NDTV Khabar

IND vs SA: तीसरा टेस्‍ट रोमांचक मोड़ पर, स्‍टंप्‍स के समय द.अफ्रीका का स्‍कोर 17/1, लक्ष्‍य है 241 रन

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच जोहानिसबर्ग में खेला जा रहा तीसरा टेस्‍ट रोमांचक परिणाम की ओर बढ़ रहा है.

23 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs SA: तीसरा टेस्‍ट रोमांचक मोड़ पर, स्‍टंप्‍स के समय द.अफ्रीका का स्‍कोर 17/1, लक्ष्‍य है 241 रन

टीम इंडिया के लिए अजिंक्‍य रहाणे ने सर्वाधिक 48 रन बनाए

खास बातें

  1. टीम इंडिया ने दूसरी पारी में 247 रन बनाए
  2. रहाणे ने 48 और कोहली ने 41 रन का योगदान दिया
  3. तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीका का स्‍कोर 17/1
जोहानिसबर्ग: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच जोहानिसबर्ग में खेला जा रहा तीसरा टेस्‍ट रोमांचक परिणाम की ओर बढ़ रहा है. बल्‍लेबाजी के लिए मुश्किल बनते जा रहे इस विकेट पर भारतीय टीम की दूसरी पारी आज तीसरे दिन चाय के बाद 247 रन पर समाप्‍त हुई. अजिंक्‍य रहाणे (48), विराट कोहली (41) और भुवनेश्‍वर कुमार (33) ने उपयोगी पारी खेलते हुए टीम को 200 के पार पहुंचाने में अहम योगदान दिया. पहली पारी के आधार पर मिली 7 रन की बढ़त को कम करने के बाद मेजबान दक्षिण अफ्रीका के सामने जीत के लिए 241 रन का लक्ष्‍य है. भारतीय टीम ने पहली पारी में 187 रन बनाए थे जिसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 194 पर पर सिमट गई थीजवाब में 8.3  ओवर के बाद दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी का स्‍कोर एक विकेट खोकर 17 रन है. एडेन मार्कराम (4) आउट होने वाले बल्‍लेबाज हैं. डीन एल्‍गर 11 और हाशिम अमला 2 रन बनाकर क्रीज पर हैं. खराब पिच और फिर बारिश के कारण खेल रोक दिया गया है. इसी स्‍कोर पर स्‍टंप्‍स घोषित कर दिया गया. .केपटाउन में पहला टेस्ट 72 रन से और सेंचुरियन में दूसरा टेस्ट 135 रन से जीतकर मेजबान टीम सीरीज पहले ही अपने नाम कर चुकी है.

स्‍कोरकार्ड यहां देखें

भारत के लिए पहला ओवर भुवनेश्‍वर कुमार ने फेंका जिसमें चार रन बने.भारत के लिए पहला ओवर भुवनेश्‍वर कुमार ने फेंका जिसमें चार रन बने. पारी के दूसरे ओवर में मोहम्‍मद शमी टीम के लिए पहली कामयाबी लेकर आए, उन्‍होंने एडेन मार्कराम (4) को विकेटकीपर पार्थिव पटेल से कैच कराया. विकेट का जबर्दस्‍त उछाल बल्‍लेबाजों के लिए लगातार परेशानी खड़ी कर रहा था.आठ ओवर के बाद भुवनेश्‍वर कुमार के एंड से जसप्रीत बुमराह को आक्रमण पर लाया गया. पारी के 9वें ओवर में बुमराह की एक उठती गेंद खतरनाक तरीके से एल्‍गर के हेल्‍मेट पर लगी. इसके बाद अम्‍पायरों की विकेट को लेकर चर्चा हुई जल्‍द ही मैच रैफरी भी इस बातचीत में शामिल हो गए. खेल फिलहाल रोक दिया गया है. जोहानिसबर्ग में बारिश भी शुरू हो गई है. विकेट को कवर कर दिया गया है. इसी स्‍कोर पर खेल समाप्‍त घोषित कर दिया गया.

विकेट पतन: 5-1 (एडेन मार्कराम, 1.6)

पहला सेशन: टीम इंडिया ने गंवाए तीन विकेट
टीम इंडिया ने आज, दूसरे दिन के स्‍कोर एक विकेट पर 49 रन से आगे खेलना शुरू किया. तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीका के लिए पहला ओवर कागिसो रबाडा ने फेंका जिसमें दो रन बने. दिन के दूसरे ही ओवर में भारत को केएल राहुल (16 रन, 44 गेंद, दो चौके) का विकेट गंवाना पड़ा. वर्नोन फिलेंडर मेजबान टीम के लिए यह कामयाबी लेकर आए. कैच दूसरे स्लिप में कप्‍तान फाफ डु प्‍लेसिस ने लपका. भारतीय टीम के 50 रन 17.2 ओवर में पूरे हुए. राहुल के स्‍थान पर खेलने आए चेतेश्‍वर पुजारा (1)ज्‍यादा देर नहीं टिके, उन्‍हें मोर्ने मोर्केल ने डु प्‍लेसिस से कैच कराया. टीम इंडिया  का तीसरा विकेट 57 के स्‍कोर पर गिरा. पहले सेशन में भारतीय टीम का चौथा विकेट मुरली विजय (25 रन, 127 गेंद, एक चौका) के रूप में गिरा जिनहें कागिसो रबाडा ने बेहतरीन यॉर्कर पर बोल्‍ड किया. विजय और कोहली के बीच चौथे विकेट के लिए 43 रन की उपयोगी साझेदारी हुई. विजय के आउट होते ही अम्‍पायरों ने लंच ब्रेक घोषित कर दिया.

दसरे सेशन में भारत के दो विकेट गिरे
दूसरे सेशन में दक्षिण अफ्रीका की गेंदबाजी की शुरुआत मोर्ने मोर्केल और वर्नोन फिलेंडर ने की. विजय के स्‍थान पर अजिंक्‍य रहाणे बैटिंग के लिए आए. विराट और रहाणे की जोड़ी ने पांचवें विकेट के लिए 34 रन की साझेदारी की. इस दौरान विराट आक्रामक अंदाज में बैटिंग करते हुए अर्धशतक की ओर बढ़ते नजर आ रहे थे. 134 के कुल योग पर रबाडा दक्षिण अफ्रीकी के लिए सबसे बड़ी सफलता लेकर आए जब उन्‍होंने विराट (41रन, 79 गेंद, छह चौके) को बोल्‍ड कर दिया. विकेट बल्‍लेबाजी  के लिहाज से बेहद मुश्किल हो रहा था. ऐसे में बल्‍लेबाजों को अपने विकेट बचाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ रहा था. टीम इंडिया का छठा विकेट हार्दिक पंड्या के रूप में गिरा जो महज चार रन बना सके. उन्‍हें कागिसो रबाडा ने अपनी ही गेंद पर कैच किया. पहले टेस्‍ट की पहली पारी में 93 रन की बेहतरीन पारी खेलने के बाद पंड्या आगे टीम को कोई बड़ा योगदान नहीं दे पाए. विराट और हार्दिक के आउट होने के बाद भारतीय स्‍कोर का सम्‍मानजनक स्थिति में पहुंचाने का पूरा दायित्‍व अजिंक्‍य रहाणे के कंधों पर आ गया था. टीम इंडिया के 150 रन 54.1 ओवर में पूरे हुए. पारी के 59वें ओवर में भुवनेश्‍वर को उस समय जीवनदान मिला जब मोर्केल की गेंद पर स्लिप में डीन एल्‍गर ने उनका आसान कैच छोड़ दिया. भुवी उस समय 15 रन पर थे. अगले ही ओवर में दक्षिण अफ्रीकी टीम ने रहाणे को भी जीवनदान दिया. उनका कैच एंडिले फेलुकवायो ने छोड़ा.तीसरे दिन चाय के समय टीम इंडिया की दूसरी पारी का स्‍कोर 6 विकेट खोकर 199 रन था. 

247 रन पर सिमटी भारत की दूसरी पारी
अजिंक्‍य रहाणे और भुवनेश्‍वर कुमार की साझेदारी दक्षिण अफ्रीका के लिए परेशानी का कारण बनती जा रही थी. तीसरे दिन के आखिरी सेशन का पहला ओवर मोर्ने मोर्केल ने फेंका, जिसमें तीन रन बने. भारतीय टीम के 200 रन 65.2 ओवर में पूरे हुए. इस साझेदारी को आखिरकार मोर्ने मोर्केल ने तोड़ा. उन्‍होंने अजिंक्‍य रहाणे (48 रन, 68 गेंद, छह चौके) को विकेटकीपर डिकॉक से कैच कराया. विराट कोहली के बाद रहाणे दूसरी पारी में ऐसे दूसरे बल्‍लेबाज रहे जो अर्धशतक बनाने से चूके. भारत का 7वां विकेट 203 के स्‍कोर पर गिरा.रहाणे के आउट होने के बाद बैटिंग के लिए आए मोहम्मद शमी ने अच्‍छे हाथ दिखाते हुए दो छक्‍के जमाए.भारत का आठवां विकेट शमी (27रन, 28 गेंद, एक चौका, दो छक्‍के) के रूप में गिरा, जिन्‍हें एंगिडी ने डीप स्‍क्‍वेयर लेग पर डिविलियर्स से कैच कराया.भुवनेश्‍वर कुमार (33 रन, 76 गेंद, दो चौके) आखिरकार मोर्ने मोर्केल ने किया. भुवी का कैच विकेटकीपर डिकॉक ने लपका.आखिरी विकेट जसप्रीत बुमराह (0) के रूप में गिरा जिन्‍हें फिलेंडर ने रबाडा से कैच कराया. ईशांत शर्मा 7 रन बनाकर नाबाद रहे. दक्षिण अफ्रीका के लिए फिलेंडर, रबाडा और मोर्केल ने तीन-तीन विकेट लिए.

विकेट पतन: 17-1 (पार्थिव, 4.6), 51-2 (राहुल, 18.6), 57-3 (पुजारा, 21.6),100-4 (विजय, 40.5), ,134-5 (कोहली, 49.2), 148-6 (पंड्या, 53.1), 203-7 (रहाणे, 67.3), 238-8 (शमी, 74.4), 240-9 (भुवनेश्‍वर, 77.2), , 247-10 (बुमराह, 80.1)

भारत के लिए दूसरी पारी की शुरुआत, दूसरे दिन, पार्थिव पटेल और मुरली विजय ने की थी. दक्षिण अफ्रीका के लिए पहला ओवर वर्नोन फिलेंडर ने फेंका जो मेडन रहा. दूसरे ओवर में पार्थिव ने कागिसो रबाडा को चौका लगाते हुए टीम का खाता खोला. हालांकि यह शॉट जोखिमभरा था और स्लिप के ऊपर से गया. आक्रामक अंदाज में बैटिंग कर रहे पार्थिव (16 रन, 15 गेंद, तीन चौके) आउट होने वाले पहले खिलाड़ी रहे. उन्‍हें पारी के 5वें ओवर में वर्नोन फिलेंडर ने गली में एडेन मार्कराम से कैच कराया.विजय और राहुल ने इसके बाद टीम इंडिया का स्‍कोर दूसरे दिन स्‍टंप्‍स के समय तक 49 रन तक पहुंचा दिया था.

194 रन पर सिमटी थी दक्षिण अफ्रीका की पारी
 मैच के दूसरे दिन भारतीय गेंदबाजों ने लगातार दक्षिण अफ्रीका के बल्‍लेबाजों पर दबाव बनाकर रखा और उसकी पहली पारी को 194 रन पर आउट कर दिया. पहली पारी के आधार पर मेजबान टीम को केवल 7 रन की बढ़त हासिल हुई. दक्षिण अफ्रीका के लिए हाशिम अमला ने सर्वाधिक 61 रन बनाए. भारत के लिए जसप्रीत बुमराह ने पांच और भुवनेश्‍वर कुमार ने तीन विकेट लिए.ईशांत और शमी के खाते में एक-एक विकेट आया. बुमराह ने पहली बार टेस्‍ट पारी में 5 विकेट लिए हैं.

यह भी पढ़ें: विश्‍व क्रिकेट के इस दिग्‍गज ने कहा, 'कोहली अच्‍छे, लेकिन अभी महान बल्‍लेबाज नहीं हैं' भारतीय टीम सीरीज में इस समय 0-2 से पिछड़ रही है. वैसे, भारतीय टीम अगर 3-0 से हारती है तो भी अपनी नंबर एक टेस्ट रैंकिंग नहीं गंवाएगी. भारतीय टीम ने दो बदलाव किए. रोहित शर्मा की जगह अजिंक्‍य रहाणे और आर. अश्विन की जगह तेज गेंदबाज भुवनेश्‍वर कुमार को प्‍लेइंग इलेवन में स्‍थान दिया गया.दूसरी ओर, दक्षिण अफ्रीका की टीम ने केशव महाराज के स्‍थान पर एंडिले फेलुकवायो को टीम में स्‍थान दिया है. सीरीज के पहले दो टेस्‍ट में मिली हार के बाद विराट कोहली के लिए कुल मिलाकर हालात एकदम बदल गए हैं. छह महीने पहले उन्होंने टीम को श्रीलंका पर 3-0 से जीत दिलाकर इतिहास रचा था. अब वह 3-0 से सीरीज हारने की कगार पर खड़े हैं. अभी तक दक्षिण अफ्रीकी सरजमीं पर कोई भारतीय टीम 3-0 यह सीरीज नहीं हारी है.

भारत 1992 से अब तक छह बार दक्षिण अफ्रीका का दौरा कर चुका है और 1996-97 में सचिन तेंदुलकर की कप्तानी में 2-0 से हारा था. 2006 के बाद से पिछले तीन दौरों पर एक टेस्ट जीतने या ड्रॉ कराने में कामयाब रहा है. वैसे वांडरर्स पर भारत का रिकॉर्ड अच्छा रहा है. भारत ने इस मैदान पर चार टेस्ट ( नवंबर 1992 , जनवरी 1997, दिसंबर 2006 और दिसंबर 2013 ) खेले हैं और एक भी गंवाया नहीं है. भारत ने यहां 2006 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टेस्ट जीता था जिसमें श्रीसंत ने 99 रन देकर आठ विकेट लिए थे. 11 बरस बाद भारतीय टीम उसी हरी-भरी और उछाल भरी पिच पर खेलेगी.

वीडियो: गावस्‍कर ने इस अंदाज में की विराट कोहली की तारीफ

टिप्पणियां
दोनों टीमें इस प्रकार हैं...
भारत: विराट कोहली (कप्‍तान), मुरली विजय, केएल राहुल, चेतेश्‍वर पुजारा, अजिंक्‍य रहाणे, पार्थिव पटेल, हार्दिक पंड्या, भुवनेश्‍वर कुमार, मोहम्‍मद शमी, ईशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह.

दक्षिण अफ्रीका: फाफ डु प्‍लेसिस (कप्‍तान), डीन एल्‍गर, एडेन मार्कराम, हाशिम अमला, एबी डिविलियर्स, क्विंटन डिकॉक, वर्नोन फिलेंडर, कागिसो रबाडा, मोर्ने मोर्केल, लुंगी एंगिडी, और एंडिले फेलुकवायो.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement