NDTV Khabar

INDvsPAK : माइंड गेम खेल रहे मोहम्मद आमिर को विराट कोहली का जवाब, मुझे खुद पर भरोसा है, मैं...

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में भारत और पाकिस्तान की टीमों के मैदान पर उतरने से पहले ही दोनों ही ओर से माइंड गेम जारी है. इसमें पूर्व खिलाड़ियों के साथ-साथ वर्तमान क्रिकेटर भी शामिल हैं.

239 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
INDvsPAK : माइंड गेम खेल रहे मोहम्मद आमिर को विराट कोहली का जवाब, मुझे खुद पर भरोसा है, मैं...

INDvPAK Final : वैसे विराट कोहली खुद मो. आमिर का गेंदबाज के रूप में बहुत सम्मान करते हैं...

खास बातें

  1. विराट कोहली ने पाकिस्तान के मोहम्मद आमिर को बल्ला गिफ्ट किया था
  2. विराट की कप्तानी में टीम इंडिया पहली बार आईसीसी फाइनल खेल रही है
  3. मोहम्मद आमिर पाकिस्तानी गेंदबाजी का मुख्य स्तंभ हैं
लंदन: आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में भारत और पाकिस्तान की टीमों के मैदान पर उतरने से पहले ही दोनों ही ओर से माइंड गेम जारी है. इसमें पूर्व खिलाड़ियों के साथ-साथ वर्तमान क्रिकेटर भी शामिल हैं. शनिवार को पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने विराट कोहली की कमोजरियों की ओर इशारा करते हुए कहा था कि उनकी टीम विराट कोहली को जल्दी आउट करके टीम इंडिया पर पकड़ बना लेगी. जाहिर है उनका इशारा विराट की ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंदों पर कमजोरी की ओर था. साथ ही उनका मानना है कि विराट के जाते ही टीम इंडिया बिखर जाएगी. जब विराट से उनकी तैयारियों के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने हटकर जवाब दिया...

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि वह कैसे मुश्किल परिस्थितयों की कल्पना करते हैं और फिर उसी के हिसाब से रणनीति बनाते हैं. विराट कोहली ने खास गेंदबाजों के खिलाफ खास तैयारी के संबंध में पूछे गए सवाल पर कहा कि वह गेंदबाजों का ज्यादा वीडियो देखने पर यकीन नहीं रखते.

कोहली ने कहा, 'मैं किसी का भी काफी ज्यादा वीडियो देखने पर भरोसा नहीं करता. मैं सर्वश्रेष्ठ तरीके से तैयारी करता हूं, जितनी मैं कर सकता हूं. मैं अपनी काबिलियत पर भरोसा करता हूं और महसूस करता हूं कि अगर मैं तकनीकी रूप से अच्छा हूं तो मैं किसी भी गेंदबाज का सामना करने के लिए सक्षम हूं.'

पहली बार आईसीसी के किसी टूर्नामेंट में कप्तानी कर रहे विराट कोहली ने कहा कि उन्हें गेंदबाजों की परवाह नहीं रहती. वह यह नहीं सोचते कि उन्हें कौन गेंदबाजी करेगा. उनके अनुसार इस पर ज्यादा सोचने से अतिरिक्त दबाव आने का खतरा रहता है.

कोहली ने कहा, 'मैं यह सोचकर अतिरिक्त दबाव नहीं लेता कि वह यहां से गेंदबाजी कर रहा है और अगर वह मैच में ऐसा नहीं करता तो क्या होगा? इसलिए मैं उन चीजों के बारे में सोचता हूं. जो उस समय होता है, मैं उसी के हिसाब से काम करना पसंद करता हूं. मेरा मतलब है कि आप किसी के खिलाफ खेले हो या नहीं, लेकिन आप एक मैच में अच्छे प्रदर्शन की गारंटी नहीं ले सकते.'

उन्होंने कहा, 'आप एक दौरे या पूरी सीरीज में आप जिन गेंदबाजों के खिलाफ नियमित रूप से खेल रहे हो, दो मैचों में आप उन पर हावी होंगे, लेकिन तीसरे मैच में वे आप पर हावी हो जाएंगे. आप किसी गेंदबाज के खिलाफ खेले हो या नहीं, आप उसकी गेंद के खिलाफ उसी तरह प्रतिक्रिया करोगे.'  

गौरतलब है कि आमिर ने कहा था, 'भारत की टीम कोहली पर भरोसा करती है और वो प्रेशर में होंगे, क्योंकि कैप्टन के तौर पर ये उनका पहला बड़ा फाइनल है. इसमें कोई शक नहीं है कि कोहली का विकेट हमें एडवांटेज देगा.'

इसमें कोई शक नहीं कि कोहली की सभी प्रारूपों में पारियां बेहतरीन रही हैं. जब उनसे पूछा गया कि वह बड़े मुकाबलों के लिए कैसे तैयारी करते हैं तो उन्होंने कहा, आप जानते हो, कि मुश्किल हालात में सोचने की कल्पना आपको उस स्थिति से अवगत कराती है और आपको इससे निकलने का रास्ता भी बताती है. इसलिए अगर आप सोचोगे कि हमारे तीन विकेट निकल गये हैं और मैं भी आउट हो जाता हूं, फिर आप आउट हो जाते हो.'

 कोहली ने कहा, अगर आप सोच रहे हो कि हमारे तीन विकेट गिर गये, लेकिन मैं इसका पलटवार करूंगा और अपनी टीम को पटरी पर लाऊंगा. तो ऐसा होना खत्म हो जाएगा क्योंकि आपको इसका यकीन हो जायेगा.  उन्होंने कहा, मैं काफी सोच विचार करता हूं और खुद को मुश्किल हालात में देखता हूं और खुद को यकीन दिलाता हूं कि मैं इन हालात से टीम को बाहर निकाल सकता हूं. ऐसा हर बार नहीं होगा लेकिन 10 में से आठ बार होगा और ऐसा होना बंद हो जाएगा क्योंकि आपको इस पर पक्का विश्वास हो जाएगा.'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement