहला शिकार

कुलदीप यादव को टीम इंडिया के चोटिल कप्तान विराट कोहली की जगह प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया है.

खास बातें

  1. लक्ष्मण शिवरामकृष्णन ने कुलदीप यादव को पहनाया टेस्ट डेब्यू कैप
  2. कुलदीप यादव को भारत का पहला चाइनामैन बॉलर कहा जा रहा
  3. विराट कोहली की जगह टीम में आए हैं कुलदीप यादव
धर्मशाला: धर्मशाला में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे टेस्ट मैच में चाइनामैन बॉलर कुलदीप यादव ने डेब्यू किया है. दिलचस्प बात यह है भारत के नंबर एक गेंदबाज आर अश्विन को ट्रेनिंग दे चुके पूर्व स्पिनर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन ने कुलदीप को टेस्ट कैप पहनाया. लक्ष्मण शिवरामकृष्णन का कॅरिअर भले ही केवल 9 टेस्ट मैचों का है, पर उन्होंने 1983-84 में अपनी गेंदबाजी से दुनिया भर के लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा था. भारतीय फैंस उम्मीद कर रहे हैं कि 22 वर्षीय प्रतीभाशाली कुलदीप यादव भी धर्मशाला टेस्ट में कुछ ऐसा कारनामा करेंगे, कि पूरी दुनिया में वे उनकी चर्चा हो. कुलदीप ने अभी तक तक एक भी वनडे मैच नहीं खेला है.

धर्मशाला टेस्ट मैच के पहले दिन कुलदीप यादव ने ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉनर्र को अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच कराया. इसके साथ ही भारत के नए चाइनामैन गेंदबाज ने टेस्ट क्रिकेट में पहला शिकार कर लिया. डेविड वॉर्नर ने 56 रनों की पारी खेली.
 
इस युवा खिलाड़ी को टीम इंडिया के चोटिल कप्तान विराट कोहली की जगह प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया है. यूं तो विराट बल्लेबाज हैं, लेकिन उनकी जगह स्पिनर कुलदीप यादव को टीम में शामिल किया गया है. धर्मशाला में मैच आरंभ होने से पहले घोषणा की गयी कि आखिरी टेस्ट में विराट कोहली नहीं खेलेंगे और उनकी जगह अजिंक्य रहाणे टीम की कप्तानी करेंगे. घोषणा के समय ही बताया गया कि कोहली की जगह पर गेंदबाज कुलदीप यादव को टीम में जगह दी गयी है. यह घोषणा टीम के बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने की.

क्यों पड़ा चाइनमैन गेंदबाजी का नाम

चाइनमैन गेंदबाजी की शुरुआत वेस्टइंडीज के एलिस अचोंग ने 1930 में की. टेस्ट खेलने वाले चीनी मूल के पहले क्रिकेटर अचोंग बाएं हाथ के स्पिनर थे. इंग्लैंड के खिलाफ मेनचेस्टर में 1933 में वाल्टर रॉबिन्स को उन्होंने ऐसी गेंद की जिसने सभी को चकित कर दिया. एलिस ने कलाई के बल पर गेंद फेंकी जो दाएं हाथ के बल्लेबाज के ऑफ स्टंप पर पड़कर बाहर चली गई. रॉबिन्स ने आश्चर्यजनक गेंद करने के बाद पवेलियन लौटते समय अंपायर से कहा, 'ब्लडी चाइनामैन ने शानदार गेंदबाजी की.' यही से चाइनामैन शब्द लोकप्रिय हुआ और फिर आगे चलकर इन्हें चाइनामैन कहा जाने लगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement