NDTV Khabar

INDvsAUS: बेंगलुरू टेस्‍ट रोमांचक मोड़ पर, चेतेश्‍वर पुजारा-अजिंक्‍य रहाणे ने जगाई उम्‍मीद

81 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
INDvsAUS: बेंगलुरू टेस्‍ट रोमांचक मोड़ पर, चेतेश्‍वर पुजारा-अजिंक्‍य रहाणे ने जगाई उम्‍मीद

दूसरी पारी में टीम इंडिया की उम्‍मीदें अब चेतेश्‍वर पुजारा पर टिकी हैं (BCCIफोटो)

खास बातें

  1. तीसरे दिन टीम इंडिया को स्‍कोर 4 विकेट पर 213 रन
  2. पुजारा 79 और रहाणे 40 रन पर नाबाद, 126 रन की हुई बढ़त
  3. ऑस्‍ट्रेलिया ने पहली पारी में 276 रन बनाए, जडेजा ने लिए 6 विकेट
बेंगलुरू टेस्‍ट रोमांचक मोड़ पर है. बेशक तीसरे दिन के बाद ऑस्‍ट्रेलियाई टीम, भारत के मुकाबले कुछ बेहतर स्थिति में है, लेकिन विराट कोहली ब्रिगेड मुकाबले से पूरी तरह बाहर नहीं हुई है. दूसरी पारी में टीम इंडिया को इस स्थिति में पहुंचाने का बहुत कुछ श्रेय चेतेश्‍वर पुजारा (नाबाद 79) और अजिंक्‍य रहाणे (नाबाद 40) की शानदार बल्‍लेबाजी को जाता है. इन दोनों ने पांचवें विकेट के लिए अब तक 93 रन की साझेदारी निभाकर ऑस्‍ट्रेलियाई खेमे की चिंता बढ़ा दी है. ओपनर लोकेश राहुल ने भी 51 रन की जुझारू पारी खेली. चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम का विकेट कठिन होता जा रहा है, ऐसे में आखिरी दो दिन इस पर बल्‍लेबाजी करना आसान नहीं रहने वाला. पहली पारी के आधार पर ऑस्‍ट्रेलिया को मिली 87 रन की बढ़त कम करने के बाद टीम इंडिया के खाते में अभी 126 रन हैं और उसके छह विकेट गिरने बाकी हैं. आगे के बल्‍लेबाज भी ठीक-ठाक योगदान देने में कामयाब रहे तो टीम इंडिया चौथी पारी में ऑस्‍ट्रेलियाई टीम को चुनौतीपूर्ण टारगेट दे सकती है.

तीसरे दिन स्‍टंप्‍स के समय टीम इंडिया की दूसरी पारी का स्‍कोर चार विकेट पर 213 रन है. अब तक गिरे चार में से तीन विकेट तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड के खाते में आए हैं. इससे पहले ऑस्‍ट्रेलिया टीम लंच से पहले अपनी पहली पारी में 276 रन बनाकर आउट हुई. भारतीय लेग स्पिनर रवींद्र जडेजा ने छह विकेट लिए जबकि ऑफ स्पिनर आर. अश्विन के खाते में दो विकेट आए.  

विकेट पतन: 1-39 (मुकंद, 10.4 ओवर), 2-84 (राहुल, 24.2 ओवर), 3-112 (कोहली, 34.2ओवर), 4-120 (जडेजा, 38.1ओवर)

दूसरे सेशन में टीम इंडिया को लगे चार झटके
दूसरी पारी में अभिनव मुकुंद और राहुल ने टीम इंडिया के लिए अच्‍छी शुरुआत की. मिचेल स्‍टार्क और जोश हेजलवुड को इन्‍होंने विश्‍वास के साथ खेला. छह ओवर के बाद ही ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ ने ऑफ स्पिनर नाथन लियोन को आक्रमण पर लगाया लेकिन पहले सेशन में वे विकेट हासिल नहीं कर पाए. बहरहाल, यह जोड़ी ऑस्‍ट्रेलिया के लिए और मुश्किल खड़ी कर पाती, उसकी पहले ही हेजलवुड इसे तोड़ने में सफल रहे. उन्‍होंने लंच के बाद पहले ही ओवर में मुकुंद (16 रन, 32 गेंद, एक चौका और एक छक्‍का) को बोल्‍ड कर दिया. पहला विकेट 39 रन के स्‍कोर पर गिरा.यह गेंद पहले मुकुंद के पैड पर लगी और बाद में विकेट पर जा लगी. लंच के बाद लियोन काफी घातक नजर आए. उनकी गेंदों पर चेतेश्‍वर पुजारा कई बार मुश्किल में दिखे. पुजारा आउट भी हो सकते थे,लेकिन कप्‍तान स्मिथ मुश्किल कैच को नहीं पकड़ पाए. पुणे टेस्‍ट के हीरो स्‍टीव ओकीफी ऑस्‍ट्रेलिया के लिए दूसरी सफलता लेकर आए. उनकी ऑफ स्‍टंप के बाहर की गेंद पर राहुल (51 रन, 85 गेंद, चार चौके) ने ड्राइव लगाने की कोशिश की. गेंद बल्‍ले का किनारा लेकर निकली और स्लिप पर स्‍टीव स्मिथ में दायीं ओर डाइव लगाकर बेहतरीन कैच लपक लिया. मैच का यह अब तक का सर्वश्रेष्‍ठ कैच रहा. विराट कोहली (15रन, 25 गेंद, एक चौका)  से टीम को दूसरी पारी में अच्‍छे प्रदर्शन की उम्‍मीद थे, लेकिन जोश हेजलवुड ने उन्‍हें एलबीडब्‍ल्‍यू करके टीम इंडिया को सबसे बड़ा झटका दिया. भारतीय कप्‍तान के इस फैसले के खिलाफ रिव्‍यू लेने पर कई बार रिप्‍ले देखने के बाद फैसला गेंदबाज के पक्ष में दिया गया. कोहली के आउट होने के बाद टीम इंडिया ने अजिंक्‍य रहाणे से पहले खब्‍बू रवीद्र जडेजा (दो रन, 12 गेंद) को बैटिंग ऑर्डर में प्रमोट किया लेकिन यह फैसला फलदायी साबित नहीं हुआ. जडेजा को हेजलवुड ने बोल्‍ड किया. चायकाल के समय पुजारा 34 रन बनाकर नाबाद थे.

बेंगलुर में 50+ स्‍कोर करने वाले तीसरे ओपनर हैं राहुल
लोकेश राहुल उन तीन ओपनरों में शामिल हो गए हैं, जिन्‍होंने बेंगलुरू टेस्‍ट की दोनों पारियों में 50 या इससे अधिक रन बनाए हैं. अन्‍य दो बल्‍लेबाज वेस्‍टइंडीज के गॉर्डन ग्रीनिज और भारत के अजय जडेजा हैं. ग्रीनिज ने 1974 और अजय जडेजा ने 1995 में यह उपलब्धि हासिल की थी. राहुल का अर्धशतक 82 गेंदों पर चार चौकों की मदद से पूरा हुआ था.यह उनके करियर का चौथा अर्धशतक रहा. पहली पारी में भी उन्‍होंने 90 रन की पारी खेली थी.

पुजारा-रहाणे ने आखिरी सेशन अपने नाम किया
चायकाल के बाद का सेशन पूरी तरह से टीम इंडिया के नाम रहा और इसका श्रेय पुजारा और रहाणे के बीच हुई साझेदारी को जाता है. ऑस्‍ट्रेलियाई गेंदबाजों का पूरे जीवट के साथ सामना करते हुए इन्‍होंने अपने विकेट बचाकर रखे. इस दौरान किस्‍मत भी एक हद तक इनके साथ रही. सीरीज में यह पहली बार है जब टीम इंडिया का स्‍कोर 200 रन तक पहुंचा है. इससे पहले पुणे टेस्‍ट में टीम इंडिया ने 105 और 107 तथा बेंगलुरू टेस्‍ट की पहली पारी में 189 रन बनाए थे. एक और महत्‍वपूर्ण तथ्‍य यह है कि सीरीज में अब तक कोई शतकीय साझेदारी नहीं हुई है. पुजारा-रहाणे से पहले अब तक की सबसे बड़ी साझेदारी मैट रेनशॉ और डेविड वॉर्नर के बीच पुणे में पहले विकेट के लिए (82 रन) हुई थी. ऐसे में पुजारा और रहाणे अगर कल शतकीय साझेदारी पूरी करते हैं तो यह सीरीज की पहली 100 रन की पार्टनरशिप होगी.पुजारा के 50 रन 125 गेंदों पर चार चौकों की मदद से पूरे हुए. उनकी नाबाद 79 रन की पारी में 6 चौके शामिल हैं जबकि रहाणे ने अपनी नाबाद 40 रन की पारी में अब तक तीन चौके लगाए हैं.

सुबह चला जडेजा का जादू, जल्‍दी-जल्‍दी तीन विकेट लिए
इससे पहले, मैच के तीसरे दिन सोमवार को ईशांत शर्मा और रविचंद्रन अश्विन की जोड़ी ने भारतीय गेंदबाजी की शुरुआत की, कप्‍तान कोहली ने दिन के 11वें ओवर में ईशांत शर्मा के स्‍थान पर रवींद्र जडेजा को आक्रमण पर लगा दिया. इस बदलाव का असर दिखा. जडेजा पहली ही ओवर से विकेट से टर्न हासिल करते नजर आए. इसके तुरंत बाद अश्विन की गेंद पर मिचेल स्‍टार्क को विकेट के पीछे आउट करार दिया गया था. स्‍टॉर्क ने तुरंत रिव्‍यू लिया जिसमें अम्‍पायर को फैसला बदलना पड़ा. हालांकि  अश्विन ने टीम इंडिया को दिन की पहली कामयाबी दिलाने में देर नहीं लगाई. उनकी गेंद को स्‍टार्क ने मिडविकेट के ऊपर से मारने की कोशिश की और जडेजा ने कैच लपक लिया.ऑस्‍ट्रेलिया का सातवां विकेट 269 के स्‍कोर पर गिरा. इसके बाद ऑस्‍ट्रेलिया के विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हो गया और 9 रन के अंदर टीम ने शेष तीन विकेट भी गंवा दिए. सोमवार को आउट होने वाले ऑस्‍ट्रेलिया के बल्‍लेबाज जोश हेजलवुड (1), नाथन लियोन (0)] मैथ्‍यू वेड (40) और मिचेल स्‍टॉर्क (26) रहे. जडेजा ने लियोन और वेड को एलबीडब्‍ल्‍यू किया जबकि हेजलवुड को लोकेश राहुल के हाथों कैच कराया. इसी तरह मिचेल स्‍टॉर्क को आर.अश्विन ने रवींद्र जडेजा के हाथों कैच कराया. लंच तक टीम इंडिया अपना स्‍कोर बिना विकेट खोए 38 रन तक पहुंचाने में सफल रही.

जडेजा ने सातवीं बार लिए 5 या इससे अधिक विकेट
 
jadeja
रवींद्र जडेजा ने ऑस्‍ट्रेलियाई पारी के दौरान छह विकेट लिए (BCCIफोटो)

ऑस्‍ट्रेलिया की पारी में रवींद्र जडेजा ने छह बल्‍लेबाजों को आउट किया. पारी में पांच या इससे अधिक लेने की उपलब्धि उन्‍होंने सातवीं बार हासिल की है. इससे पहले, मैच के दूसरे दिनरविवार को  मैट रेनशॉ (60) और शॉन मॉर्श (66) के अर्धशतक के सहारे ऑस्‍ट्रेलिया ने छह विकेट खोकर 237 रन बनाए थे.मैच के दूसरे दिन कप्‍तान कोहली ने रवींद्र जडेजा से महज 17 ओवर ही करवाए थे.टीम के चारों रेगुलर बॉलर्स में सबसे कम ओवर जडेजा ने ही फेंके थे और दूसरे दिन वे तीन विपक्षी बल्‍लेबाजों को आउट करने में सफल रहे थे. बेंगलुरू टेस्‍ट के पहले दिन  टीम इंडिया केवल 189 रन बनाकर आउट हो गई थी. चार टेस्‍ट की सीरीज में ऑस्‍ट्रेलियाई टीम 1-0 की बढ़त पर है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement