NDTV Khabar

IND vs SA: केपटाउन टेस्‍ट में दक्षिण अफ्रीका का पलड़ा फिलहाल भारी, 142 रन की हुई बढ़त

पहले टेस्‍ट मैच में दक्षिण अफ्रीका का पलड़ा फिलहाल भारी नजर आ रहा है. हार्दिक पंड्या (93) की साहसभरी पारी और भुवनेश्‍वर कुमार (24) के साथ आठवें विकेट के लिए उनकी हुई 99 रन की साझेदारी की बदौलत टीम इंडिया मैच के दूसरे दिन पहली पारी में 209 रन बनाने में सफल रही.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs SA: केपटाउन टेस्‍ट में दक्षिण अफ्रीका का पलड़ा फिलहाल भारी, 142 रन की हुई बढ़त

हार्दिक पंड्या ने दक्षिण अफ्रीका के दोनों ओपनरों को पेवेलियन लौटाया (BCCI फोटो)

खास बातें

  1. टीम इंडिया की पहली पारी 209 रन पर सिमटी
  2. हार्दिक पंड्या ने बनाए सर्वाधिक 93 रन
  3. दूसरे दिन स्‍टंप्‍स के समय द. अफ्रीका का स्‍कोर 65/2
केपटाउन: पहले टेस्‍ट मैच में दक्षिण अफ्रीका का पलड़ा फिलहाल भारी नजर आ रहा है. हरफनमौला हार्दिक पंड्या (93) की साहसभरी पारी और भुवनेश्‍वर कुमार (24) के साथ आठवें विकेट के लिए उनकी हुई 99 रन की साझेदारी की बदौलत टीम इंडिया मैच के दूसरे दिन 'लड़खड़ाते हुए' पहली पारी में 209  रन बनाने में सफल रही. मैच के दूसरे दिन चायकाल के बाद भारत की पहली पारी 73.4  ओवर में 209 रन पर समाप्‍त हुई. पहली पारी के आधार पर दक्षिण अफ्रीका को 77 रन की बढ़त हासिल हुई. एक समय भारतीय टीम 92 रन पर सात विकेट गंवा चुकी थी, लेकिन हार्दिक और भुवनेश्‍वर की जोड़ी ने इसके बाद जमकर बल्‍लेबाजी की और टीम को 200 रन के पार पहुंचाने में अहम योगदान दिया. दूसरे दिन स्‍टंप्‍स के समय दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी का स्‍कोर दो विकेट खोकर 65 रन है. दोनों ओपनर एडेम मार्कराम और डीन एल्‍गर आउट हो चुके हैं. हाशिम अमला 4 और नाइट वॉचमैन कागिसो रबाडा 2 रन बनाकर क्रीज पर हैं. मेजबान टीम की बढ़त अब 142 रन की हो चुकी है. दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में 286 रन बनाए थे.

स्‍कोरकार्ड यहां देखें

पंड्या ने लिए दक्षिण अफ्रीका के दोनों विकेट
भारतीय टीम के लिए भुवनेश्‍वर ने गेंदबाजी की शुरुआत की. यह ओवर मेडन रहा. जसप्रीत बुमराह की ओर से फेंके गए पारी के दूसरे ओवर में एल्‍गर को तब जीवनदान मिला जब शमी ने मिडऑन पर उनका कैच टपका दिया. एल्‍गर ने उस समय अपना खाता भी नहीं खोला था. पारी के तीसरे ओवर में मार्कराम ने भुवी को लगातार दो चौके लगाए. दक्षिण अफ्रीका का पहला विकेट एडेन मार्कराम (34 रन, 43 गेंद, 6 चौके) के रूप में गिरा जिन्‍हें हार्दिक पंड्या ने भुवनेश्‍वर कुमार से कैच कराया. पंड्या ने इसके बाद दूसरे ओपनर डीन एल्‍गर (25रन, 54 गेंद, चार चौके) को विकेटकीपर साहा से कैच कराकर मेजबान टीम को दोहरा झटका दिया. पहले विकेट के लिए हुई अर्धशतकीय साझेदारी के बाद दक्षिण अफ्रीकी टीम 59 रन पर दो विकेट गंवा चुकी थी.हाशिम अमला और कागिसो रबाडा ने इसके बाद नाबाद रहते हुए स्‍टंप्‍स के समय तक स्‍कोर 65 रन तक पहुंचा दिया.

विकेट पतन: 52-1 (मार्कराम, 14.6),  59-2 (एल्‍गर, 16.4)

पहला सेशन: टीम इंडिया की बेहद धीमी बल्‍लेबाजी
दूसरे दिन भारतीय बल्‍लेबाजों ने संयत शुरुआत की. डेल स्‍टेन और वेर्नोन फिलेंडर की ओर से फेंके गए दिन के पहले चार ओवर मेडन रहे. दिन के पांचवें ओवर में रोहित शर्मा ने स्‍टेन की गेंद पर दो रन लेकर भारत के स्‍कोर को 28 से 30 रन पर पहुंचाया. इस ओवर में पांच रन बने. पहले घंटे के खेल में भारत की रन गति बेहद धीमी रही और 14 ओवर में टीम इंडिया ने केवल 17 रन बनाए. टीम के 50 रन 27वें ओवर में पूरे हुए.भारतीय टीम का चौथा विकेट रोहित शर्मा (11रन, 59 गेंद, एक चौका) के रूप में गिरा जिन्‍हें कागिसो रबाडा ने एलबीडब्‍ल्‍यू किया. रोहित ने निर्णय के खिलाफ रिव्‍यू भी लिया लेकिन फैसला उनके खिलाफ गया. रोहित के आउट होने पर आर. अश्विन बल्‍लेबाजी के लिए आए. लंच के समय टीम इंडिया का स्‍कोर चार विकेट पर 76 रन था. भारतीय रन गति इस दौरान बेहद धीमी रही और टीम ने इस दौरान 25 ओवर में केवल 48 रन जोड़े. विराट की टीम के लिए राहत वाली बात केवल यही रही कि पहले सेशन में उसने केवल एक विकेट गंवाया.

दूसरा सेशन: हार्दिक-भुवी ने पारी को संभाला
भारतीय टीम के लिए दूसरे सेशन की शुरुआत निराशाजनक हुई और लंच के बाद पहली ही गेंद पर चेतेश्‍वर पुजारा (26रन, 92गेंद, पांच चौके) को वेर्नोन फिलेंडर ने कप्‍तान डु प्‍लेसिस से कैच करा दिया. दक्षिण अफ्रीकी कप्‍तान ने डाइव लगाते हुए यह कैच लपका. पुजारा के स्‍थान पर हार्दिक पंड्या बल्‍लेबाजी के लिए आए. पारी के 38वें ओवर में अम्‍पायर ने हार्दिक पंड्या को भी स्‍टेन की गेंद पर विकेट के पीछे कैच आउट करार दिया था लेकिन रिव्‍यू लेकर पंड्या बचने में सफल रहे. अगले ही ओवर में आर. अश्विन (12 रन, 31 गेंद, दो चौके) के आउट होने से टीम इंडिया मुश्किल में फंस गई. अश्विन ने वेर्नोन फिलेंडर ने विकेटकीपर डिकॉक से कैच कराया. सातवें विकेट के रूप में ऋद्धिमान साहा बिना कोई रन बनाए डेल स्‍टेन के शिकार बने. स्‍कोर 100 रन तक पहुंचने के पहले ही भारत के सात बल्‍लेबाज पेवेलियन लौट चुके थे.

पंड्या ने फिलेंडर के ओवर में तीन चौके जमाते हुए टीम इंडिया को 100 रन के पार पहुंचाया.हार्दिक पंड्या को भुवनेश्‍वर कुमार के रूप में अच्‍छा सहयोगी मिला. भुवनेश्‍वर ने इस दौरान अपना विकेट बचाए रखा और हार्दिक को खुलकर बैटिंग करने का मौका दिया. जल्‍द ही पंड्या ने टेस्‍ट करियर का दूसरा अर्धशतक 46 गेंदों पर 10 चौकों की मदद से पूरा किया.अर्धशतक पूरा करने के बाद पंड्या की बल्‍लेबाजी में और निखार आ गया. उन्‍होंने मोर्ने मोर्केल के ओवर में एक और इसके अगले ओवर में कागिसो रबाडा को लगातार दो चौके लगाए. 56वें ओवर में पहली बार दक्षिण अफ्रीकी स्पिनर केशव महाराज को आक्रमण पर लाया गया. ओवर की दूसरी ही गेंद पर हार्दिक ने छक्‍का लगाया. तीसरी गेंद पर क्विंटन डिकॉक, हार्दिक को स्‍टंप करने से चूक गए. इस जीवनदान का फायदा उठाते हुए हार्दिक ने इस ओवर में चौका भी जमा दिया. दूसरे दिन चाय के समय टीम इंडिया का स्‍कोर सात विकेट खोकर 185 रन था और हार्दिक पंड्या 81 रन बनाकर नाबाद थे.

पंड्या 93 रन बनाकर आउट हुए
चाय के बाद दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजी की शुरुआत केशव महाराज ने की, इस ओवर में 1 रन बना. दूसरे छोर से मोर्केल को गेंदबाजी के लिए लाया गया.भारत को आठवां झटका भुवनेश्‍वर कुमार के रूप में गिरा जिन्‍हें तेज गेंदबाज मोर्ने मोर्केल ने विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक से कैच कराया. भुवी ने 86 गेंदों का सामना करते हुए चार चौकों की मदद से 25 रन बनाए. सबसे महत्‍वपूर्ण बात यह रही कि उन्‍होंने पंड्या के साथ आठवें विकेट के लिए 99 रन की साझेदारी की.हार्दिक पंड्या (93 रन, 95 गेंद, 14 चौके, एक छक्‍का) की पारी का अंत कागिसो रबाडा ने किया. भारतीय टीम का 9वां विकेट 199 के स्‍कोर पर गिरा.आखिरी विकेट के रूप में जसप्रीत बुमराह (2) के आउट होते ही भारत की पहली पारी 209 रन पर सिमट गई. दक्षिण अफ्रीका के फिलेंडर और रबाडा ने तीन-तीन विकेट लिए.

विकेट पतन: 16-1 (मुरली विजय, 4.4), 18-2 (धवन, 5.2), ,27-3 (विराट , 8.1), , 57-4 (रोहित शर्मा , 28.2),76-5 (पुजारा, 36.1), 81-6 (अश्विन, 38.5),  92-7 (साहा, 41.4),191-8 (भुवनेश्‍वर, 66.5),,199-9 (पंड्या, 69.1), 209-10 (बुमराह, 73.4)

यह भी पढ़ें: कोहली अब नहीं चाहते ऐसा 105 रन का नुकसान...जोर 'इस खास बात' पर गौरतलब है कि दुनिया की नंबर एक टीम भारत ने दूसरे स्थान की टीम दक्षिण अफ्रीका पर मजबूत बढ़त बना रखी है और अगर टीम को टेस्ट सीरीज में 0-3 से क्लीन स्वीप का सामना करना पड़ता है तो भी वह अपनी शीर्ष रैंकिंग नहीं गंवाएगी.

यह भी पढ़ें: गेंदबाजों की मेहनत पर भारतीय बल्‍लेबाजों ने पानी फेरा

दक्षिण अफ्रीका में हालांकि भारत का रिकॉर्ड काफी खराब है जहां उसने छह में से पांच सीरीज गंवाई हैं जबकि एक ड्रॉ रही. भारत ने 1992 से दक्षिण अफ्रीका की सरजमीं पर खेले 17 टेस्ट में से सिर्फ दो में जीत दर्ज की है. टीम ने एक जीत 2006-07 में राहुल द्रविड़ के नेतृत्व में जबकि एक 2010-11 में महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में दर्ज की.भारत ने हालांकि पिछले दो दौरों पर दक्षिण अफ्रीका में बेहतर प्रदर्शन किया है. टीम ने 2010-11 में सीरीज ड्रॉ कराई जबकि 2013-14 में उसे कड़ी टक्कर देने के बावजूद हार का सामना करना पड़ा.

वीडियो: गावस्‍कर ने इस अंदाज में की विराट कोहली की प्रशंसा

दोनों टीमें इस प्रकार हैं...

टिप्पणियां
दक्षिण अफ्रीका: फाफ डु प्लेसिस (कप्तान), डीन एल्गर, एडेन मार्कराम, हाशिम अमला, एबी डिविलियर्स, क्विंटन डिकॉक, वर्नोन फिलेंडर, केशव महाराजा, डेल स्‍टेन, कागिसो रबाडा और मोर्ने मोर्केल.

भारत : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, रोहित शर्मा, ऋद्धिमान साहा, हार्दिक पंड्या, आर. अश्विन, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement